भीषण ठंड में हार्ट अटैक से 18 की मौत - Lok Shakti.in

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

भीषण ठंड में हार्ट अटैक से 18 की मौत

सांकेतिक तस्वीर

कानपुर में ठंड की वजह से हार्ट अटैक पड़ने से 18 लोगों की मौत हो गई। 10 तो अस्पताल ही नहीं पहुंच पाए, जबकि आठ ने कार्डियोलॉजी में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। वहीं हैलट में ब्रेन अटैक के छह मरीज भर्ती हुए हैं। इनमें दो की हालत नाजुक बताई जा रही है। ठंड बढ़ने के साथ ही हृदय, डायबिटीज, ब्लड प्रेशर आदि के मरीजों की समस्या बढ़ती जा रही है।

कार्डियोलॉजी में साल के पहले दिन से पांच जनवरी तक 219 मरीज भर्ती हुए। इनमें से 35 की मौत हो गई। शुक्रवार को इस अस्पताल की इमरजेंसी में 78 मरीज और ओपीडी में 547 मरीज आए। इमरजेंसी कंट्रोल रूम की ड्यूटी अफसर डॉ. रश्मि सिंह के अनुसार सुबह चार बजे से दोपहर दो बजे तक 46 मरीजों को भर्ती किया गया। इमरजेंसी में सुबह सर्वाधिक मरीज आए। 26 के ऑपरेशन हुए। इलाज के दौरान आठ की मौत हो गई। अस्पताल में शहर और आसपास के जिलों से तीमारदार 10 ऐसे मरीज लाए, जिन्होंने रास्ते में ही दम तोड़ दिया।

कार्डियोलॉजी में बना इमरजेंसी कंट्रोल रूम
कार्डियोलॉजी प्रसाशन ने तेजी से बढ़ते हृदय रोगियों की सहूलियत के लिए रोगी सहायता एवं इमरजेंसी कंट्रोल रूम बनाया है। कंट्रोल रूम का मोबाइल नंबर – 7380996666 है।

हार्ट, बीपी, डायबिटीज के मरीज दुरुस्त करा लें दवाएं
कार्डियोलॉजी के निदेशक डॉ. विनय कृष्ण ने सलाह दी है कि 60 साल से ज्यादा की उम्र के लोग ठंड में बाहर न निकलें। गर्म कपड़े, टोपी, मोजे पहनें रहें। घर में भी कमरे से सीधे खुले में न जाएं। ताजा व हल्का गर्म खाना खाएं। रात में 7 से 9 बजे के बीच भोजन कर लें। गुनगुना पानी पीयें। ठंडी चीजें न खाएं। हार्ट, एजाइना, बीपी, डायबिटीज के मरीज डॉक्टर से मिलकर दवाओं के डोज सेट करा लें।

ऐसे करें बचाव
– बाहर मफलर से कान बांधकर निकलें, दस्ताने पहनें।
– जूते-मोजे पहनकर निकलें।
– तला-भुना, गरिष्ठ भोजन न करें।
– शराब, धूम्रपान और दूसरे नशीले पदार्थों का सेवन न करें।
– रात को ब्लोअर चलाकर न सोएं, कमरा बंद करने के साथ ही ब्लोअर बंद कर लें।

जानलेवा हुई सर्दी
01 जनवरी: हार्ट अटैक से दो, ब्रेन अटैक से एक मौत
02 जनवरी: हार्ट अटैक से 11, ब्रेन अटैक से दो मौत
03 जनवरी: हार्ट अटैक से 10, ब्रेन अटैक से तीन मौत
04 जनवरी: हार्ट अटैक से 11, ब्रेन अटैक से चार मौत
05 जनवरी: हार्ट अटैक से 22, ब्रेन अटैक से तीन मौत

कानपुर में ठंड की वजह से हार्ट अटैक पड़ने से 18 लोगों की मौत हो गई। 10 तो अस्पताल ही नहीं पहुंच पाए, जबकि आठ ने कार्डियोलॉजी में इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। वहीं हैलट में ब्रेन अटैक के छह मरीज भर्ती हुए हैं। इनमें दो की हालत नाजुक बताई जा रही है। ठंड बढ़ने के साथ ही हृदय, डायबिटीज, ब्लड प्रेशर आदि के मरीजों की समस्या बढ़ती जा रही है।

कार्डियोलॉजी में साल के पहले दिन से पांच जनवरी तक 219 मरीज भर्ती हुए। इनमें से 35 की मौत हो गई। शुक्रवार को इस अस्पताल की इमरजेंसी में 78 मरीज और ओपीडी में 547 मरीज आए। इमरजेंसी कंट्रोल रूम की ड्यूटी अफसर डॉ. रश्मि सिंह के अनुसार सुबह चार बजे से दोपहर दो बजे तक 46 मरीजों को भर्ती किया गया। इमरजेंसी में सुबह सर्वाधिक मरीज आए। 26 के ऑपरेशन हुए। इलाज के दौरान आठ की मौत हो गई। अस्पताल में शहर और आसपास के जिलों से तीमारदार 10 ऐसे मरीज लाए, जिन्होंने रास्ते में ही दम तोड़ दिया।