Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

एसएन मेडिकल कॉलेज में चोरी: चोरों ने माइक्रोबायोलॉजी व पैथोलॉजी विभाग के ताले तोड़कर की वारदात

एसएन मेडिकल कॉलेज

आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज के सात मंजिला भवन के दूसरे तल स्थित माइक्रोबायोलॉजी और पैथोलॉजी विभाग में चोरी हो गई। चोर दोनों विभागों का ताला तोड़कर सीसीटीवी कैमरा, हार्ड डिस्क, डीवीआर और एलईडी ले गए। बृहस्पतिवार को विभागाध्यक्ष सहित अन्य कमरों के ताले टूटे हुए मिले। फॉरेंसिक टीम ने विभागों में फिंगर प्रिंट लिया है। 

मेडिकल कॉलेज में बुधवार को छुट्टी थी, विभाग बंद थे। बृहस्पतिवार की सुबह भवन में पहुंचे तो मुख्य गेट पर ताला लगा हुआ था। ताला खोलकर कर्मचारी संबंधित विभाग में पहुंचे तो स्थित देख उनके होश उड़ गए। माइक्रोबायोलॉजी विभागाध्यक्ष सहित तीन कमरों के ताले टूटे हुए थे। इसमें पैथोलाजी विभाग भी शामिल है। हालांकि पैथोलॉजी विभाग से कोई सामान चोरी नहीं हुआ है। माइक्रोबायोलॉजी विभाग में सीसीटीवी कैमरे लगने थे। उसके लिए ही एलईडी, डीवीआर आदि अलमारी में रखे हुए थे।

ये सामान हुआ चोरी
सीसीटीवी कैमरा, डीवीआर और 32 इंच की एलईडी के साथ दो कंप्यूटरों की हार्ड डिस्क भी चोर ले गए। इसमें से एक कंप्यूटर में एचआइवी पॉजिटिव का डाटा भी था। जबकि दूसरे कंप्यूटर में विभाग का रिकार्ड था। कमरे में सामान बिखरा पड़ा था। चोरी की सूचना पर फॉरेंसिक विभाग की फील्ड यूनिट पहुंची और फिंगर प्रिंट लिए। माइक्रोबायोलॉजी और पैथोलाजी विभाग के गेट पर फिंगर प्रिंट मिले हैं। जबकि भूतल, प्रथम तल व अन्य स्थानों पर फिंगर प्रिंट नहीं मिले हैं।

कर्मचारियों पर शक, पहले भी टूटे हैं ताले
माइक्रोबायोलॉजी विभाग में पहले भी दो बार ताले टूटे हैं। पांच सितंबर और 12 नवंबर को ताले टूटे हुए मिले थे। उस समय कोई सामान चोरी नहीं हुआ था। पहले भी छुट्टी के अगले दिन ताले तोड़े गए थे। सूत्रों के अनुसार विभागीय कर्मचारियों पर शक हैं, इन्हें चिह्नित किया जा रहा है।

मामले की जांच कराई जा रही है
एसएन मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ. प्रशांत गुप्ता ने बताया कि माइक्रोबायोलॉजी व पैथोलॉजी विभाग में हुई चोरी की जांच कराई जा रही है। पांच सितंबर को ताला टूटा मिलने पर थाना एमएम गेट में मुकदमा दर्ज कराया गया था।

आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज के सात मंजिला भवन के दूसरे तल स्थित माइक्रोबायोलॉजी और पैथोलॉजी विभाग में चोरी हो गई। चोर दोनों विभागों का ताला तोड़कर सीसीटीवी कैमरा, हार्ड डिस्क, डीवीआर और एलईडी ले गए। बृहस्पतिवार को विभागाध्यक्ष सहित अन्य कमरों के ताले टूटे हुए मिले। फॉरेंसिक टीम ने विभागों में फिंगर प्रिंट लिया है।

मेडिकल कॉलेज में बुधवार को छुट्टी थी, विभाग बंद थे। बृहस्पतिवार की सुबह भवन में पहुंचे तो मुख्य गेट पर ताला लगा हुआ था। ताला खोलकर कर्मचारी संबंधित विभाग में पहुंचे तो स्थित देख उनके होश उड़ गए। माइक्रोबायोलॉजी विभागाध्यक्ष सहित तीन कमरों के ताले टूटे हुए थे। इसमें पैथोलाजी विभाग भी शामिल है। हालांकि पैथोलॉजी विभाग से कोई सामान चोरी नहीं हुआ है। माइक्रोबायोलॉजी विभाग में सीसीटीवी कैमरे लगने थे। उसके लिए ही एलईडी, डीवीआर आदि अलमारी में रखे हुए थे।

सीसीटीवी कैमरा, डीवीआर और 32 इंच की एलईडी के साथ दो कंप्यूटरों की हार्ड डिस्क भी चोर ले गए। इसमें से एक कंप्यूटर में एचआइवी पॉजिटिव का डाटा भी था। जबकि दूसरे कंप्यूटर में विभाग का रिकार्ड था। कमरे में सामान बिखरा पड़ा था। चोरी की सूचना पर फॉरेंसिक विभाग की फील्ड यूनिट पहुंची और फिंगर प्रिंट लिए। माइक्रोबायोलॉजी और पैथोलाजी विभाग के गेट पर फिंगर प्रिंट मिले हैं। जबकि भूतल, प्रथम तल व अन्य स्थानों पर फिंगर प्रिंट नहीं मिले हैं।

%d bloggers like this: