आतंकवाद की कमर तोडऩे भारतीय सेना PoK में कार्रवाई आवश्यक  – Lok Shakti.in

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

आतंकवाद की कमर तोडऩे भारतीय सेना PoK में कार्रवाई आवश्यक 

भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू की एक गलती का दंश आज 75 साल के बाद भी देश भुगत रहा है। नेहरू के गलती पीओके के रूप में देश के सामने है, जिसकों आतंकियों का लांचिंग पैड बनाकर पाकिस्तान हमारे देश में उनकी घुसपैठ कराता है। दरअसल, पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर भारत का ही वह हिस्सा है,जो पाकिस्तान के साथ लगता है।

1947 में बंटवारे के बाद पाकिस्तान ने कबीलाई विद्रोहियों की मदद से जम्मू-कश्मीर के इस हिस्से पर कब्जा कर लिया था। तब भारतीय फ ौज इस हिस्से को वापस लेने के लिए दमदार तरीके से लड़ रही थी। भारतीय सेना के जांबाज अफ सर तभी पीओके को अपने कब्जे में ले लेते, मगर उसी समय भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू कश्मीर के मुद्दे पर संयुक्त राष्ट्र संघ (हृ) में चले गए। संयुक्त राष्ट्र ने दखल देकर दोनों देशों के बीच युद्ध विराम करवा दिया और ‘जो जहां था, वहीं काबिज हो गया।Óकश्मीर में अनुच्छेद 370 के खात्मे के बाद क्कश्य के लिए भी देश की उम्मीदें और जवां.

पहले प्रधानमंत्री की इसी गलती का नतीजा है कि उसी समय से दोनों देशों की फ ौजें इंटरनेशनल सरहद की जगह लाइन ऑफ कंट्रोल (रुशष्ट) के दोनों तरफ डटी हैं। रुशष्ट दोनों मुल्कों के बीच खींची गई 840 किलोमीटर लंबी सीमा रेखा है। केंद्र में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार आने के बाद से ये उम्मीद जगी है कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर, जो वास्तविक रूप से भारत का ही वह हिस्सा है, वह फिर से भारत में शामिल हो जाएगा। इसी हिस्से में प्राचीन शक्तिपीठों में से एक शारदा शक्तिपीठ भी है, जो पाकिस्तान सरकार की अनदेखी के चलते अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रही है। मोदी सरकार द्वारा जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के खात्मे के फैसले के बाद देश की उम्मीदें और जवां हो गई हैं। इसके बाद ही क्कश्य  को वापस लेने की मांग जोर-शोर से उठती रही है।प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी ने कहा- क्कश्य पर कार्रवाई के लिए सेना तैयार

भारतवासियों को आशा को सेना के एक बयान के और बल मिला है। उत्तरी कमांड के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी ने पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर पर बड़ा बयान दिया है। उन्होंने पुरजोर अंदाज में ऐलान किया है कि सेना पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर पर कार्रवाई करने करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। उन्होंने कहा कि क्कश्य के विषय पर संसद में प्रस्ताव पास हो चुका है। भारतीय सेना सरकार के हर आदेश के लिए पूरी तरह से तैयार है। उन्होंने कहा कि सरकार जब भी आदेश देगी सेना अपनी पूरी तैयारी के साथ आगे बढ़ेगी।

दरअसल, पीओको में कार्रवाई इसलिए भी जरूरी हो गई है, क्योंकि पाकिस्तानी आका और आईएसआई भारत में घुसपैठ के लिए इसे लॉंचपैड के रूप में इस्तेमाल कर रहे हैं। उत्तरी कमांड के प्रमुख लेफ्टिनेंट जनरल उपेंद्र द्विवेदी ने बताया कि भारत में घुसपैठ के लिए पाकिस्तानी लॉन्चपैड पर करीब 160 आतंकवादी बैठे हैं, जिनमें पीर पंजाल के उत्तर में 130 और पीर पंजाल के दक्षिण में 30 आतंकी मौजूद हैं। पूरे भीतरी इलाकों में कुल 82 पाकिस्तानी आतंकवादी और 53 स्थानीय आतंकवादी बैठे हैं। इसके अलावा पाकिस्तान लगातार ड्रग्स भेजने की कोशिश कर रहा है। हाल ही में ही हमने करोड़ों रुपए की ड्रग्स पकड़ी है।

यहां तक कि हम जो आतंकी बॉर्डर पर मार रहे हैं उनको भी यह लोग कहते हैं कि आप स्मगलर मार रहे हो। इसका मतलब साफ है कि पाकिस्तान ड्रग्स बेचने के प्रयास आए दिन कर रहा है। हम पाक के मंसूबे कामयाब नहीं होने देंगे।

%d bloggers like this: