Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

बड़ी दिलचस्प थी विंदू और फराह की प्रेम कहानी, तब्बू ने करवाई से पहली मुलाकात की थी

बड़ी दिलचस्प थी विंदू और फराह की प्रेम कहानी, तब्बू ने करवाई से पहली मुलाकात की थी

90 के दशक की मशहूर एक्ट्रेस फराह नाज़ (फराह नाज़) ने यश चोपड़ा की फिल्म के साथ हिंदी सिनेमा में एंट्री ली, जिसके बाद उन्होंने अपने दौर के कई बड़े कलाकारों के साथ काम किया। करियर के अलावा अगर हम उनकी पर्सनल लाइफ के बारे में बात करें तो फराह ने दारा सिंह के बेटे विंदू दारा सिंह से शादी की थी। दोनों की पहली मुलाकात और शादी तक का सफर काफी फिल्मी रहा ।फराह की बहन तबू (तब्बू) जो आज बॉलीवुड (बॉलीवुड) का एक जाना-माना नाम है, एक दिन जिद करके अपनी बहन को फिल्म देखने के लिए लेकर गई, जिसका नाम क़यामत से क़यामत तक ’(क़यामत से क़यामत तक) तक थी। तबू के दोस्त विंदू भी मौजूद थे, तबू ने फराह को बताया कि विंदू तुम्हारा बहुत बड़ा फैंन है। विंदू ने फिल्म की टिकट अरेंज की और सबने फिल्म देखी, ये फराह और विंदू की पहली मुलाकात थी ।टू, विंदू और उनके कुछ दोस्त एक साथ डांस क्लॉस में जा रहे थे। उसी क्लॉस का एक लड़का फराह की फिल्म में काम कररहा था। उस लड़के से मिलने वाली पूरी क्लॉस फिल्म के सेट पर पहुंच गई। विंदू ने आते ही फराह से पूछा ‘आप कैसे हैं?’ फराह को लगा कि यह कहीं तो देखा है पर याद नहीं आ रहा है। विंदू ने अचानक से फराह से पूछा, ‘हम लोग शादी कब कर रहे हैं?’ ये सुनकर फ़राह चौंक गईं। फराह ने उनकी बातों को मज़ाक में ले लिया, लेकिन विंदू ने कहा कि ‘मैं सीरियस हूं, बताइए हम दोनों कब शादी कर रहे हैं’। फराह ने अपनी बातों पर सही ही नहीं किया ।धीरे-धीरे विंदू ने तबू के जरिए फराह को पटाने की कोशिश की। जब विंदू काफी पीछे पड़ गए तब जाकर फराह ने उन्हें हां कही। 2 साल तक एक-दूसरे को डेट करने के बाद फराह और विंदू ने कोर्ट में शादी कर ली। हालांकि, अब दोनों अलग-अलग हो चुके हैं। यह भी पढ़ेंःकॉन ‘जेनिस’ थी, जिसकी वजह से देव आनंद ने साल 1971 में बनाई फिल्म ‘हरे रामा हरे कृष्णा’ बनाई।