Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

UP Panchayat Chunav Result 2021: देवरिया में पिता बने प्रधान तो बेटे ने गांव के विकास के लिए दिए एक करोड़

UP Panchayat Chunav Result 2021: देवरिया में पिता बने प्रधान तो बेटे ने गांव के विकास के लिए दिए एक करोड़

कौशल किशोर त्रिपाठी, देवरियादेवरिया जिले के एक गांव में पिता के ग्राम प्रधान निर्वाचित होने पर बेटे ने गांव के विकास के लिए अपने पास से एक करोड़ रुपया दिया है। मामला पथरदेवा ब्लॉक के मेदीपट्टी गांव का है। जहां गिरजा श्रीवास्तव के प्रधान चुने जाने पर उनके बेटे सुरेंद्र लाल श्रीवास्तव ने गांव में नाली, सड़क आदि के निर्माण के लिए यह राशि दी है। सुरेंद्र लाल श्रीवास्तव उत्तराखंड में अपना व्यवसाय करते हैं और कमजोर लोगों की मदद में जुटे रहते हैं। नर सेवा को ही नारायण सेवा मानते हैं सुरेंद्र लाल श्रीवास्तवजिला मुख्यालय से लगभग 40 किमी दूर मेदीपट्टी गांव निवासी सुरेंद्र लाल श्रीवास्तव नर सेवा को ही नारायण सेवा मानते हैं। गांव में एक निजी विद्यालय चलाते हैं, जिसमें गरीब छात्र-छत्राओं को निशुल्क शिक्षा, गरीब और अनाथ बच्चियों की सामूहिक शादी कराने के साथ-साथ कमजोर लोगों की मदद करना धर्म मानते हैं। पथरदेवा ब्लॉक के मेंदी पट्टी गांव के प्रधान निर्वाचित हुए हैं गिरजा श्रीवास्तवपिछले लाकडाउन में भी सुरेंद्र लाल ने जरूरतमंद लोगों की भरपूर मदद की थी, जिसको देखकर मेदी पट्टी गांव के लोगों ने इनके पिता गिरजा श्रीवास्तव को निर्विरोध प्रधान बनाने पर विचार किया। पहले तो सुरेंद्र इसके लिए तैयार नहीं हुए, लेकिन ग्रामीणों के दबाव पर उन्होंने यह प्रस्ताव स्वीकार कर लिया। चुनाव शुरू होने से पहले गांव के पूर्व प्रधान समेत दो अन्य लोगों ने भी गिरिजा श्रीवास्तव के खिलाफ प्रधानी का पर्चा दाखिल कर दिया, लेकिन गांव के लोगों ने इनकी सेवा भावना को ध्यान में रखते हुए एक तरफा इनके पक्ष में मतदान कर शानदार जीत दिलाई।राजनीति को सेवा समझने से ही होगा गांव का विकास : सुरेंद्रसुरेंद्र लाल श्रीवास्तव ने अपने ग्राम सभा में आने वाले तीनों मोहल्लों में नाली, आरसीसी, सड़क और सोख्ता निर्माण के लिए एक करोड़ रुपये की धनराशि अपने पास से देने का ऐलान किया है। श्रीवास्तव ने कहा कि राजनीति को सेवा भावना से देखना चाहिए। हम सरकारी बजट के साथ अपने निजी धन से भी गांव का विकास कराएगे। हर सक्षम व्यक्ति अपने आसपास की समस्याओं का निस्तारण करेगा, तभी सबका विकास संभव है। सुरेंद्र लाल श्रीवास्तव की इस घोषणा के बाद उनके गांव के लोगों में खुशी की लहर है। गांव वालों ने कहा कि प्रधान हो तो ऐसा।