Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

UP Panchayat Election: बीजेपी विधायक ने पंचायत चुनाव स्थगित करने की लगाई गुहार, निर्वाचन आयोग बोला, ‘चुनाव तो होंगे’

UP Panchayat Election: बीजेपी विधायक ने पंचायत चुनाव स्थगित करने की लगाई गुहार, निर्वाचन आयोग बोला, 'चुनाव तो होंगे'

लखनऊउत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के मोहनलालगंज से बीजेपी सांसद कौशल किशोर के बाद बक्शी का तालाब (बीकेटी) क्षेत्र से बीजेपी के विधायक अविनाश त्रिवेदी ने भी पंचायत चुनाव (Uttar Pradesh Panchayat Election 2021) स्थगित करने की गुहार लगाई है। लखनऊ जिले में कल यानी गुरुवार को ही पहले चरण का मतदान है। हालांकि, राज्य निर्वाचन आयोग ने त्रिवेदी की मांग के अनुरूप चुनाव टालने से इनकार कर दिया है। चुनाव आयोग ने कहा है कि कल (गुरुवार को) पंचायत चुनाव के पहले चरण के लिए मतदान कराया जाएगा।त्रिवेदी से पहले लखनऊ के ही मोहनलालगंज से बीजेपी सांसद कौशल किशोर ने कोरोना का हवाला देते हुए जिले में चुनाव को स्थगित करने की अपील की थी। इसके एक दिन बाद त्रिवेदी ने निर्वाचन आयोग को पत्र लिखा और कहा कि पंचायत चुनाव में अन्य प्रदेशों से भी लौटे मतदाता मतदान करेंगे। ऐसे में इस दौरान हजारों लोगों के कोरोना से संक्रमित होने की संभावना है। त्रिवेदी ने आगे कहा, ‘मेरे पत्र को जनहित याचिका मानते हुए स्वतः संज्ञान में लेकर अविलंब उत्तर प्रदेश में होने वाले त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को स्थगित करने का आदेश दें।’हर दिन रेकॉर्ड बना रहा कोरोनाबता दें कि उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस (Corona Virus in UP) हर रोज नए रेकॉर्ड बना रहा है। बुधवार को भी राज्य में कोरोना के 20 हजार से ज्यादा मामले सामने आए। राज्य में ऐक्टिव केसों की संख्या 1 लाख 11 हजार के पार पहुंच गई है। खुद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कोरोना से संक्रमित हैं। इस भयंकर महामारी के बीच पंचायत चुनाव कराए जाने को लेकर मंगलवार शाम को NBT उत्तर प्रदेश के ट्विटर हैंडल से एक पोल किया गया था। यह भी पढ़ेंः BJP सांसद से लेकर आम लोगों की भी यही मांग, टाल दिए जाएं UP के पंचायत चुनावएनबीटी पोल में चुनाव टालने को 75% समर्थनइसमें लोगों से सवाल पूछा गया था कि ‘उत्तर प्रदेश में पूरी रफ्तार से कोरोना वायरस बढ़ रहा है। ऐसे में क्या पंचायत चुनाव कुछ महीने टाल देने चाहिए?’ पोल में 24 घंटे के दौरान करीब 400 लोगों ने अपनी राय दी, इनमें से 75 फीसदी का यही मत है कि पंचायत चुनाव टाल दिए जाने चाहिए। हालांकि 25 फीसदी का अब भी मानना है कि इस भीषण आपदा में पंचायत चुनाव आराम से कराए जा सकते हैं।बीजेपी सांसद ने भी की थी अपीलत्रिवेदी से पहले लखनऊ के मोहनलालगंज से बीजेपी सांसद कौशल किशोर ने राज्य निर्वाचन आयोग से पंचायत चुनाव को एक महीना आगे टालने की अपील की थी। उन्होंने कहा था कि लखनऊ में कोरोना कंट्रोल से बाहर है। कई हजार परिवार महामारी की चपेट में आकर बुरी तरह बर्बाद हो रहे हैं। श्मशान घाटों पर लाखों ढेर लगे हैं। ऐसे में चुनाव कराना जरूरी नहीं है बल्कि लोगों की जान बचाना ज्यादा जरूरी है।