Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

Brajesh Pathak: नकल माफिया सपा सरकार की देन, ब्रजेश पाठक का अखिलेश पर करारा तंज

Brajesh Pathak: नकल माफिया सपा सरकार की देन, ब्रजेश पाठक का अखिलेश पर करारा तंज

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में राजस्व लेखपाल मुख्य परीक्षा में नकल के आरोप में यूपी एसटीएफ की ओर से ताबड़तोड़ कार्रवाई हुई है। प्रदेश के विभिन्न इलाकों से ब्लूटूथ टेक्नोलॉजी के जरिए नकल कराने वालों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं, परीक्षा के दौरान एक बार फिर पेपर लीक का मुद्दा उठा। एसटीएफ ने पेपर लीक की घटना से इनकार किया है, लेकिन समाजवादी पार्टी अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट कर परीक्षा के पेपर लीक होने का आरोप लगाया। इस पर जवाब डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक की ओर से आया। उन्होंने सीधे सपा मुखिया अखिलेश यादव पर निशाना साधते हुए कहा कि अखिलेश यादव के शासन काल में हर पद की बोली लगती थी। नकल माफिया को सपा सरकार की देन करार दिया।

उत्तर प्रदेश में नियुक्ति परीक्षाओं से पेपर लीक का साया खत्म नहीं हो रहा है। नया मामला राजस्व लेखपाल मुख्य परीक्षा के कथित पेपर लीक का है। समाजवादी पार्टी और अध्यक्ष अखिलेश यादव दावा कर रहे हैं कि परीक्षा का पेपर लीक हुआ। वहीं, सरकार और एसटीएफ की ओर से खंडन सामने आया है। अब डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने इस मामले में बड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा है कि सपा सरकार के काल में हर पद की बोली लगती थी। एक-एक भर्ती में सालों लग जाते थे। इसके बाद भी परिणाम नहीं आ पाता था। उन्होंने अखिलेश के परिवार पर हमला करते हुए कहा कि पूरा कुनबा परीक्षा के पहले ही नौकरियों का सौदा कर लेता था। सपा सरकार का शगल युवाओं के भविष्य से खिलवाड़ बन गया था।

अखिलेश पर साधा निशाना
डिप्टी सीएम ने मीडिया से बात करते हुए अखिलेश यादव पर जोरदार निशाना साधा। ब्रजेश पाठक ने कहा कि सपा अध्यक्ष के मुंह से भर्ती, परीक्षा और रिजल्ट की बात अच्छी नहीं लगती है। युवाओं के सपनों को रौंदने वाले आज युवाओं की बात कर रहे हैं। अपने शासनकाल में उन्होंने कभी युवाओं के भविष्य के बारे में नहीं सोचा। डिप्टी सीएम ने कहा कि सपा सरकार में तो सरकारी नौकरी के लिए भर्तियां ही नहीं निकलती थी। युवाओं के दबाव में अगर कोई भर्ती निकल भी गई तो उसके लिए युवाओं को सालों इंतजार करना पड़ता था।

योगी सरकार की तारीफ
डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने कहा कि सीएम योगी आदित्यनाथ के कार्यकाल में भर्ती प्रक्रिया को पूरी निष्पक्षता से पूरा कराया जा रहा है। इसमें पारदर्शिता और शुचिता का पूरा ख्याल रखा जा रहा है। उन्होंने दावा किया कि एक भी भर्ती में किसी भी अभ्यर्थी की ओर से भ्रष्टाचार के आरोप नहीं लगाए गए हैं। इससे साबित हो जाता है कि प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार युवाओं के भविष्य को लेकर अति संवेदनशील है। उन्होंने कहा कि राजस्व लेखपाल मुख्य परीक्षा को लेकर सरकार की ओर से पहले ही तैयारी की गई थी। एसटीएफ सक्रिय थी। इसी का परिणाम है कि नकल कराने के आरोप में 21 आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

%d bloggers like this: