Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

रांची : एनटीपीसी की अनूठी पहल, कोयला खनन के लिए एलईडी लाइट्स के साथ अब सेफ्टी रिफ्लेक्टिव जैकेट

रांची : एनटीपीसी में अनूठी पहल, कोयला खनन के लिए एलईडी लाइट्स के साथ अब सेफ्टी रिफ्लेक्टिव जैकेट

Ranchi : एनटीपीसी ने कोयला खनन के लिए एलईडी लाइट्स के साथ सेफ्टी रिफ्लेक्टिव जैकेट की अनूठी पहल कर संस्थान की सुरक्षा प्रतिबद्धताओं को और पुख्ता कर दिया है. मालूम हो कि पार्थ मजूमदार, क्षेत्रीय कार्यकारी निदेशक (कोयला खनन) ने हाल ही में आयोजित एक कार्यक्रम में पकरी बरवाडीह, दुलंगा, तलियापल्ली और चट्टी बरियातू कोयला खदानों के वरिष्ठ अधिकारियों को ये जैकेट सौंपे हैं.इस अवसर पर श्री मजूमदार ने साझा किया कि एलईडी लाइटों के साथ सेफ्टी रिफ्लेक्टिव जैकेट सुरक्षा मानकों को बढ़ाएंगे और विभिन्न खदानों में अंधेरे में  भी कर्मचारियों की सुरक्षा सुनिश्चित करने में हमारी प्रतिबद्धताओं को बनाए रखेंगे.

इसे भी पढ़ें-25 जून को जेएमएम विधायकों और सांसदों की बैठक, राष्ट्रपति चुनाव पर हो सकती है चर्चा

एनटीपीसी  की ओर से की गयी इस पहल से रात के दौरान खानों और साइडिंग में तैनात कर्मियों की सुरक्षा और दुरुस्त हो गयी है. एलईडी रोशनी के साथ सेफ्टी रिफ्लेक्टिव जैकेट एमएसएमई विक्रेता के माध्यम से सुनिश्चित की गयी है.मालूम हो कि सुरक्षा एनटीपीसी के मूल का महत्वपूर्ण हिस्सा है. एनटीपीसी  के लिये  सहयोगियों, कर्मचारियों के स्वास्थ्य और सुरक्षा सर्वोच्च प्राथमिकता है. प्रबंधन एक सुरक्षित कार्य वातावरण प्रदान करने और अपने कर्मचारियों के बीच सुरक्षा जागरूकता पैदा करने का अत्यधिक महत्व देता है.

लगातार को पढ़ने और बेहतर अनुभव के लिए डाउनलोड करें एंड्रॉयड ऐप। ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे

इसे भी पढ़ें-बेरमो: CCL के बीएंडके एरिया में चला स्वच्छता अभियान

वर्तमान में एनटीपीसी की तीन खदानें चल रही हैं और एक अन्य खदान अपने बिजली स्टेशनों के लिए कोयले की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए उत्पादन बढ़ा रही है. परिचालन के आधार पर, साइडिंग क्षेत्र में रेलवे वैगनों के लोडिंग क्षेत्रों, खानों के अंदर लोडर और फावड़ियों, स्टॉक यार्ड आदि में नियमित रूप से अंधेरे के दौरान भी काम करते रहते हैं. एलईडी रोशनी के साथ इस सेफ्टी रिफ्लेक्टिव जैकेट का उपयोग अंधेरे के दौरान काम करने वाले कर्मियों के लिए और अधिक सुरक्षा सुनिश्चित करेगा.

 

 

आप डेली हंट ऐप के जरिए भी हमारी खबरें पढ़ सकते हैं। इसके लिए डेलीहंट एप पर जाएं और lagatar.in को फॉलो करें। डेलीहंट ऐप पे हमें फॉलो करने के लिए क्लिक करें।

%d bloggers like this: