Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

पाकिस्तान लोन वुल्फ अटैक की रच रहा साजिश

13-10-2021पाकिस्तान अपने आतंकी हरकतों से बाज नहीं आ रहा है। किसी भी प्रकार से वह चाहता है कि भारत को अशांत कर कश्मीर मुद्दे पर अंतराष्ट्रीय दखल दिया जाये। इसीलिये वह कश्मीर के लिये अपने आतंकियों को प्रशिक्षित कर पीओके के रास्ते भेजता रहा है। भारतीय सेना भी उसके मंसूबों को पहचान कर मुहतोड़ जवाब दे रही है।

इसी बीच खबर है कि अब पाकिस्तान ने लोन वुल्फ अटैक की साजिश रच अपने पाकिस्तानी आतंकी को भारत में भेजा।  दिल्ली से गिरफ्तार किया गया पाकिस्तानी आतंकी अजमेर रहा है, दिल्ली रहा है, गाजियाबाद रहा है, जम्मू रहा है और उधमपुर भी रहा है। दिल्ली में हाल में इसके 2 ठिकाने मिले हैं, एक लक्ष्मीनगर इलाके में और एक ठिकाना वल्र्ड सिटी में मिला है। यह पाकिस्तान के पंजाब में नोरोवाल जिले का रहने वाला है। मां- बाप मर गए हैं, 2 भाई और 3 बहने हैं, 2004-05 के आसपास यह पाकिस्तान से निकला था।

पीर मौलाना के तहत इसके बहुत सारे फॉलोअर्स थे, जो इससे इलाज कराते थे। यह पाकिस्तान के किसी नासिर नाम के आईएसआई हैंडलर के संपर्क में था। 2014 में इसने भारतीय पासपोर्ट बनवाया था, पासपोर्ट में बिहार का पता है।

यहीं नहीं भारत के खिलाफ लोन वुल्फ अटैक की साजिश बना पाकिस्तान ने इस आतंकी को भारत में मौलाना के वेश में छिपाया था ।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आतंकवादी दिल्ली में ‘लोन वुल्फ अटैकÓ की साजिश रच रहा था और इसके लिए उसने कालिंदी कुंज के पास यमुना किनारे रेत में हथियार छिपाकर रखे हुए थे। पकड़े गए पाकिस्तानी आतंकवादी का नाम मोहम्मद अशरफ है, जो 15 साल से दिल्ली में रह रहा था। यह दिल्ली के स्लीपर सेल का मुखिया था।

पाकिस्तान देने वाला था साजिशों को अंजाम, लेकिन पकड़ाये आतंकी ने सारे उम्मीदों पर पानी ही फेर दिया। पाकिस्तानी आतंकवादी से पूछताछ के दौरान जांच एजेंसियों के हाथ बहुत सारी ऐसी जानकारी लगी है जिससे पता चलता है कि आतंकवादी दिल्ली में किसी बड़ी आतंकी साजिश को अंजाम देने की साजिश रच रहे थे।

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार आतंकवादी दिल्ली में ‘लोन वुल्फ अटैकÓ की साजिश रच रहा था और इसके लिए उसने कालिंदी कुंज के पास यमुना किनारे रेत में हथियार छिपाकर रखे हुए थे।

सूत्रों से यह भी पता चला है कि पाकिस्तानी आतंकवादी भारत आने वाले आतंकवादियों को हथियार तथा आने-जाने के लिए गाडिय़ों की व्यवस्था करता था।

इमरान खान को यह समझ लेना चाहिये कि अब भारत आतंक की नीतियों को अंतर्राष्ट्रीय मुद्दा बना रहा है। इसका अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है पीएम मोदी ने जब यूएन में भाषण दिया तब उन्होंने बगैर नाम लिये चीन और पाकिस्तान पर निशाना साधते हुए कहा कि आतंक के खिलाफ हमें एक जुट होना होगा।

अफगानिस्तान में हो रहे अल्पसंख्यकों पर अत्याचार को लेकर भी पाकिस्तान चुप रहा है, इससे साफ है कि भारत में वह कश्मीरी पंडितों का और वहॉ पर हिन्दुओं और सिखों को भयभीत करने की योजना के तहत ही आतंकियों से कत्ल करवाने का कुचक्र रच रहा है।

पाकिस्तान को डर है कि यदि कश्मीर में अन्य धर्मों के लोग रहेंगे तो वहॉ पर इस्लामियत और कट्टरपंथ का खात्मा हो जायेगा। इसीलिये वह आतंकियों हिन्दुओं व सिखों को भयभीत करने की योजना बना रहा है।

%d bloggers like this: