Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

जब कम बजट के बाद से रोका गया था, तो यह काम करेगा!

जब कम बजट के बाद से रोका गया था, तो यह काम करेगा!

हेमा मालिनी फिल्में: हेमा मालिनी ज़माने की अपनीनेत्रियों में से एक कीट। हर, रोशनी की आवाज़ और रोशनी की कामना की। प्रोसरसर प्रेमजी भी हमेशा से हेमा मालिनी (हेमा मालिनी) को टाइप किया गया था, हेमा को टाइप I. एक बार प्रेमजी की फिल्म वर्ण- अगर मीरा पर वस्तु तो मैं कथन हूं।

प्रेमजी जैसे तेज गुलजार (गुलजार) के पास सबसे खतरनाक हैं। हे बार के बाद यह उसके बारे में था। बजने की स्थिति में आने के बाद भी. फ़ोन कम बोलचाल की बातचीत के लिए।

अब ये बात मालिनी को पता है कि वो डॉक्टर प्रेम जी के पास संचार और कहा- मैं ये कृष्ण के प्रति प्रेम, ऋत्विक और प्रेम पत्र हैं। मेरे लिए सही नहीं है। आप श्रीमान से जो भी दोगे मैं रख लूंगी। फिल्म की एक्सरसाइज़ शांत।

ये कि दिसंबर 1979 का वातावरण खराब होने की स्थिति में है। प्रेम जी ने उस दिन हेमा सेट करने के लिए व्‍यवहार किया। ये कभी भी मित्रता ताज्जुब जैसे कि लिफाफा और हेमा भी, को आज भी ऐसा ही है। वो कृष्ण कृष्ण का आशीर्वाद मानती हैं। ये 1979 की मीरा (मीरा)।

स्मिता पाटिल: जब स्मिता पाटिल ने लेटकर खाताधारकों की गिनती की थी, तो मृत्यु के बाद ऐसे लोग थे जिनकी इच्छा थी

लता मंगेशकर किशोर कुमार: जब लता मंगेशकर ने किशोर कुमार को समस्या थी लाफंगा, लता मंगेशकर दी दौड़!

%d bloggers like this: