Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

यूपी: कानपुर में सिपाही के पोस्ट से पुलिस विभाग में मचा हड़कंप, लिखा ‘यादवों’ को सभी चौकी थानों से हटाया गया

पूर्व कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव के साथ एसआई निशा यादव व कांस्टेबल अतुल यादव

विधानसभा चुनावों को लेकर पुलिस विभाग में भी गहमागहमी मची हुई है। शुक्रवार को चकेरी थाने के कृष्णा नगर चौकी में तैनात सिपाही अतुल यादव ने एसआई निशा यादव के उकसाने पर एक जातिगत भड़काऊ पोस्ट अपने फेसबुक अकाउंट पर वायरल कर दिया।

पोस्ट में सिपाही ने सीधे पुलिस कमिश्नरी पर विशेष जाति के पुलिस कर्मियों संग भेदभाव करने का आरोप लगाया। मामले को संज्ञान में लेते हुए एडिशनल पुलिस कमिश्नर आनंद प्रकाश तिवारी ने दोनों को इन हाजिर कर दिया। सिपाही अतुल यादव ने पोस्ट में लिखा ‘कानपुर कमिश्नरेट में ‘यादवों’ को सभी थानों/चौकियों के चार्ज से हटा दिया गया है।

आखिर यादवों के प्रति इतनी नफरत क्यों?’ पोस्ट के वायरल होते ही करीब सात घंटे में 40 लोगों ने शेयर किया और 75 से अधिक  लोगों ने कमेंट व 415 लोगों ने लाइक किया। पोस्ट वायरल होते ही मामला एडिशनल पुलिस कमिश्नर तक पहुंचा।

उन्होंने मामले की जांच कराई तो पता चला कि पूर्व में कृष्णा नगर चौकी में तैनात रहीं एसआई निशा यादव के उकसाने पर सिपाही अतुल यादव ने पोस्ट करते हुए पुलिस कमिश्नरी पर आरोप लगाया था। एसआई निशा यादव को एक सप्ताह पहले ही चौकी से हटाया गया था।

उनके चौकी से हटने के बाद सिपाही ने यह पोस्ट किया। अधिकारियों ने जब सिपाही के फेसबुक अकाउंट की जांच की तो उसमें कई पोस्ट ऐसी मिलीं, जिसमें सिपाही व एसआई पूर्व कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव के साथ नजर आ रहे हैं। एसआई व सिपाही की यह तस्वीर भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई।

विधानसभा चुनावों को लेकर पुलिस विभाग में भी गहमागहमी मची हुई है। शुक्रवार को चकेरी थाने के कृष्णा नगर चौकी में तैनात सिपाही अतुल यादव ने एसआई निशा यादव के उकसाने पर एक जातिगत भड़काऊ पोस्ट अपने फेसबुक अकाउंट पर वायरल कर दिया।

पोस्ट में सिपाही ने सीधे पुलिस कमिश्नरी पर विशेष जाति के पुलिस कर्मियों संग भेदभाव करने का आरोप लगाया। मामले को संज्ञान में लेते हुए एडिशनल पुलिस कमिश्नर आनंद प्रकाश तिवारी ने दोनों को इन हाजिर कर दिया। सिपाही अतुल यादव ने पोस्ट में लिखा ‘कानपुर कमिश्नरेट में ‘यादवों’ को सभी थानों/चौकियों के चार्ज से हटा दिया गया है।

आखिर यादवों के प्रति इतनी नफरत क्यों?’ पोस्ट के वायरल होते ही करीब सात घंटे में 40 लोगों ने शेयर किया और 75 से अधिक  लोगों ने कमेंट व 415 लोगों ने लाइक किया। पोस्ट वायरल होते ही मामला एडिशनल पुलिस कमिश्नर तक पहुंचा।

उन्होंने मामले की जांच कराई तो पता चला कि पूर्व में कृष्णा नगर चौकी में तैनात रहीं एसआई निशा यादव के उकसाने पर सिपाही अतुल यादव ने पोस्ट करते हुए पुलिस कमिश्नरी पर आरोप लगाया था। एसआई निशा यादव को एक सप्ताह पहले ही चौकी से हटाया गया था।
उनके चौकी से हटने के बाद सिपाही ने यह पोस्ट किया। अधिकारियों ने जब सिपाही के फेसबुक अकाउंट की जांच की तो उसमें कई पोस्ट ऐसी मिलीं, जिसमें सिपाही व एसआई पूर्व कैबिनेट मंत्री शिवपाल सिंह यादव के साथ नजर आ रहे हैं। एसआई व सिपाही की यह तस्वीर भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुई।

%d bloggers like this: