Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

Mathura: हाईस्कूल की परीक्षा में फेल होने पर छात्रा ने दी जान, परिजन बोले- रिजल्ट के बाद तनाव में थी

आगरा: चार दिन से लापता युवक का शव घर के स्टोर रूम में मिला, परिजनों को दुर्गंध आने पर चला पता

संवाद न्यूज एजेंसी, मथुरा
Published by: मुकेश कुमार
Updated Thu, 23 Jun 2022 08:54 PM IST

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

मथुरा जिले में हाईस्कूल की परीक्षा में फेल होने पर मानसिक तनाव में चल रही छात्रा ने कीटनाशक दवा खाकर जान दे दी। गुरुवार की सुबह उसका शव मगोर्रा क्षेत्र में पड़ा मिला। उसके मुंह से झाग निकल रहे थे। परिजनों ने बिना पोस्टमार्टम कराए उसका अंतिम संस्कार कर दिया। पुलिस का कहना है कि मामले में कोई तहरीर नहीं दी गई है। 
 
थाना मगोर्रा के तहत गांव बोरपा निवासी जमुना श्याम की 15 वर्षीय बेटी तनु सुबह चार बजे नौहरे के पास अचेत अवस्था में पड़ी मिली। वह कुछ ही देर पहले ही घर से निकली थी। बताया गया कि जब किशोरी की दादी नौहरे की ओर जा रही थी, तभी रास्ते में किशोरी पड़ी मिली। उसके मुंह से झाग निकल रहा था। 

परीक्षा परिणाम के बाद तनाव में थी 

सूचना मिलते ही परिवार के अन्य सदस्य मौके पर पहुंच गए। उसे इलाज के लिए केएम हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिवार के लोगों का कहना है कि किशोरी हाईस्कूल का परिणाम आने के बाद फेल होने पर मानसिक रूप से तनाव में थी। इसी के चलते उसने कीटनाशक दवा खा ली। एसपी देहात श्रीशचंद्र ने बताया कि इस मामले में कोई तहरीर नहीं दी गई है। 

विस्तार

मथुरा जिले में हाईस्कूल की परीक्षा में फेल होने पर मानसिक तनाव में चल रही छात्रा ने कीटनाशक दवा खाकर जान दे दी। गुरुवार की सुबह उसका शव मगोर्रा क्षेत्र में पड़ा मिला। उसके मुंह से झाग निकल रहे थे। परिजनों ने बिना पोस्टमार्टम कराए उसका अंतिम संस्कार कर दिया। पुलिस का कहना है कि मामले में कोई तहरीर नहीं दी गई है। 

 

थाना मगोर्रा के तहत गांव बोरपा निवासी जमुना श्याम की 15 वर्षीय बेटी तनु सुबह चार बजे नौहरे के पास अचेत अवस्था में पड़ी मिली। वह कुछ ही देर पहले ही घर से निकली थी। बताया गया कि जब किशोरी की दादी नौहरे की ओर जा रही थी, तभी रास्ते में किशोरी पड़ी मिली। उसके मुंह से झाग निकल रहा था। 

परीक्षा परिणाम के बाद तनाव में थी 

सूचना मिलते ही परिवार के अन्य सदस्य मौके पर पहुंच गए। उसे इलाज के लिए केएम हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिवार के लोगों का कहना है कि किशोरी हाईस्कूल का परिणाम आने के बाद फेल होने पर मानसिक रूप से तनाव में थी। इसी के चलते उसने कीटनाशक दवा खा ली। एसपी देहात श्रीशचंद्र ने बताया कि इस मामले में कोई तहरीर नहीं दी गई है। 

%d bloggers like this: