Editorial:पथराव करने वालों को जेल - Lok Shakti.in

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

Editorial:पथराव करने वालों को जेल

sae

6-1-2023

पश्चिम बंगाल के मालदा और न्यू जलपाईगुड़ी में वंदे भारत एक्सप्रेस पर पथराव करने वालों की खैर नहीं है। रेलवे प्रोटेक्शन फोर्स RPF ने पथराव करने वालों की पहचान कर ली है। सूत्रों के मुताबिक आरपीएफ ने सीसीटीवी फुटेज के जरिए वंदेभारत एक्सप्रेस पर पथराव करने वालों के चित्र हासिल किए हैं। इनकी धरपकड़ कर जेल भेजने की तैयारी है। बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी ने 31 दिसंबर 2022 को पश्चिम बंगाल में हावड़ा से न्यू जलपाईगुड़ी तक वंदेभारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखाई थी। वंदेभारत की सेवा शुरू होने के दूसरे दिन मालदा में उपद्रवियों ने ट्रेन पर पथराव किया था। इसके एक दिन बाद ही न्यू जलपाईगुड़ी के पास पथराव किया गया था।

वंदेभारत एक्सप्रेस पर पथराव से एक दरवाजे पर लगा शीशा टूट गया था। घटना में किसी यात्री को चोट नहीं आई थी। सूत्रों के मुताबिक ट्रेन में जो सीसीटीवी कैमरे लगे हैं, उनसे ही पथराव करने वाले उपद्रवियों की फोटो आरपीएफ ने निकाली है। इनकी पहचान कराकर जेल भेजने की तैयारी है। पत्थरबाजी करने वालों पर सख्त धाराएं लगाई जाएंगी। ताकि इनको कड़ी सजा दिलाई जा सके। आरपीएफ और जीआरपी ने पहले ही इस मामले में दो अलग-अलग एफआईआर दर्ज कर रखी है। पहली बार ऐसा होगा कि ट्रेन पर पथराव करने वालों की पहचान कर जेल भेजा जाएगा। वंदेभारत एक्सप्रेस के रूट पर भी जीआरपी और आरपीएफ चौकसी बरत रहे हैं। ताकि ऐसी घटनाओं को फिर न होने दिया जाए।

वंदे भारत एक्सप्रेस पर पथराव करने वालों का सीसीटीवी से मिला फोटो

इस बीच, रेलवे ने विज्ञापन भी जारी किए हैं। इन विज्ञापनों में लोगों से अपील की गई है कि वे ट्रेनों पर पथराव न करें। रेलवे ने लोगों से कहा है कि वंदेभारत समेत सभी ट्रेनें राष्ट्रीय यानी जनता की ही संपत्ति हैं। ट्रेनों पर पथराव से लोगों के चोटिल होने की आशंका भी रेलवे ने अपने विज्ञापनों में जताई है। रेलवे ने विज्ञापनों में कहा है कि पथराव करने वालों का भी कोई रिश्तेदार या जान पहचान वाला ऐसी घटना में घायल हो सकता है।