Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

रांची: शनिवार को वायलट कच्छप और अजीत कुमार झारखंड पार्टी में होंगे शामिल

रांची: शनिवार को वायलट कच्छप और अजीत कुमार झारखंड पार्टी में होंगे शामिल

Ranchi: झारखंड पार्टी का मेगा मिलन समारोह का आयोजन 24 सितंबर को किया गया है. इसमें राज्य के पूर्व महाधिक्ता अजीत कुमार और आजसू की महिला अध्यक्ष वायलट कच्छप अपने सैंकड़ों समर्थकों के साथ पार्टी में शामिल होंगे. यह जानकारी पार्टी केंद्रीय महासचिव अशोक कुमार भगत ने दी.

“स्थानीय नीति को शीघ्र कानूनी रूप प्रदान करे सरकार”

अशोक कुमार भगत ने बताया कि स्थानीय झारखंड पार्टी झारखंड आंदोलन की सबसे पुरानी और राज्य की सबसे बुनियादी संगठन है. अलग राज्य बनने के 22 वर्ष बाद भी झारखंड की अपनी स्थानीय नीति नहीं है. इस कारण झारखंड राज्य का सही एवं सम्पूर्ण विकास नही हुआ. विगत दिनों मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन द्वारा लाए गए स्थानीय नीति बिल का झारखंड पार्टी समर्थन करती है. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी सरकार से मांग करती है जितना जल्दी संभव हो इसको कानूनी जामा पहनाया जाय. स्थानीय नीति के लिए झारखण्ड पार्टी का स्पष्ट मानना है कि खतियान आधारित स्थानीय नीति होना चाहिए. सभी झारखंडी संगठनों को खतियान आधारित स्थानीय नीति का बड़ा दिल दिखाकर समर्थन करना चाहिए. कानून बनाकर झारखंडी जन भावना को सम्मान मिले.

इसे भी पढ़ें–29 सितंबर को होगी हेमंत सोरेन कैबिनेट की बैठक

लगातार को पढ़ने और बेहतर अनुभव के लिए डाउनलोड करें एंड्रॉयड ऐप। ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे

ग्राम सभा को मिले पूर्ण अधिकार- झापा

झारखंड पार्टी के केंद्रीय महासचिव अशोक कुमार भगत ने कहा कि ग्राम सभा और पंचायत व्यवस्था को पूरा अधिकार देने का झारखंड पार्टी मांग करती है. सीएनटी और एसपीटी एक्ट के सही ढंग से क्रियान्वित करने की जरूरत है. झारखंड पार्टी जल, जंगल और जमीन की सुरक्षा एवं संरक्षण का संकल्प लेती है. झारखंडी खतियान से शिक्षित नौजवान और बेरोजगार युवाओं को शीघ्र रोजगार देने की व्यवस्था होनी चाहिए. कॉन्ट्रैक्ट आधारित रोजगार व्यवस्था गलत है. झारखण्ड में जितने भी पद खाली पड़े हैं. शीघ्र ही खतियान आधारित कानून बनाकर झारखंडी आदिवासी-मूलवासी युवाओं को रोजगार दी जाय. उन्होंने कहा कि झारखंड के सम्पूर्ण विकास के लिए उद्योग नीति और विस्थापन नीति बनवाने का काम झारखंड पार्टी करेंगी.

इसे भी पढ़ें–चाईबासा : ग्रामीण बैंकों की एक दिवसीय हड़ताल से 20 करोड़ का कारोबार प्रभावित

कृषि आधारित उद्योग नीति बनायी जाए

उन्होंने कहा कि झारखंड पार्टी जल, जंगल, जमीन और भाषा संस्कृति की सुरक्षा के लिए वचनबद्ध है. किसान-मजदूरों के उत्थान के बिना झारखंड का विकास संभव नहीं है. इसलिए कृषि आधारित उद्योग नीति का समर्थन करते हैं. शिक्षा एवं स्वास्थ्य की अच्छी व्यवस्था झारखंड में नहीं बन पाई है.अच्छे विद्यालय की व्यवस्था और उसमें पूर्णकालिक शिक्षकों की नियुक्ति की मांग झारखंड पार्टी करती है. पारा शिक्षकों को स्थायी की जाय. दुर्भाग्य की बात है कि अभी सही ढंग से झारखंड आंदोलनकारियों को चिन्हित तक नहीं किया गया है. शीघ्र ही सरकार सभी आंदोलकारियों को चिन्हित करे. उनके मान सम्मान का समुचित व्यवस्था करना चाहिए. इस मौके पर महासचिव उमेश पांडेय एवं केंद्रीय प्रवक्ता आनंद पॉल तिर्की भी उपस्थित थे.

आप डेली हंट ऐप के जरिए भी हमारी खबरें पढ़ सकते हैं। इसके लिए डेलीहंट एप पर जाएं और lagatar.in को फॉलो करें। डेलीहंट ऐप पे हमें फॉलो करने के लिए क्लिक करें।

%d bloggers like this: