Ground Report: ये लोकसभा उपचुनाव नहीं…नेताजी की यादों का चुनाव है, जानिए मैनपुरी की जनता क्या बोल रही – Lok Shakti.in

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

Ground Report: ये लोकसभा उपचुनाव नहीं…नेताजी की यादों का चुनाव है, जानिए मैनपुरी की जनता क्या बोल रही

Ground Report: ये लोकसभा उपचुनाव नहीं...नेताजी की यादों का चुनाव है, जानिए मैनपुरी की जनता क्या बोल रही

Mainpuri by-election: उत्तर प्रदेश में तीन सीटों पर उपचुनाव होना है। इनमें एक सीट पर लोकसभा उपचुनाव और दो सीटों पर विधानसभा उपचुनाव है। मुलायम सिंह यादव के निधन के बाद खाली हुई मैनपुरी सीट पर उपचुनाव है। 5 दिसंबर को वोटिंग होनी है।

 

हाइलाइट्सचाचा-भतीजे एकसाथ आने से मैनपुरी की जनता खुशकहा- मैनपुरी लोकसभा के उपचुनाव में डिंपल यादव भारी मतों से जीतेंगीपहले चाचा-भतीजे अलग थे तो कार्यकर्ताओं में भी असमंजस थामैनपुरी: उत्तर प्रदेश के मैनपुरी में होने वाले उपचुनाव में खुद को नेताजी का चेला बताने वाले रघुराज शाक्य सपा उम्मीदवार डिंपल यादव के खिलाफ खड़े हैं। इस चुनाव को लेकर क्षेत्र के रहने वाले अनिल कुमार ने बताया कि मैनपुरी लोकसभा के उपचुनाव में डिंपल यादव भारी मतों से जीतेंगी, क्योंकि जितना भी इटावा मैनपुरी का विकास समाजवादी पार्टी और नेता जी के द्वारा किया गया है, उतना किसी ने नहीं किया। आज मैनपुरी की जनता नेताजी के जाने के बाद श्रद्धांजलि के तौर पर डिंपल यादव को भारी मतों से विजय दिलाएगी।

जितेंद्र कुमार ने मैनपुरी उपचुनाव को लेकर बताया कि चाचा-भतीजे अब एक हो चुके। जहां पहले चाचा-भतीजे अलग थे तो कार्यकर्ताओं में भी असमंजस फैला हुआ था और वह खत्म हो चुका है। नेताजी के जाने के बाद हो रहे उपचुनाव में डिंपल यादव कम से कम दो लाख मतों से जीतेंगी। भाजपा प्रत्याशी रघुराज सिंह शाक्य शिवपाल सिंह के शिष्य होने की बात पर जितेंद्र ने बताया कि जो पार्टी से जा चुका है, वह शिष्य किस बात का, उन्हें चाचा के नाम का कोई भी फायदा नहीं मिलेगा।इस चुनाव को उपचुनाव के रूप में नहीं देख रही है जनतावहीं, नीतू यादव ने कहा कि मैनपुरी की जनता इस चुनाव को उपचुनाव के रूप में नहीं देख रही है, जनता इस चुनाव को नेताजी मुलायम सिंह यादव को श्रद्धांजलि के रूप में देख रही है और उन्हें किस तरीके से श्रद्धांजलि दी जाए। मैनपुरी की जनता डिंपल यादव को भारी मतों से विजय दिलाकर नेता मुलायम सिंह यादव को श्रद्धांजलि देगी। चाचा भतीजे एक होने पर नीतू यादव ने कहा कि पहले जब दोनों लोग अलग थे तो आपने देखा होगा कि मैनपुरी लोकसभा के अंतर्गत आने वाली भोगांव की सीट पर सपा यूपी चुनाव में 5000 वोटों से हार गई थी और उसकी वजह मुख्य थी कि चाचा-भतीजे की बीच की दरार होना। अब वो दरार खत्म हो चुकी है और इसका फायदा सिर्फ मैनपुरी लोकसभा में ही नहीं, बल्कि पूरे प्रदेश में आगे आने वाले चुनाव में देखने को मिलेगा।
इनपुट-मधुर शर्मा
अगला लेख’शस्त्र तैयार कर लो’, मैनपुरी उप चुनाव के लिए तैयार करा रहे थे हथियार… फंस गए ब्रजेश कठेरिया, दर्ज हुआ FIR

आसपास के शहरों की खबरें

Navbharat Times News App: देश-दुनिया की खबरें, आपके शहर का हाल, एजुकेशन और बिज़नेस अपडेट्स, फिल्म और खेल की दुनिया की हलचल, वायरल न्यूज़ और धर्म-कर्म… पाएँ हिंदी की ताज़ा खबरें डाउनलोड करें NBT ऐपलेटेस्ट न्यूज़ से अपडेट रहने के लिए NBT फेसबुकपेज लाइक करें

%d bloggers like this: