Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

Gyanvapi Mosque Survey Live: ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे दोबारा शुरू, हिंदू और मुस्लिम पक्ष से शांति बनाए रखने की अपील

Gyanvapi Mosque Survey Live: ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे दोबारा शुरू, हिंदू और मुस्लिम पक्ष से शांति बनाए रखने की अपील

वाराणसी: ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे और विडियोग्राफी पर रोक लगाने से सुप्रीम कोर्ट के इनकार के बाद शनिवार की सुबह दोबारा सर्वेक्षण टीम पहुंची। सिविल जज (सीनियर डिविजन) अदालत के आदेश पर आज से दोबारा सर्वे शुरू कराया गया। पहले ही इसकी जानकारी कोर्ट कमिश्‍नर अजय कुमार मिश्र, स्‍पेशल कमिश्‍नर विशाल सिंह की ओर से संबंधित पक्षों के साथ ही डीएम और पुलिस कमिश्‍नर को पत्र भेजकर दी थी। जिला प्रशासन ने हिंदू और मुस्लिम पक्ष के लोगों के साथ बैठक कर सर्वे के दौरान शांति-व्‍यवस्‍था बनाए रखने की अपील की है। आज सुबह 8 बजे से सर्वे शुरू का कार्य शुरू कराया गया। अदालत की ओर से तय समय के अनुसार सर्वे चार घंटे यानी दोपहर 12 बजे तक चलेगा। सर्वे पूरा होने तक लगातार जारी रहेगा। सर्वे रिपोर्ट 17 मई को अदालत में पेश की जाएगी।

ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे के लिए वादी और प्रतिवादी पक्ष के वकील ज्ञानवापी मस्जिद परिसर में पहुंच चुके हैं। शनिवार को रेड जोन के भीतर सर्वे का कार्य पूरा कराया जाना है। इसके लिए सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। ज्ञानवापी मस्जिद के सर्वे को लेकर वादी और प्रतिवादी पक्ष के वकीलों के साथ-साथ कोर्ट कमीशन के लोग भी मौजूद हैं। रेड जोन के भीतर सर्वे के दौरान विरोध करने वालों को रोकने की पूरी तैयारी की गई है। सबसे पहले पश्चिमी दीवार से सर्वे का कार्य शुरू कराया जाएगा। विरोध करने वालों के जमावड़े को रोकने के लिए हर आने-जाने वालों पर पैनी नजर रखी जा रही है। मीडियाकर्मियों को भी ज्ञानवापी मस्जिद परिसर के आसपास जाने की इजाजत नहीं दी गई है। काशी विश्वनाथ मंदिर के गेट नंबर चार के दोनों तरफ मीडिया की टीम को रोक दिया गया है। सर्वे शुरू होने से पहले वादी राखी सिंह के वकील शिवम गौड़ ने कहा कि आज हमलोग अंडरग्राउंड सेल में प्रवेश करेंगे और वीडियोग्राफी का काम शुरू कराया जाएगा। हमलोग 8 बजे से इस कार्य को शुरू कराएंगे।

भीड़ नियंत्रित करने के लिए पुख्ता इंतजाम
भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पूरे इलाके में पुलिस की तैनाती की गई है। सुरक्षा के जबर्दस्त इंतजाम के बीच सर्वे का काम शुरू कराया गया है। गलियों में भी सुरक्षाकर्मियों को तैनात किया गया है। हर आने-जाने वाले पर पैनी नजर रखी जा रही है। इससे पहले डीएम कौशल राज शर्मा ने शुक्रवार को चेतगंज स्थित एसीपी कार्यालय में अधिकारियों और संबंधित पक्षों के साथ बैठक की। बैठक के बाद जिलाधिकारी ने बताया कि दोनों पक्षों से शांति-व्‍यवस्‍था बनाए रखने और प्रशासन का सहयोग करने की बात कही गई है। बैठक में मौजूद रहे अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी के संयुक्‍त सचिव एस.एम. यासीन ने कहा कि उन्‍होंने सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। इसके बावजूद प्रशासन के साथ मिलकर शहर में अमन-चैन कायम रखेंगे।

रोक की गुहार पर SC बोला- केस तो देखने दें
वाराणसी के ज्ञानवापी-श्रृंगार गौरी परिसर के सर्वे के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई है, लेकिन चीफ जस्टिस एन.वी. रमण की बेंच ने इस पर यथास्थिति बनाए रखने जैसा अंतरिम आदेश देने से इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि हमें इस मामले की जानकारी नहीं है। पहले हमें पेपर देखने दें। फाइलें पढ़ने दें। केस पर विचार करने दिया जाए।

ज्ञानवापी मस्जिद सर्वे: मुस्लिम पक्ष को सुप्रीम कोर्ट से नहीं मिली ‘तत्काल’ राहत, जानिए क्यों कर रहा है विरोध?
जुमे की नमाज में उमड़ी भीड़
श्रृंगार गौरी और अन्‍य देव विग्रहों की विडियोग्राफी और सर्वे से पहले जुमे की नमाज में आम दिनों से ज्‍यादा नमाजी ज्ञानवापी पहुंचे। नमाजियों की भीड़ को संभालने में पुलिस को कड़ी मशक्‍कत करनी पड़ी। निर्धारित संख्‍या तक प्रवेश के बाद जगह की कमी हो देखते हुए पुलिस ने बैरिकेडिंग कर नमाजियों का प्रवेश रोक दिया। अब तक इतनी भीड़ ईद के दिन नमाज के लिए आती रही है। शिया मस्जिद के प्रवक्‍ता हाजी फरमान हैदर ने कहा कि जुमे की नमाज के बाद लोगों ने मुल्‍क और शहर की सलामती के लिए दुआ की। किसी भी तरह से वाराणसी में माहौल खराब न होने पाए, इसके लिए अर्जी दी गई।

मथुरा ईदगाह के सर्वे की भी मांग
मथुरा में शाही मस्जिद ईदगाह के भी सर्वे और विडियोग्राफी की मांग करते हुए सिविल जज के कोर्ट में अर्जी दायर की गई है। कोर्ट ने इसे स्वीकार कर लिया है और इस पर 1 जुलाई को सुनवाई होगी। अर्जी में दावा है कि ईदगाह में प्राचीन शिलालेख दबा दिए गए हैं।

%d bloggers like this: