June 15, 2021

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

आयुष राज्य मंत्री श्री कावरे ने किया “वैद्य आपके द्वार योजना” का शुभारंभ

आयुष राज्य मंत्री श्री कावरे ने किया "वैद्य आपके द्वार योजना" का शुभारंभ


आयुष राज्य मंत्री श्री कावरे ने किया “वैद्य आपके द्वार योजना” का शुभारंभ


 


भोपाल : शुक्रवार, मई 7, 2021, 18:41 IST

आयुष मंत्री श्री रामकिशोर कावरे ने ‘वैद्य आपके द्वार” योजना का शुभारंभ किया। श्री कावरे ने कहा कि कोरोना महामारी के संकट काल में आम लोगों के लिए आयुष विभाग की सेवाओं को नये स्वरूप में लाने का प्रयास किया गया है। कोरोना कर्फ्यू के दौरान लोग घरों से बाहर नहीं निकल पा रहे है। ऐसे में उन्हें डॉक्टर की सलाह लेने एवं अपना उपचार कराने में परेशानी न हो, इसके लिये “आयुष क्योर” मोबाईल एप के माध्यम से लोगों को घर बैठे आयुष चिकित्सक की सेवाएँ मिलेंगी। “आयुष क्योर” मोबाइल एप में अपनी सेवाएँ देने के लिए जो आयुष डॉक्टर इसमें जुड़े है, उन सभी के प्रति आभार व्यक्त करते हुए मंत्री श्री कावरे ने कहा कि इस एप से अधिक से अधिक आयुष चिकित्सकों को जोड़ा जाये। आयुष विभाग के चिकित्सक एवं अधिकारी इस बात की चिंता करें कि आमजन को अच्छी सेवाएँ दे सकें। हम सबको मिलकर इस संकट काल में लोगों का मनोबल बढ़ाना है और आम जनों को बेहतर स्वास्थ्य सेवाएँ देने का प्रयास करना है। “आयुष क्योर” मोबाईल एप के माध्यम से घर तक पहुँचेंगी आयुष की सेवाएँ’वैद्य आपके द्वार योजना’ मोबाईल एप “आयुष क्योर” के माध्यम से हर घर तक पहुँचेगी। आयुष मंत्री श्री कावरे ने “आयुष क्योर” मोबाईल एप का शुभारंभ कर आयुर्वेद चिकित्सक डॉ, वंदना से वीडियो कालिंग के माध्यम से चर्चा की। “आयुष क्योर” मोबाईल एप को गूगल प्ले स्टोर से कोई भी व्यक्ति अपने एंड्रायड मोबाईल में डाउनलोड कर सकता है। इस एप में अभी 70 आयुर्वेद चिकित्सक जुड़े है और यूनानी एवं होम्योपैथिक चिकित्सकों को भी एप से जोड़ा जा रहा है। एप के माध्यम से कोई भी व्यक्ति आयुष चिकित्सक से सम्पर्क कर सकता है। चिकित्सक वीडियो कॉलिंग के माध्यम से मरीज से चर्चा कर उसकी बीमारी के बारे में जानकारी ले कर उपचार संबंधी सलाह व परामर्श देंगे। इस एप के माध्यम से मरीज अपनी पैथोलाजी रिपोर्ट एवं अन्य जाँच रिपोर्ट भी अपलोड कर चिकित्सक से उपचार संबंधी परामर्श ले सकता है। यह सुविधा पूरी तरह से नि:शुल्क है। आयुष मंत्री श्री कावरे ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में काढ़ा वितरण की समीक्षा करते हुए निर्देशित किया कि कोरोना के जो मरीज होम आइसोलेशन में रह रहे हैं, उन्हें त्रिकटू चूर्ण या आरोग्य कसायम काढ़ा उपलब्ध कराया जाये। ‘योग से निरोग” कार्यक्रम की समीक्षा के दौरान उन्होंने कहा कि यह आयुष विभाग का महत्वपूर्ण कार्यक्रम है। हमें योग प्रशिक्षकों के कार्यों पर निगरानी रखना है। उन्होंने ग्वालियर एवं झाबुआ जिले में योग से निरोग कार्यक्रम में अच्छा कार्य करने के लिए उनकी प्रशंसा की। उन्होंने आयुष महाविद्यालय, जिला कार्यालय एवं औषधालय के भवन निर्माण कार्यों को शीघ्र पूर्ण करने के निर्देश दिये। बताया गया कि प्रदेश के 30 जिलों में जिला आयुष मिशन सोसायटी का गठन कर लिया गया है। शेष जिलों में इस कार्य को प्राथमिकता से करने के निर्देश दिये गये। हेल्थ एवं वेलनेस सेंटर में किये गये 16 प्रकार के औषधीय पौधों के प्लांटेंशन एवं हर्बल गार्डन को सुरक्षित रखने कहा गया। मंत्री श्री कावरे ने आयुष के संभागीय अधिकारियों को निर्देशित किया कि वे अपने क्षेत्र के जिलों का भ्रमण करें और आयुष विभाग की योजनाओं के क्रियान्वयन पर निगरानी रखें। जिला आयुष अधिकारी एवं चिकित्सक होम आईसोलेशन वाले कोरोना पॉजिटिव मरीजों से हर दिन बात करें और उन्हें परामर्श दें। उनका मनोबल बढ़ायें। वीडियो कॉन्फ्रेंस में प्रमुख सचिव सह आयुक्त श्रीमती करलिन खोंगवार देशमुख, आयुष के सभी प्रधानाचार्य, संभागीय आयुष अधिकारी, जिला आयुष अधिकारी, उपस्थित रहे।


दुर्गेश रायकवार

%d bloggers like this: