CM Yogi Meet Sister : मुंबई से सीधे बहन के घर पहुंचे सीएम योगी, दो दिन पहले हुआ था बहनोई का निधन - Lok Shakti.in

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

CM Yogi Meet Sister : मुंबई से सीधे बहन के घर पहुंचे सीएम योगी, दो दिन पहले हुआ था बहनोई का निधन

CM Yogi Meet Sister : मुंबई से सीधे बहन के घर पहुंचे सीएम योगी, दो दिन पहले हुआ था बहनोई का निधन

गाजियाबाद: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को गाजियाबाद के राजनगर एक्सटेंशन स्थित एमजीआई घरौंदा अपनी बहन के घर पहुंचे। जैसे ही इसकी जानकारी प्रशासनिक अधिकारियों को मिली तो आनन-फानन में सुरक्षा की दृष्टि से प्रशासनिक अधिकारी मौके पर पहुंचे सुरक्षा के चाक-चौबंद इंतजाम किए गए। सीएम योगी के बेहनोई राजेंद्र सिंह चौधरी का बुधवार देर रात निधन हो गया था।

गुरुवार को उनका दिल्ली की के निगमबोध घाट पर अंतिम संस्कार किया गया। मुख्यमंत्री योगी मुंबई में होने के कारण अंतिम संस्कार में शामिल नहीं हो सके थे।इसलिए सीएम योगी शुक्रवार को गाज़ियाबाद कि राजनगर एक्सटेंशन स्थित घरौंदा एमआइजी सोसाइटी पहुंचे। राजेंद्र सिंह चौधरी का परिवार इसी सोसाइटी में रहता है।

बहन के घर पहुंचे सीएम योगी

बहन के घर सांत्वना देने पहुंचे सीएम योगी
मिली जानकारी के अनुसार, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की बहन का परिवार राजनगर एक्सटेंशन स्थित एमजीआई घरौंदा सोसाइटी में रहता है। अचानक ही योगी आदित्यनाथ के 67 वर्षीय बहनोई राजेंद्र सिंह चौधरी को ब्रेन स्ट्रोक आया जिसके बाद उन्हें 1 जनवरी की सुबह कौशांबी स्थित यशोदा अस्पताल में भर्ती किया गया था।हालत में नहीं हुआ सुधार…वेंटिलेटर पर थे
वहां पर न्यूरो फिजिशियन डॉ सुमंतो चटर्जी, फिजिशियन डॉक्टर अंशुमन त्यागी, कार्डियोलॉजिस्ट डॉ धीरेंद्र सिंघानिया की निगरानी में मुख्यमंत्री के बहनोई का उपचार हुआ। लेकिन उनकी हालत में कोई सुधार नहीं हुआ तो उन्हें वेंटिलेटर पर रखा गया लेकिन चिकित्सकों की तमाम कोशिशों के बावजूद भी बुधवार शाम करीब 5:30 बजे ब्रेन डेड हो गया। लेकिन चिकित्सकों की टीम की निगरानी में उन्हें घर भेज दिया गया घर पर भी वह वेंटिलेटर पर ही रहे। चिकित्सकों की तमाम कोशिश के बाद भी आखिरकार वह जिंदगी के हार गये।45 मिनट तक बहन के पास रहे
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ शुक्रवार को अपनी बहन के घर पहुंचे और करीब 45 मिनट तक अपनी बहन के पास रहे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस दौरान अन्य किसी प्रशासनिक अधिकारी और नेता से कोई मुलाकात नहीं की और ना ही वह मीडिया से रूबरू हुए क्योंकि वह बेहद दुखी दिखाई दे रहे थे।
इनपुट-तेजेश चौहान