Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

यूपी चुनाव 2022: आगरा में कांग्रेस ने अनुभव के साथ युवा चेहरों को दिया मौका, इन नेताओं को मिला टिकट

कांग्रेस ने घोषित किए प्रत्याशी

कांग्रेस ने आगरा जिले की नौ में से सात विधानसभा सीटों पर प्रत्याशियों की घोषणा कर दी। इनमें तीन अनुभवी और तीन युवा चेहरों को मौका दिया गया है। छावनी (सुरक्षित) और फतेहपुरसीकरी विधानसभा सीटों पर प्रत्याशी घोषित नहीं किए। इनमें से छावनी सीट पर वाल्मीकि उम्मीदवार उतारे जाने की चर्चा है, जबकि सीकरी सीट पर दो जाट प्रत्याशियों के बीच कशमकश चल रही है। बृहस्पतिवार को जारी की गई सूची में आगरा की उत्तर विधानसभा क्षेत्र से विनोद बंसल, आगरा दक्षिण से पूर्व पार्षद अनुज शर्मा, आगरा ग्रामीण से तीसरी बार उपेंद्र सिंह, खेरागढ़ से रामनाथ सिकरवार, फतेहाबाद से होतम सिंह निषाद, बाह से पूर्व जिलाध्यक्ष मनोज दीक्षित और एत्मादपुर से बिल्कुल नए चेहरे प्रधान शिवानी सिंह बघेल को प्रत्याशी घोषित किया है।

विनोद बंसल कांग्रेस के व्यापार प्रकोष्ठ के पश्चिमी उत्तर प्रदेश के चेयरमैन हैं। वह प्रदेश सचिव भी रह चुके हैं। अनुभवी बंसल 2018 में हुए निकाय चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर महापौर के चुनाव में भी किस्मत आजमा चुके हैं। वैश्य बहुल इस सीट पर विनोद बंसल को टिकट देकर कांग्रेस ने भाजपा के परंपरागत वैश्य वोट बैंक में सेंध लगाने का प्रयास किया है।

आगरा दक्षिण सीट से कांग्रेस ने युवा चेहरे अनुज शर्मा पर दांव लगाया है। वह धाकरान, नाई की मंडी से पार्षद रह चुके हैं। एआईसीसी सदस्य हैं। अनुज अपने परिवार में तीसरी पीढ़ी के कांग्रेस नेता हैं। दक्षिण विधानसभा क्षेत्र में ब्राह्मण वोटरों की अच्छी तादाद है। मुस्लिम और दलित मतदाता भी हैं। ब्राह्मणों को रिझाने के लिए युवा चेहरे को मौका दिया गया है। इस सीट पर पिछले दो चुनावों से भाजपा के ब्राह्मण विधायक योगेंद्र उपाध्याय काबिज हैं।

आगरा ग्रामीण (सुरक्षित) सीट पर पार्टी ने अपने प्रदेश उपाध्यक्ष उपेंद्र सिंह पर एक बार फिर दांव खेला है। व्यवसायी उपेंद्र सिंह तीसरी बार इस सीट से किस्मत आजमा रहे हैं। वह 2012 और 2017 में भी आगरा ग्रामीण से चुनाव लड़ चुके हैं। 2014 में उन्होंने लोकसभा का चुनाव भी लड़ा था। उपेंद्र सिंह को टिकट देने के पीछे भी यहां काफी संख्या में दलित वोट हैं। इसके अलावा जाट समुदाय में भी उपेंद्र सिंह की अच्छी पैठ है। दूसरे स्थान पर यहां जाट वोट हैं।

बाह से कांग्रेस ने पूर्व जिलाध्यक्ष मनोज दीक्षित को टिकट दिया है। मनोज दीक्षित पहली बार बाह से चुनावी मैदान में उतरेंगी। वह भाजपा में कई पदों पर रहने के बाद कांग्रेस में शामिल हुई थीं। बाह में सबसे ज्यादा ब्राह्मण मतदाता हैं।

एत्मादपुर विधानसभा सीट पर कांग्रेस ने प्रधान शिवानी सिंह बघेल को टिकट दिया है। वह पार्टी की युवा नेता हैं। उनके ससुर और पति भी कांग्रेस के कार्यकर्ता हैं। शहर की दो सीटों में से एक पर महिला प्रत्याशी और उतारी जा सकती है।

%d bloggers like this: