Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

जनसंख्या स्थिरता पखवाड़े में 45 पुरुषों ने नसबंदी करा दिया परिवार नियोजन का संदेश

समझदारी का परिचय देते विकासखंड आरंग के 45  पुरुषों ने नसबंदी करा कर क्षेत्र के लोगों को परिवार नियोजन का संदेश दिया है । वही विकासखंड की 98 महिलाओं ने भी महिला नसबंदी को अपनाकर अपने परिवार को नियोजित रखने के लिए आगे आई है ।

ज़िले में जनसंख्या स्थिरीकरण पखवाड़े को मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.मीरा बघेल के मार्गदर्शन में चलाया जा रहा है ।

आरंग विकासखंड के चिकित्सा अधिकारी डॉ. केएस राय ने बताया, ‘‘विश्व जनसंख्या दिवस हर वर्ष 11 जुलाई को मनाया जाता है इसके उपलक्ष्य में एक पखवाड़ा पहले और एक बाद में जनसंख्या स्थिरीकरण के लिए आयोजित किया जाता हैं। दूसरा  पखवाड़ा 11 से 31 जुलाई तक जारी है।  जिसमें योग्य दंपतियों को परिवार नियोजन की सेवाएँ प्रदान की जा रहीं हैं। विकासखंड में 27 जुलाई शाम तक 45 पुरुषों और 98 महिलाओं ने अनचाहे गर्भ को रोकने के लिए परिवार नियोजन के स्थायी साधन नसबंदी की सेवा ली है।“

बीईटीओ सविता साहू बताती हैं,“जनसंख्या स्थिरीकरण पखवाड़े के दौरान लक्ष्य दंपतियों की निरंतर काउंसलिंग की गई है साथ ही अन्य लोगों को भी परिवार नियोजन के बारे में जानकारी देकर जनसंख्या स्थिरीकरण के लाभ के बारे में बताया जा रहा है । परिवार नियोजन के अस्थाई साधनों जैसे-कंडोम, माला-एन और छाया टेबलेट के बारे में भी मितानिन के माध्यम से लोगों को बताया जा रहा है ।“

दूसरे चरण के दौरान 27  जुलाई तक 98 महिलाओं और 45 पुरुषों ने नसबंदी करा कर परिवार नियोजन में अपनी जिम्मेदारी निभाई है। वहीं  परिवार नियोजन के अस्थायी साधनों के प्रति भी लोगों में अब जागरुकता बढ़ रही है।अस्थायी साधनों के अंतर्गत अब तक 29 महिलाओं ने आईयूसीडी, 27 महिलाओं ने पीपीआईयूसीडी की सेवा प्राप्त की है। वहीं महिलाओं को साप्ताहिक गर्भ निरोधक गोली छाया का 70 महिलाओं में  वितरण किया गया है। इसके अतिरिक्त 588 (माला-एन) गर्भनिरोधक गोलियों का वितरण किया गया है साथ ही पुरुषों को 2,656 पैकेट कंडोम का वितरण भी किया गया है ।

स्वास्थ्य केंद्र पर आयोजित हुई यह गतिविधियां

स्वास्थ्य केन्द्रों पर पुरुष नसबंदी सेवा और इसके फायदे को प्रदर्शित किया गया था। नसबंदी के तीन माह उपरांत जांच में शुक्राणु संख्या शून्य पाए जाने पर ही हितग्राही को प्रमाण पत्र को प्रदान किया जाएगा । नसबंदी पखवाड़े के दौरान भारत सरकार द्वारा निर्देशित समस्त मानकों एवं दिशा निर्देशों का पालन समस्त स्तरों पर सुनिश्चित किया गया ।

जागरूकता  पखवाड़े में आयोजित हुई यह गतिविधियां

इस दौरान प्रचार रथ के माध्यम से अधिक से अधिक प्रचार प्रसार किया गया । साथ ही व्यक्तिगत चर्चा और पुरुष नसबंदी के फायदे हितग्राहियों को बताए गए।  व्यक्तिगत चर्चा कर पुरुष नसबंदी से संबंधित मिथकों को दूर करने के लिए परामर्श भी प्रदान किया गया।  प्रचार प्रसार के लिए डिजिटल माध्यम के प्रयोग को भी बल दिया गया। प्रचार प्रसार के दौरान कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए पूरी सावधानी रखी गयी कहीं भी अधिक भीड़ एकत्रित ना हो इसका भी ध्यान रखा गया था ।

%d bloggers like this: