Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

सभी स्थानांतरित अधिकारी/कर्मचारी 24 घंटे के भीतर अपनी तैनाती स्थल पर पदभार ग्रहण कर ले, नहीं तो अगले ही दिन उन्हें निलंबित कर दिया जाएगा-प्रमुख सचिव, श्री अमृत अभिजात

प्रदेश के नगर विकास एवं ऊर्जा मंत्री श्री ए0के0 शर्मा ने कहा कि बरसात के दौरान शहरों व कस्बों में कहीं पर भी लोगों को वाटर लॉगिंग, जलभराव व गंदगी का सामना ना करना पड़े। इसके लिए नगरीय निकायों के सभी अधिकारी/कर्मचारी पूर्ण सतर्कता के साथ कार्य करें, जहां कहीं पर भी नाले व नालियों की सफाई पर कमी रह गई हो, उसे लगकर पूर्ण करा लें। अधिक से अधिक मशीनों का प्रयोग किया जाए। इन कार्यों में लगी एजेंसियों के कार्यों की भी नियमित निगरानी की जाए। उन्होंने कहा कि कहीं पर भी थोड़ी सी ढिलाई व चूक से बड़ी समस्या खड़ी हो सकती है। इसलिए स्वयं मौके पर जाएं और मुस्तैदी से कार्य कराएं।
नगर विकास मंत्री श्री ए0के0 शर्मा आज नगरीय निकाय निदेशालय में निकायों में किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की और अहम निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि लखनऊ एवं उन्नाव में गंदे पानी की आपूर्ति की शिकायतें आ रही हैं, जिससे गंभीर बीमारी फैलने की आशंका बनी हुई है। इसके लिए उन्होंने प्रबंध निदेशक, जल निगम, श्री अनिल कुमार को तत्काल मौके पर अधिकारियों की टीम भेजकर मुआयना कराने के निर्देश दिए और कहा कि किसी भी निकाय में गंदे पानी की आपूर्ति ना होने पाए। इसके लिए पाइप लाइन का नियमित निरीक्षण करें। लोगों को गंदगी का सामना ना करना पड़े। शहरों के सुंदरीकरण पर ध्यान दें। बरसात में भी नियमित साफ-सफाई कराएं। शहर के गंदे स्थानों की सफाई कराकर वहां पार्क, उद्यान विकसित किए जाएं और वृक्षारोपण कराया जाए। सड़कों के किनारे डिवाइडर पर सजावटी पौधे लगाए जाएं। उन्होंने कहा कि अमृत सरोवरो के निर्माण में भी तेजी लाई जाए। साथ ही जनसुनवाई पर विशेष ध्यान दें। छोटी-छोटी समस्याओं को लेकर शिकायतकर्ता को उच्चाधिकारियों, मंत्री या मुख्यमंत्री जी के यहां दौड़ न लगानी पड़े। उन्होंने कहा कि लोगों की शिकायतों को सुनने के लिए डीसीसीसी, 1533, सम्भव आदि की व्यवस्था की गई है, जिसके माध्यम से शिकायतों का शीघ्र समाधान किया जा रहा है। 05 अप्रैल, 2022 से अब तक डीसीसीसी के तहत नगरीय निकायों से 8914 शिकायतें प्राप्त हुई, जिसमें से 8445 शिकायतों का निस्तारण किया जा चुका है, शेष 469 शिकायतों के समाधान के लिए अधिकारियों को कार्रवाई के निर्देश दिए गए हैं।
श्री ए0के0 शर्मा ने एमडी जल निगम श्री अनिल कुमार को निर्देशित किया है कि जहां कहीं पर भी पानी की पाइप बिछाने के लिए खुदाई की गई है। कार्य पूरा होने पर उस स्थान को मूलरूप में लाया जाए, जिससे कि लोगों को बरसात में समस्या का सामना ना करना पड़े। कहीं पर भी वाटर सप्लाई और पाइप लीकेज की समस्या हो, उसका भी शीघ्र समाधान कराया जाए।
प्रमुख सचिव नगर विकास श्री अमृत अभिजात ने बैठक में निर्देशित किया कि निकायों में कराए जा रहे कार्य प्रभावित ना हो, इसके लिए सभी स्थानांतरित अधिकारी/कर्मचारी 24 घंटे के भीतर अपनी तैनाती स्थल पर पदभार ग्रहण कर ले, नहीं तो अगले ही दिन उन्हें निलंबित कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि शहरों की व्यवस्था को अतिक्रमण मुक्त कराया जाए। मौसमी बीमारियों, मच्छरों के पनपने को रोकने के लिए छिड़काव किया जाए। डीजल की खपत को कम करने के लिए लखनऊ में लागू कार्ड सिस्टम से एक तिहाई की खपत में कमी हुई है, जिसे अन्य निकायों पर भी लागू किया जाए। उन्होंने नए विस्तारित, नए बने निकायों में भी मूलभूत सुविधाएं बढ़ाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत 11 से 17 अगस्त, 2022 तक चलने वाले ‘हर घर तिरंगा’ कार्यक्रमों को प्रत्येक निकाय पूरी मुस्तैदी से कराएं।
बैठक में सचिव नगर विकास श्री अनिल कुमार, विशेष सचिव नगर विकास श्री धर्मेन्द्र प्रताप सिंह व श्री सुनील कुमार चौधरी, निदेशक नगरीय निकाय सुश्री नेहा शर्मा, निदेशक सूडा सुश्री यशु रूस्तगी, अपर निदेशक श्री असलम अंसारी, उप निदेशक डॉ0 सुनील कुमार यादव आदि उपस्थित थे एवं सभी नगर निकायों के नगर आयुक्त नगर पालिका परिषदों व नगर पंचायतों के अधिशासी अधिकारी वर्चुअली जुड़े थे।

%d bloggers like this: