सेवा ईश्वर का प्रसाद पाने का माध्यम – Lok Shakti.in

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

सेवा ईश्वर का प्रसाद पाने का माध्यम

राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल ने कहा है कि सेवा का काम ईश्वर का प्रसाद पाने का सबसे प्रभावी माध्यम है। उन्होंने सक्रिय नि:क्षय मित्रों का सार्वजानिक सम्मान करने की जरूरत बताई। टी.बी एसोसिएशन को राजभवन की ओर से एक लाख रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान करने के निर्देश दिए। राज्यपाल श्री पटेल आज राजभवन में टी.बी एसोसिएशन भोपाल की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने टी.बी सील अभियान में अंशदान भी दिया।

राज्यपाल श्री पटेल ने कहा है कि टी.बी के नियंत्रण के लिए रोग के कारण, रोकथाम के उपाय और सावधानियों के संबंध में व्यापक स्तर पर जन-जागरूकता का प्रसार जरूरी है। उन्होंने कहा कि स्कूलों में रोग के संबंध में जानकारी के पर्चे वितरित किए जाने चाहिए। रोगियों को नियमित उपचार के लिए प्रेरणा देने उपचारित व्यक्तियों के साथ संवाद के कार्यक्रम भी किए जाए। मादक पदार्थों का सेवन नहीं करने के लिए समझाइश और प्रेरणा देने के कार्य भी जरूरी हैं। राज्यपाल श्री पटेल ने स्वास्थ्य शिविर लगाने और दो-तीन दिन पूर्व से ही शिविर के समय और स्थान का प्रचार कराए जाने के निर्देश दिए।

राज्यपाल श्री पटेल ने अभियान के लिए क्षेत्रीय जन-प्रतिनिधियों से आर्थिक सहयोग प्राप्त करने की पहल के लिए कहा। उन्होंने विशिष्ट व्यक्तियों को शामिल कर जागरूकता कार्यक्रम करने, रोग नियंत्रण प्रयासों में उत्कृष्ट कार्य करने और सहयोग देने वालों के सम्मान कार्यक्रम की जरूरत बताई।

टी.बी एसोसिएशन भोपाल के चेयरमेन श्री जयपाल सचदेव ने समिति के सदस्यों के सहयोग से किए जा रहे कार्यों की जानकारी देते हुए स्वागत उद्धबोधन दिया। मानसेवी सचिव डॉ. मनोज वर्मा ने एसोसिएशन की गतिविधियों का विवरण देते हुए बताया कि स्कूलों में जागरूकता के लिए सघन स्तर पर स्कूल शिक्षा विभाग के साथ समन्वय से कार्यक्रम किया गया है। जागरूकता रैली, प्रदर्शनी, स्वास्थ्य परीक्षण, औषधि वितरण और वृक्षारोपण के कार्यक्रम किए गए हैं। सर्वधर्म समिति की बैठक भी की गई है।

राज्यपाल के प्रमुख सचिव श्री डी.पी आहूजा, जनजातीय प्रकोष्ठ के सचिव श्री बी.एस जामोद, एसोसिएशन के मानसेवी तकनीकी सलाहकार डॉ. पी.एम पहलाजानी, वरिष्ठ कार्यकारिणी सदस्य डॉ. अभिजीत देशमुख, महिला सदस्य श्रीमती इंदिरा भादुड़ी, श्रीमती निवेदिता और राजभौर कार्यकारिणी सदस्य श्री आर.बी.एस कुशवाह उपस्थित रहे।

%d bloggers like this: