OP Rajbhar: SBSP का 10 रुपये में सदस्य बनें, तीन साल तक सुरक्षा की गारंटी और वारंटी... ये कैसा दावा कर रहे राजभर? - Lok Shakti.in

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

OP Rajbhar: SBSP का 10 रुपये में सदस्य बनें, तीन साल तक सुरक्षा की गारंटी और वारंटी… ये कैसा दावा कर रहे राजभर?

OP Rajbhar: SBSP का 10 रुपये में सदस्य बनें, तीन साल तक सुरक्षा की गारंटी और वारंटी... ये कैसा दावा कर रहे राजभर?

बलिया: यूपी में भारतीय जनता पार्टी और योगी आदित्यनाथ सरकार बुलडोजर मॉडल और कड़ी कानून व्यवस्था का दावा करती है। लेकिन, सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के मुखिया ओम प्रकाश राजभर का एक बड़ा बयान सामने आया है। राजभर का एक वीडियो वायरल हो रहा है। इसमें वे कार्यकर्ताओं का आह्वान करते दिख रहे हैं। वे कार्यकर्ताओं से कहते हैं कि 10 रुपये की रसीद कटाएं और तीन साल तक सुरक्षा क गारंटी-वारंटी पाएं। राजभर कहते हैं कि 10 रुपये की रसीद कटाने पर वे सुख-दुख, थाना, ब्लॉक और जिला में किसी प्रकार की मुसीबत होने पर वे पहुंचेंगे। वहीं, 100 रुपये की रसीद कटाने वाले कार्यकर्ताओं को 50 रुपये का पेट्रोल भराने और 50 रुपये कार्यालय में जमा करने को भी कहते हैं। ओम प्रकाश राजभर के बयान पर राजनीतिक चर्चा शुरू हो गई है। दावा किया जा रहा है कि क्या वे योगी सरकार की कानून व्यवस्था पर सवाल उठा रहे हैं। हालांकि, राजनीतिक पंडित कह रहे हैं कि इस प्रकार के दावों के जरिए वे अपने कार्यकर्ताओं को साधकर सदस्यता अभियान को गति देने का प्रयास कर रहे हैं, ताकि फंड जुटाई जा सके।

मजेदार तरीके से कार्यकर्ताओं को जोड़ रहे राजभर
ओम प्रकाश राजभर का वीडियो खूब वायरल हो रहा है। यह वीडियो 2:49 मिनट का है। वे पार्टी के रसड़ा स्थित कार्यालय में कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे। अपने अलग ही अंदाज के लिए मशहूर ओपी राजभर इस दौरान पार्टी की सदस्यता की रसीद बेचते दिखाई देते हैं। उनके दिलचस्प अंदाज को देखते हुए कार्यकर्ताओं के चेहरे पर हंसी दिखती है। बीच में वे खुद भी हंसने लगते हैं।कार्यकर्ताओं को दिला रहे भरोसा
सुभासपा अध्यक्ष कार्यकर्ताओं को अपनी पार्टी का सदस्य बनने के फायदे गिनाते दिखते हैं। भरोसा दिलाते हैं कि आप हमारे कार्यकर्ता हैं। कोई मुसीबत होगी तो हम हाजिर रहेंगे। थाना हो, ब्लॉक हो, जिला हो, हर जगह राजभर आपके सुख-दुख में साथ खड़ा होगा। बिना पैसा के आपके दरवाजे तक आएंगे। पूरी मदद करेंगे। मदद डोरस्टेप तक पहुंचेगा। हम नहीं पहुंचे तो जिला अध्यक्ष जाएगा। या फिर कोई न कोई नेता वहां मौजूद रहेगा। लेकिन, इसके लिए गारंटी बस एक रसीद भर है। इसकी कीमत हम 10 रुपये लेते हैं।

100 रुपये की सदस्यता रसीद के बारे में चर्चा करते हुए कहते हैं कि 100 रुपये की रसीद लो। 50 रुपये का पेट्रोल डालो। 50 रुपये कार्यालय में जमा करो। कार्यालय में लगे टेलीफोन का बिल जमा करना होता है। इसी पैसे से हमलोग गाड़ी पर चलते हैं। यूपी के राजनीतिक मैदान में यह बयान राजभर के फंड जुटाने के जुगाड़ के रूप में देखा जा रहा है।