नमो घाट से गंगा पार टेंट सिटी जाएंगे सैलानी, - Lok Shakti.in

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

नमो घाट से गंगा पार टेंट सिटी जाएंगे सैलानी,

गंगा पार रेती पर प्रस्तावित टेंट सिटी

गंगा के सुरम्य तट पर बस रही टेंट सिटी तक जाने के लिए नमो घाट पर प्रवेश द्वार बनाया जाएगा। सैलानियों को पहले नमो घाट आना होगा, फिर नाव से काशी की अद्भुत छटा निहारते हुए गंगा पार टेंट सिटी तक जाया जा सकेगा। इसके लिए मोटरबोट के इंतजाम भी किए गए हैं। गुजरात के कच्छ के रणोत्सव की तर्ज पर तंबुओं के शहर में काशी महोत्सव का आयोजन भी किया जाएगा। जनवरी से मई तक कई आयोजनों की शृंखला के जरिये पर्यटकों को जोड़ा जाएगा।
टेंट सिटी के पर्यटकों को काशी के धर्म, कला और संस्कृति से जोड़ने के लिए कई कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इसके लिए पूरी रूपरेखा तैयार कर ली गई है। सैलानियों के पैकेज को भी विस्तार दिया जा रहा है। पैकेज में पूरे बनारस के धर्म, कला और साहित्य को समाहित करने का प्रयास किया गया है। दो रात और तीन दिन या इससे ज्यादा दिन का पैकेज लेेने वाले पर्यटकों को सिटी टूर सहित अन्य सुविधाएं भी मुहैया कराई जाएंगी। टेंट सिटी बसाने वाली कंपनियां भी पर्यटकों की सुविधा का ख्याल रख रही हैं। कंपनियों की तरफ से मोटर बोट के इंतजाम किए जा रहे हैं। सैलानी टेंट सिटी में 15 जनवरी से ठहरेंगे। लिहाजा, पर्यटन का केंद्र भी बनाया जा रहा है। पर्यटकों के लिए वाटर स्पोर्ट्स की सुविधा रहेगी। यहां स्पीड बोट, बनाना बोट, ऑल टैरेन मोटरसाइकिल (एटीवी) सहित अन्य तरह की खेल की सुविधाएं भी होंगी। दरअसल, उद्घाटन से पहले तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है।
सारनाथ और हेरिटेज वॉक भी पैकेज में
टेंट सिटी के पैकेज में पर्यटकों को हेरिटेज वॉक, सारनाथ और पद्म गली के भ्रमण सहित यहां के एतिहासिक और धार्मिक स्थलों पर ले जाया जाएगा। जल मार्ग के साथ ही सड़क के रास्ते भ्रमण कराने की व्यवस्था रहेगी।

मैटिंग से सैंड फ्री होगा पूरा क्षेत्र
रेत पर बसे इस शहर की जमीन की दो स्तर की मैटिंग की गई है। इससे पूरा क्षेत्र सैंड फ्री (बालू मुक्त) हो गया। रेत पर निर्मित होने के बावजूद टेंट के अंदर बालू नहीं मिलेगी। मैटिंग करने के बाद ही टेंट लगाए गए हैं। टेंट सिटी में ऐसी सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी, जो पर्यटकों को कड़कड़ाती ठंड का एहसास नहीं होने देंगी।
नाव के जरिये नमो घाट से से टेंट सिटी तक पहुंचा जा सकेगा। जो पर्यटक आएंगे, उन्हें 30 मिनट तक गंगा विहार कराया जाएगा। वाटर स्पोर्ट्स के साथ ही विविध आयोजन से काशी महोत्सव को भव्य बनाया जाएगा।- अमित गुप्ता, टेंटी सिटी का संचालन करने वाली कंपनी के अधिकारी
टेंट सिटी की दोनों कंपनियों को 10 जनवरी तक काम पूरा करने का लक्ष्य दिया गया है। सभी विभागों का काम लगभग पूरा हो गया है। टेंट सिटी वाराणसी के पर्यटन को एक नया आयाम देगी। -कौशल राज शर्मा, मंडलायुक्त

गंगा के सुरम्य तट पर बस रही टेंट सिटी तक जाने के लिए नमो घाट पर प्रवेश द्वार बनाया जाएगा। सैलानियों को पहले नमो घाट आना होगा, फिर नाव से काशी की अद्भुत छटा निहारते हुए गंगा पार टेंट सिटी तक जाया जा सकेगा। इसके लिए मोटरबोट के इंतजाम भी किए गए हैं। गुजरात के कच्छ के रणोत्सव की तर्ज पर तंबुओं के शहर में काशी महोत्सव का आयोजन भी किया जाएगा। जनवरी से मई तक कई आयोजनों की शृंखला के जरिये पर्यटकों को जोड़ा जाएगा।

टेंट सिटी के पर्यटकों को काशी के धर्म, कला और संस्कृति से जोड़ने के लिए कई कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। इसके लिए पूरी रूपरेखा तैयार कर ली गई है। सैलानियों के पैकेज को भी विस्तार दिया जा रहा है। पैकेज में पूरे बनारस के धर्म, कला और साहित्य को समाहित करने का प्रयास किया गया है। दो रात और तीन दिन या इससे ज्यादा दिन का पैकेज लेेने वाले पर्यटकों को सिटी टूर सहित अन्य सुविधाएं भी मुहैया कराई जाएंगी। टेंट सिटी बसाने वाली कंपनियां भी पर्यटकों की सुविधा का ख्याल रख रही हैं। कंपनियों की तरफ से मोटर बोट के इंतजाम किए जा रहे हैं। सैलानी टेंट सिटी में 15 जनवरी से ठहरेंगे। लिहाजा, पर्यटन का केंद्र भी बनाया जा रहा है। पर्यटकों के लिए वाटर स्पोर्ट्स की सुविधा रहेगी। यहां स्पीड बोट, बनाना बोट, ऑल टैरेन मोटरसाइकिल (एटीवी) सहित अन्य तरह की खेल की सुविधाएं भी होंगी। दरअसल, उद्घाटन से पहले तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है।

टेंट सिटी के पैकेज में पर्यटकों को हेरिटेज वॉक, सारनाथ और पद्म गली के भ्रमण सहित यहां के एतिहासिक और धार्मिक स्थलों पर ले जाया जाएगा। जल मार्ग के साथ ही सड़क के रास्ते भ्रमण कराने की व्यवस्था रहेगी।