Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

केरल सेबड़ा नर्सिं गर्सिं हब बनेगा उत्तर प्रदेश, वि देशों मेंभी यपू ी की नर्सों का होगा बोलबाला

नर्सिं गर्सिं का शाब्दि क अर्थ चाहेजो हो, लेकि न इस शब्द को सनु कर मन मेंभाव सेवा और समर्पणर्प का ही आता है।
सपं र्णू र्णवि श्व इस बात सेइंकार नहीं कर सकता कि नर्सिं गर्सिं आज की स्वास्थ्य प्रणाली की रीढ़ की हड्डी साबि त हुई
है। अभी तक जहां डॉक्टर हमारी स्वास्थ्य प्रणाली मेंकेंद्र की भमिूमिका मेंरहेहैंवहींनर्सों नेकोरोना महामारी मेंकंधे
सेकंधा मि लाकर स्वास्थ्य सेवाओं मेंअतलु नीय योगदान दि या है। सर्वा धि क आबादी वालेउत्तर प्रदेश राज्य में
कोरोना काल मेंनर्सों और परैामडिैडिकल सट्ॉफ के वि शषे योगदान के लि ए मख्ु यमत्रं ी योगी आदि त्यनाथ नेकई बार
सार्वजर्व नि क मचं ों सेउनकी प्रशंसा करतेहुए उनके कार्यों के लि ए आभार वय् क्त कि या है। ऐसेमेंसीएम योगी
आदि त्यनाथ ने बधु वार को नर्सिं गर्सिं क्षेत्र में अपना करि यर बनानेछात्र छात्रों के लि ए बड़ी घोषणा की है। योगी
सरकार नर्सिं गर्सिं व परैामेडि कल के लोगों को बड़ी राहत देनेजा रही है।
उत्तर प्रदेश में पि छले तीन दशकों सेबदं पड़ेराज्य सरकार के प्रशि क्षण सस्ं थानों के पनु र्संचर्सं ालन की
कार्ययर्य ोजना जल्द ही तयै ार की जाएगी। मख्ु यमत्रं ी योगी आदि त्यनाथ नेआला अधि कारि यों को एएनएम और
जीएनएम के बेहतर प्रशि क्षण के लि ए अवस्थापना सविुविधाओं पर काम करनेके नि र्देश दि ए हैं। जि सके तहत प्रदेश
मेंशरूु आत में09 जीएनएम ट्रेनि गं स्कूल और 34 एएनएम प्रशि क्षण केंद्रों का सचं ालन करनेकी तयै ारी योगी
सरकार नेकर ली है। सीएम नेकहा कि हर सस्ं थान मेंमानकों का कड़ाई सेअनपु ालन कराया जाए। उन्होंनेकहा
कि चि कि त्सा सस्ं थानों मेंपर्या प्त कुशल फैकल्टी हो इस बात का परूा धय् ान रखें। उन्होंनेकहा कि मेडि कल कॉलेज
और जि ला अस्पताल मेंभी इनके प्रशि क्षण की व्यवस्था की जाए।
केरल सेबड़ा नर्सिं गर्सिं हब बनेगा उत्तर प्रदेश
सर्वा धि क आबादी वालेउत्तर प्रदेश मेंजीएनएम ट्रेनि गं स्कूल, एएनएम प्रशि क्षण केंद्रों के सचं ालन और प्रदेश के
सभी मेडि कल कॉलेज और जि ला अस्पताल मेंभी इनके प्रशि क्षण की व्यवस्था होनेके बाद प्रदेश सबसेबड़ा नर्सिं गर्सिं
हब बनेगा। इस समय केरल मेंसबसेजय् ादा नर्सें हैंजो वि देशों मेंअपनी सेवा देरहीं हैंऐसेमेंयपू ी मेंजब सभी
सविुविधाएं होंगी तो यपू ी इस सेक्टर में रोजगार देने में सक्षम तो होगा ही वहीं वि देशों मेंभी यपू ी के नर्सों का
बोलबाला देखनेको मि लेगा। डीजीएमई डॉ एनसी प्रजापति नेबताया कि चि कि त्सा सविुविधा बढ़ानेमेंनर्सों की
अवश्यकता होती है। कोई भी सस्ं थान सही ढंग सेक्रि याशील तब होगा जब वहां मानव ससं ाधन पर्या प्त मात्रा में
हों। पि छली सरकारों नेइस वि षय पर धय् ान नहींदि या पर योगी सरकार नेसाल 2017 सेजब सेसत्ता की कमान
सभं ाली तब सेअब तक यपू ी की सव् ास्थ्य सविुविधाओंमेंढेर सारेसकारात्मक बदलाव, सहूलि यतेंऔर सविुविधाओंमें
इजाफा हुआ है।
2017 सेपहलेमात्र तीन स्थानों पर था बीएससी नर्सिं गर्सिं का कोर्स
उन्होंनेबताया कि साल 2017 के पहलेबीएससी नर्सिं गर्सिं का कोर्स मात्र तीन जगहों केजीएमय,ूसफै ई और कानपरु
मेंथा। लेकि न योगी सरकार के कार्यकर्य ाल में11 कॉलेजों मेंबीएससी नर्सिं गर्सिं का कोर्स शरूु हो चकु ा है। जि समें

केजीएमय,ू पीजीआई, आरएमएल, सफै ई, कानपरु, झांसी गोखपरु, प्रयागराज, आगरा, कन्नौज और ग्रेटर नोएडा
मेंकोर्स चल रहा है।

%d bloggers like this: