राजभवन आमजन के घूमने के लिए स्वतंत्रता दिवस के पूर्व 13 अगस्त को शाम 5 बजे से रात 10 बजे तक खुला रहेगा। जानकारी के मुताबिक, आमजन राजभवन की आकर्षक विद्युत साज-सज्जा के साथ ही बच्चों की प्रस्तुतियों का आनंद भी ले सकेंगे।

सांस्कृतिक संध्या का आयोजन शाम 7 बजे होगा। सांस्कृतिक कार्यक्रमों में राजभवन में रहने वाले परिवारों के बच्चे, कुम्हारपुरा स्थित राजभवन शासकीय स्कूल के 130 बच्चे एवं शासकीय कमला नेहरू स्कूल के बच्चे विभिन्न सांस्कृतिक प्रस्तुतियां देंगे। राजभवन द्वारा कमजोर एवं पिछडे़ वर्ग के बच्चों को प्रतिभा प्रदर्शन का मंच उपलब्ध करने की यह अभिनव उपलब्धि होगी।

सरस्वती वंदना नृत्य प्रस्तुति से सांस्कृतिक संध्या का प्रारंभ होगा। अनेकता में एकता का संदेश की 25 बच्चों द्वारा भव्य सामूहिक प्रस्तुति दी जायेगी। आचंलिक प्रस्तुतियाँ भी कार्यक्रम में शामिल की गई हैं। ‘रंगीलो मारो ढोलना’ की रंगा-रंग प्रस्तुति 5 बच्चों द्वारा संयुक्त रूप में दी जायेगी। नृत्य प्रस्तुतियों के क्रम में लोक नृत्य कालबेलिया एवं तेरह तालिका मिश्रण की नृत्य प्रस्तुति में 17 बच्चे प्रतिभा का प्रदर्शन करेंगे। गीत प्रस्तुतियाँ भी होंगी। मुख्य आकर्षण ‘कौम की खादिम की है जागीर’ वंदे मातरम गीत में 9 बच्चों द्वारा गायन प्रतिभा का प्रदर्शन होगा।

इसी तरह ‘सुमन अर्पित आजादी के’ और ‘कश्मीर न देंगे’ जैसे गीतों की प्रस्तुति भी होगी। गांधीजी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य में उन पर केन्द्रित विशिष्ट नाट्य प्रस्तुति का मंचन भी होगा। प्रस्तुति का स्वरूप उद्देश्य बच्चों को गांधीजी के आचार-विचार से अवगत कराना और स्वतंत्रता संग्राम में उनके योगदान को रेखांकित करना है। प्रस्तुति में 86 बच्चे अपनी नाट्य-कला की मंच प्रस्तुति देंगे।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.