Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

सरकार ब्राह्मणों के साथ अपना रही भेदभावः राहुल तिवारी

लखीमपुर खीरी: मृतक शुभम मिश्रा के घर पत्रकारों से बातचीत करते ब्राह्मण महासभा के राष्ट्रीय अध्य?

लखीमपुर खीरी: मृतक शुभम मिश्रा के घर पत्रकारों से बातचीत करते ब्राह्मण महासभा के राष्ट्रीय अध्य?
– फोटो : LAKHIMPUR

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

लखीमपुर खीरी। अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा (रा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित राहुल त्रिपाठी ने रविवार को तिकुनिया कांड में मारे गए शुभम मिश्रा और हरिओम मिश्रा के घर पहुंचकर परिजन को भरोसा बंधाया और हर संभव मदद का आश्वासन दिया।
उन्होंने आंदोलन में हिंसा को पूर्व नियोजित बताया और कहा कि ब्राह्मणों के साथ सदैव छल हुआ है। सत्ता पाने के बाद राजनेता ब्राह्मणों को पीछे कर खुद आगे निकल जाते हैं। उसी प्रकार सपा, कांग्रेस आदि दलों के लोग जिले में आकर शुभम मिश्रा का घर छोड़कर आगे निकल गए। उन्होंने शुभम के परिवार से मिलना तक जरूरी नहीं समझा। उन्होंने कहा कि सिर्फ सम्मेलन आयोजित कर राजनीतिक दल झूठे ब्राह्मण प्रेम का दिखावा बंद करें। उन्होंने कहा कि पुलिस ने अब तक तहरीर पर न तो मुकदमा लिखा है और न ही नामजद अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। जिले में पर्याप्त सिख समुदाय है, फिर भी गैर राज्य के लोगों के आने का मतलब प्रीप्लान घटना को अंजाम दिया गया।
राहुल त्रिपाठी ने कहा कि जिला प्रशासन तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर नामजद अभियुक्तों की गिरफ्तारी करे और लिखित में नौकरी देने का आश्वासन दे। ब्राह्मण अब चुप नहीं बैठेंगे। इस मौके पर राष्ट्रीय महासचिव आशुतोष शुक्ला, राष्ट्रीय संरक्षक आशुतोषांबर महाराज, महादेव, अखिल भारतीय हिंदू महासभा के प्रदेश अध्यक्ष संत सभा महादेव बाबा, गुड्डन दुबे आदि मौजूद रहे।
हरिओम के परिजन से मिला ब्राह्मण समाज
फरधान। तिकोनिया कांड में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के पुत्र आशीष मिश्र के ड्राइवर हरिओम मिश्रा के मारे जाने के बाद रविवार को महाब्रम्हऋषि एक कदम एकता की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्वेता शुक्ला ने घर जाकर परिजन का हाल जाना। श्वेता शुक्ला को हरिओम के चाचा चंद्रभाल मिश्र ने बताया कि उन्हें अब तक एफआईआर की प्रति नहीं मिली है, जिससे लगता है पुलिस ने मामले की रिपोर्ट दर्ज नहीं की है।
श्वेता शुक्ला ने बताया कि हरिओम के गुजर जाने से उसके परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। अब उसके घर का खर्च उठाने वाला भी कोई नहीं है। पार्टी के नेता जिले में आए लेकिन हरिओम के घर कोई नहीं गया, जो निंदनीय है। उन्होंने सरकार से जल्द से जल्द हरिओम के हत्यारों को गिरफ्तार कर उन्हें सख्त से सख्त सजा दिलाने की मांग की। इस मौके पर जिलाध्यक्ष राधारमण मिश्र, नंद कुमार मिश्र, आलोक शुक्ल, हर्ष मिश्र आदि मौजूद रहे। संवाद

लखीमपुर खीरी। अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा (रा) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित राहुल त्रिपाठी ने रविवार को तिकुनिया कांड में मारे गए शुभम मिश्रा और हरिओम मिश्रा के घर पहुंचकर परिजन को भरोसा बंधाया और हर संभव मदद का आश्वासन दिया।

उन्होंने आंदोलन में हिंसा को पूर्व नियोजित बताया और कहा कि ब्राह्मणों के साथ सदैव छल हुआ है। सत्ता पाने के बाद राजनेता ब्राह्मणों को पीछे कर खुद आगे निकल जाते हैं। उसी प्रकार सपा, कांग्रेस आदि दलों के लोग जिले में आकर शुभम मिश्रा का घर छोड़कर आगे निकल गए। उन्होंने शुभम के परिवार से मिलना तक जरूरी नहीं समझा। उन्होंने कहा कि सिर्फ सम्मेलन आयोजित कर राजनीतिक दल झूठे ब्राह्मण प्रेम का दिखावा बंद करें। उन्होंने कहा कि पुलिस ने अब तक तहरीर पर न तो मुकदमा लिखा है और न ही नामजद अभियुक्तों को गिरफ्तार किया है। जिले में पर्याप्त सिख समुदाय है, फिर भी गैर राज्य के लोगों के आने का मतलब प्रीप्लान घटना को अंजाम दिया गया।

राहुल त्रिपाठी ने कहा कि जिला प्रशासन तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर नामजद अभियुक्तों की गिरफ्तारी करे और लिखित में नौकरी देने का आश्वासन दे। ब्राह्मण अब चुप नहीं बैठेंगे। इस मौके पर राष्ट्रीय महासचिव आशुतोष शुक्ला, राष्ट्रीय संरक्षक आशुतोषांबर महाराज, महादेव, अखिल भारतीय हिंदू महासभा के प्रदेश अध्यक्ष संत सभा महादेव बाबा, गुड्डन दुबे आदि मौजूद रहे।
हरिओम के परिजन से मिला ब्राह्मण समाज
फरधान। तिकोनिया कांड में केंद्रीय गृह राज्यमंत्री के पुत्र आशीष मिश्र के ड्राइवर हरिओम मिश्रा के मारे जाने के बाद रविवार को महाब्रम्हऋषि एक कदम एकता की राष्ट्रीय अध्यक्ष श्वेता शुक्ला ने घर जाकर परिजन का हाल जाना। श्वेता शुक्ला को हरिओम के चाचा चंद्रभाल मिश्र ने बताया कि उन्हें अब तक एफआईआर की प्रति नहीं मिली है, जिससे लगता है पुलिस ने मामले की रिपोर्ट दर्ज नहीं की है।

श्वेता शुक्ला ने बताया कि हरिओम के गुजर जाने से उसके परिवार पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। अब उसके घर का खर्च उठाने वाला भी कोई नहीं है। पार्टी के नेता जिले में आए लेकिन हरिओम के घर कोई नहीं गया, जो निंदनीय है। उन्होंने सरकार से जल्द से जल्द हरिओम के हत्यारों को गिरफ्तार कर उन्हें सख्त से सख्त सजा दिलाने की मांग की। इस मौके पर जिलाध्यक्ष राधारमण मिश्र, नंद कुमार मिश्र, आलोक शुक्ल, हर्ष मिश्र आदि मौजूद रहे। संवाद

%d bloggers like this: