Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

UP: बिजली नहीं मिली तो रामलीला मंच पर ही राम-लक्ष्मण और सीता ने शुरू कर दिया धरना

UP: बिजली नहीं मिली तो रामलीला मंच पर ही राम-लक्ष्मण और सीता ने शुरू कर दिया धरना

रामलीला कमेटी ने कहा- 4 अक्टूबर से जनरेटर चलाकर कार्यक्रम हो रहा हैबिजली विभाग पर आरोप- नहीं दी जा रही है बिजलीकहा- पुलिस रामलीला स्थल तक पहुंची और कुछ देर में वापस चली गईसजारुल हुसैन, मुरादाबाद
सभी बचपन से बड़े होने तक रामलीला देखते आ रहे हैं और उसमें सिया-राम का पात्र अधिकतर लोगों के मन को काफी भाता आया है। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद जिले में पिछले 50 सालों से होने वाली थाना नागफनी इलाके के पुराना दसवां घाट स्थित रामलीला के मंच पर इस बार अलग ही नजारा दिखाई दिया।

स्टेज पर रामलीला मंचन नहीं हो रहा था, बल्कि सभी मुख्य पात्र राम, लक्ष्मण, सीता और रामलीला कमेटी के लोग मोमबत्ती जलाकर प्रदर्शन करते नजर आए। पूरा पंडाल खाली पड़ा था। कारण था, रामलीला मंचन के लिए बिजली नहीं मिलना। इसलिए कमेटी और रामलीला के मुख्य पात्र नगर निगम और बिजली विभाग के खिलाफ रामलीला के मंच पर ही धरने पर बैठ गए।

रामलीला कमेटी का कहना है कि 4 अक्टूबर से जनरेटर चलाकर रामलीला मंचन हो रहा था। बाद में पुलिस भी रामलीला मंच स्थल पर पहुंची, लेकिन बातचीत कर कुछ देर बाद वापस चली गई।

कमेटी अध्यक्ष बोले- सब पैसा तेल में लगा देंगे तो अन्य को क्या देंगे
कमेटी अध्यक्ष यथार्थ किशोर ने कहा कि हमें बिजली मीटर नहीं दिया जा रहा है। 50 साल पुरानी रामलीला के मंचन में 2019 से ये समस्या आ रही है। पहले हम एडीएम सिटी को एक प्रार्थना पत्र देते थे। उनके आदेश पर नगर निगम द्वारा सुविधा दी जाती थी। इस बार सिर्फ सफाई कि व्यवस्था चल रही है। 4 अक्टूबर से रामलीला शुरू होने के बाद आश्वासन ही दिया जा रहा था। जनरेटर से अपने खर्च पर रामलीला कर रहे हैं।

Power Crisis: मुरादाबाद में गहराया बिजली संकट, देहात इलाकों में फीडर वार कटौती शुरू
उन्होंने कहा कि रामलीला कमेटी दानदाताओं का सारा पैसा तेल में लगा देगी तो लाइट और टेंट वालों को पैसा कहां से देंगे। विद्युत सप्लाई नहीं मिलेगी तो हम मंच पर धरने पर बैठे रहेंगे। मुख्यमंत्री से निवेदन है कि हमारी समस्या को देखते हुए मीटर प्रदान करें। अधिकारियों से कई बार बात कर चुके हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई है।

%d bloggers like this: