देश के लिए बलिदान होने वाले महान व्यक्तियों के बारे में रखें जानकारी – Lok Shakti.in

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

देश के लिए बलिदान होने वाले महान व्यक्तियों के बारे में रखें जानकारी

राज्यपाल श्री मंगुभाई पटेल ने नरसिहंपुर जिले के ग्राम गोरखपुर में शासकीय सीनियर जनजातीय बालक छात्रावास का अवलोकन किया और छात्रों से स्नेहपूर्वक संवाद किया। उन्होंने छात्रों को किताब और खेलकूद सामग्री वितरित की।

राज्यपाल ने शयन कक्ष, लायब्रेरी और रसोई कक्ष का अवलोकन किया। उन्होंने भोजन की गुणवत्ता के बारे में जानकारी ली। छात्रों से सामान्य ज्ञान और स्थानीय जन-प्रतिनिधियों से संबंधित प्रश्न पूछे। राज्यपाल श्री पटेल ने लायब्रेरी में रखी “भारत रत्न” पुस्तक कक्षा 9 वीं के छात्रों से पढ़वाई और छात्रों से कहा कि लायब्रेरी में दिन में कम से कम आधा घंटा जरूर पढ़ना चाहिये। इससे ज्ञान बढ़ता है। छात्रों को अपने देश पर सर्वस्व न्यौछावर करने वाले महान व्यक्तियों के बारे में जानकारी होनी चाहिये।

राज्यपाल श्री पटेल ने ग्राम गोरखपुर में 60 लाख रूपये लागत के शासकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के अतिरिक्त कक्ष के नवीन भवन का लोकार्पण किया।

राज्यपाल श्री पटेल ने स्कूली बच्चों से आत्मीय संवाद किया। उन्होंने कक्षा 11 वीं के छात्र अनिल गौड़ एवं अंकित राय से स्कूल में मिलने वाली सुविधाओं के बारे में जानकारी ली। उन्होंने बच्चों से कहा कि वे अपने माता-पिता का सदैव सम्मान करें और उनका ध्यान रखें।

राज्यपाल श्री पटेल ने नवीन स्कूल भवन में केमिस्ट्री एवं बायोलॉजी की प्रयोग शाला और अटल टिंकरिंग लैब का निरीक्षण किया और छात्र- छात्राओं से विभिन्न प्रयोगों के बारे में जानकारी ली।

राज्यपाल श्री पटेल ने स्कूल परिसर में आम का पौधा रोपा। विधायक श्री जालम सिंह पटैल, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती ज्योति काकोड़िया, अन्य जन-प्रतिनिधि ने भी पौध-रोपण किया।

राज्यपाल श्री पटेल नरसिंहपुर जिले के ग्राम गोरखपुर में सिकल सेल एनीमिया स्वास्थ्य शिविर में लोगों से रू-ब-रू हुए और मरीजों से उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली। उन्होंने बच्चों से स्नेहपूर्वक बात की और उनकी माताओं से जानकारी ली। राज्यपाल श्री पटेल ने मोहल्लों में स्वास्थ्य शिविर लगाने और आयुष्मान भारत योजना का लाभ पात्र व्यक्तियों को दिलाने के निर्देश दिये।

राज्यपाल श्री पटेल ने कहा है कि सिकल सेल रोग से पीड़ितों के बच्चों की भी जाँच कर उनका समुचित इलाज कराया जाए। उन्होंने बच्चों को अनिवार्य रूप से स्कूल भेजने के लिये ग्रामीणों को प्रेरित किया।

राज्यपाल श्री पटेल ने यश मेहरा को दिव्यांगता प्रमाण-पत्र और गंगोत्री बाई एवं रामप्यारी ठाकुर को टीबी चैम्पियन प्रमाण पत्र प्रदान किये। उन्होंने हितग्राही महिला को फूड बॉस्केट भी प्रदान किया। राज्यपाल श्री पटेल ने कहा कि प्रोटीनयुक्त पोषण आहार और दवाइयाँ नियमित रूप से जरूर लें। उन्होंने प्रधानमंत्री टीबी मुक्त भारत अभियान में पोस्टर पर हस्ताक्षर किये।

विधायक श्री जालम सिंह पटैल, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती ज्योति काकोड़िया और अन्य जन-प्रतिनिधि मौजूद रहे।

%d bloggers like this: