गंगा आरती के साथ हुआ नए वर्ष का स्वागत - Lok Shakti.in

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

गंगा आरती के साथ हुआ नए वर्ष का स्वागत

नए साल का नया संकल्प: अविरल गंगा-निर्मल जल, गंगा आरती के साथ हुआ नए वर्ष का स्वागत

नए साल… नई सुबह… नई उम्मीदों की पहली सुबह का स्वागत नमामि गंगे ने दशाश्वमेध घाट पर मां गंगा की महा आरती करके किया। सुख समृद्धि यश और पर्यावरण संरक्षण की कामना से भगवान सूर्य का अर्घ्यदान व मां गंगा का दुग्धाभिषेक किया गया। राष्ट्र ध्वज लेकर आरती के बाद सभी लोगों ने नये वर्ष पर एक-दूसरे को बधाई दी और देश में शांति, समृद्धि और कोरोना से मुक्ति की कामना की। तिरंगा लेकर सभी ने गंगा स्वच्छता का संकल्प लिया। नए वर्ष की पहली सुबह का अभिवादन मां गंगा की मनमोहक आरती से करने के पश्चात गंगा और घाटों पर स्वच्छता की अपील की गई। स्वच्छता स्लोगन लिखी तख्तियों एवं नारों के साथ नमामि गंगे के सदस्यों ने घाटों पर पदयात्रा की। दशाश्वमेध से दरभंगा घाट और राजेंद्र प्रसाद घाट से गंगा पार तक ‘नए वर्ष का है संकल्प अविरल गंगा निर्मल जल’ ‘गंगा साफ हो सब का हाथ हो’ जैसे गगनभेदी उद्घोष गूंज उठे।
नमामि गंगे काशी क्षेत्र के संयोजक राजेश शुक्ला ने कहा कि गंगा हमारे भारत की आन- बान और शान हैं। भारत की सिंचाई, पेयजल, धार्मिक, तीर्थाटन एवं आजीविका का स्रोत मां गंगा हैं। नए वर्ष में हम गंगा की अविरलता और निर्मलता का संकल्प लें । हमारा भारत मां गंगा के आशीर्वाद से समृद्धि की ओर अग्रसर हो यही कामना है । कहा कि प्रत्येक भारतीय को मां गंगा की निर्मलता अविरलता के लिए जन भागीदारी सुनिश्चित करनी होगी। आयोजन में प्रमुख रूप से काशी क्षेत्र के संयोजक राजेश शुक्ला, वाराणसी मंडल प्रभारी पुष्पलता वर्मा, प्रीति जायसवाल, एस के वर्मा, पूजा मौर्य, मधु सिंह, ईशान सिंह, दीपम सिंह, संदीप शर्मा एवं भारी संख्या में श्रद्धालु गण उपस्थित रहे ।

नए साल… नई सुबह… नई उम्मीदों की पहली सुबह का स्वागत नमामि गंगे ने दशाश्वमेध घाट पर मां गंगा की महा आरती करके किया। सुख समृद्धि यश और पर्यावरण संरक्षण की कामना से भगवान सूर्य का अर्घ्यदान व मां गंगा का दुग्धाभिषेक किया गया। राष्ट्र ध्वज लेकर आरती के बाद सभी लोगों ने नये वर्ष पर एक-दूसरे को बधाई दी और देश में शांति, समृद्धि और कोरोना से मुक्ति की कामना की। तिरंगा लेकर सभी ने गंगा स्वच्छता का संकल्प लिया। नए वर्ष की पहली सुबह का अभिवादन मां गंगा की मनमोहक आरती से करने के पश्चात गंगा और घाटों पर स्वच्छता की अपील की गई। स्वच्छता स्लोगन लिखी तख्तियों एवं नारों के साथ नमामि गंगे के सदस्यों ने घाटों पर पदयात्रा की। दशाश्वमेध से दरभंगा घाट और राजेंद्र प्रसाद घाट से गंगा पार तक ‘नए वर्ष का है संकल्प अविरल गंगा निर्मल जल’ ‘गंगा साफ हो सब का हाथ हो’ जैसे गगनभेदी उद्घोष गूंज उठे।

नमामि गंगे काशी क्षेत्र के संयोजक राजेश शुक्ला ने कहा कि गंगा हमारे भारत की आन- बान और शान हैं। भारत की सिंचाई, पेयजल, धार्मिक, तीर्थाटन एवं आजीविका का स्रोत मां गंगा हैं। नए वर्ष में हम गंगा की अविरलता और निर्मलता का संकल्प लें । हमारा भारत मां गंगा के आशीर्वाद से समृद्धि की ओर अग्रसर हो यही कामना है । कहा कि प्रत्येक भारतीय को मां गंगा की निर्मलता अविरलता के लिए जन भागीदारी सुनिश्चित करनी होगी। आयोजन में प्रमुख रूप से काशी क्षेत्र के संयोजक राजेश शुक्ला, वाराणसी मंडल प्रभारी पुष्पलता वर्मा, प्रीति जायसवाल, एस के वर्मा, पूजा मौर्य, मधु सिंह, ईशान सिंह, दीपम सिंह, संदीप शर्मा एवं भारी संख्या में श्रद्धालु गण उपस्थित रहे ।