Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

खीरीः पुलिस ने आशीष को तीन दिन की रिमांड पर लेकर शुरू की पूछताछ

केंद्रीय गृह मंत्री के बेटे को रिमांड पर लेकर जाती पुलिस।

केंद्रीय गृह मंत्री के बेटे को रिमांड पर लेकर जाती पुलिस।

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

पहले दिन क्राइम ब्रांच के दफ्तर में ही दिन बीता
लखीमपुर खीरी। तिकुनिया कांड के मुख्य आरोपी आशीष मिश्र उर्फ मोनू को पुलिस ने मंगलवार को 72 घंटों के लिए रिमांड पर लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। पुलिस की एक टीम सुबह 10 बजे जिला कारागार पहुंची, जहां औपचारिकताएं पूरी कर आशीष को अपनी कस्टडी में लेकर 10.15 पुलिस लाइंस के लिए रवाना हुई। आशीष को क्राइम ब्रांच के दफ्तर में ही रखकर पूरा दिन पूछताछ की गई।
केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के पुत्र आशीष मिश्र मोनू को पुलिस द्वारा रिमांड पर लिए जाने की प्रक्रिया के कारण मंगलवार की सुबह से ही पुलिस लाइन के गेट और जेल गेट पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। दोनों गेट आमने-सामने होने के कारण बड़ी संख्या में सुरक्षा बल तैनात किया गया था। जेल गेट पर सदर विधायक योगेश वर्मा और वकील अवधेश सिंह भी पहुंचे। करीब 10 बजे पुलिस की टीम गाड़ी से जिला कारागार पहुंची, जिसके बाद पुलिस आशीष को लेकर सीधे पुलिस लाइन पहुंची। इस दौरान मीडियाकर्मी भी मौजूद रहे, लेकिन कोई बातचीत नहीं कर पाया।
पुलिस लाइन पहुंचते ही आशीष को क्राइम ब्रांच के दफ्तर में ले जाया गया, जहां डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल के नेतृत्व में मौजूद पर्यवेक्षण समिति के सदस्यों ने सवालों का सिलसिला फिर से शुरू किया। इस दौरान पुलिस ने क्राइम ब्रांच की ओर जाने वाले रास्ते को रस्सा लगाकर ब्लॉक कर दिया और मीडिया कर्मियों को भी उधर जाने से रोक दिया।
सूत्रों के मुताबिक, रिमांड का पहला दिन क्राइम ब्रांच के दफ्तर में ही बीता और साक्ष्य जुटाने के लिए उसे लेकर पुलिस बाहर नहीं निकली। तिकुनिया स्थित घटनास्थल पर अंतिम अरदास कार्यक्रम होने के चलते साक्ष्य संकलन के लिए पुलिस टीम वहां नहीं गई। ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि बुधवार को पुलिस टीम आशीष को लेकर घटनास्थल की ओर जा सकती है। हालांकि आशीष की सुरक्षा को लेकर मिले खुफिया इनपुट के बाद पुलिस भी ज्यादा कुछ जानकारी देने से कतरा रही है। डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल ने बताया कि 72 घंटे के लिए मुख्य आरोपी को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है। पहले दिन मंगलवार को सिर्फ क्राइम ब्रांच के दफ्तर में ही पूछताछ की गई है।

पहले दिन क्राइम ब्रांच के दफ्तर में ही दिन बीता

लखीमपुर खीरी। तिकुनिया कांड के मुख्य आरोपी आशीष मिश्र उर्फ मोनू को पुलिस ने मंगलवार को 72 घंटों के लिए रिमांड पर लेकर पूछताछ शुरू कर दी है। पुलिस की एक टीम सुबह 10 बजे जिला कारागार पहुंची, जहां औपचारिकताएं पूरी कर आशीष को अपनी कस्टडी में लेकर 10.15 पुलिस लाइंस के लिए रवाना हुई। आशीष को क्राइम ब्रांच के दफ्तर में ही रखकर पूरा दिन पूछताछ की गई।

केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी के पुत्र आशीष मिश्र मोनू को पुलिस द्वारा रिमांड पर लिए जाने की प्रक्रिया के कारण मंगलवार की सुबह से ही पुलिस लाइन के गेट और जेल गेट पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। दोनों गेट आमने-सामने होने के कारण बड़ी संख्या में सुरक्षा बल तैनात किया गया था। जेल गेट पर सदर विधायक योगेश वर्मा और वकील अवधेश सिंह भी पहुंचे। करीब 10 बजे पुलिस की टीम गाड़ी से जिला कारागार पहुंची, जिसके बाद पुलिस आशीष को लेकर सीधे पुलिस लाइन पहुंची। इस दौरान मीडियाकर्मी भी मौजूद रहे, लेकिन कोई बातचीत नहीं कर पाया।

पुलिस लाइन पहुंचते ही आशीष को क्राइम ब्रांच के दफ्तर में ले जाया गया, जहां डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल के नेतृत्व में मौजूद पर्यवेक्षण समिति के सदस्यों ने सवालों का सिलसिला फिर से शुरू किया। इस दौरान पुलिस ने क्राइम ब्रांच की ओर जाने वाले रास्ते को रस्सा लगाकर ब्लॉक कर दिया और मीडिया कर्मियों को भी उधर जाने से रोक दिया।

सूत्रों के मुताबिक, रिमांड का पहला दिन क्राइम ब्रांच के दफ्तर में ही बीता और साक्ष्य जुटाने के लिए उसे लेकर पुलिस बाहर नहीं निकली। तिकुनिया स्थित घटनास्थल पर अंतिम अरदास कार्यक्रम होने के चलते साक्ष्य संकलन के लिए पुलिस टीम वहां नहीं गई। ऐसे में संभावना जताई जा रही है कि बुधवार को पुलिस टीम आशीष को लेकर घटनास्थल की ओर जा सकती है। हालांकि आशीष की सुरक्षा को लेकर मिले खुफिया इनपुट के बाद पुलिस भी ज्यादा कुछ जानकारी देने से कतरा रही है। डीआईजी उपेंद्र अग्रवाल ने बताया कि 72 घंटे के लिए मुख्य आरोपी को रिमांड पर लेकर पूछताछ की जा रही है। पहले दिन मंगलवार को सिर्फ क्राइम ब्रांच के दफ्तर में ही पूछताछ की गई है।

%d bloggers like this: