Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

Coronavirus in Noida-NCR: नोएडा में टूटा 5 महीने का रेकॉर्ड, 24 घंटे में मिले 125 कोरोना मरीज, खत्म हुआ वैक्सीन का स्टॉक

Coronavirus in Noida-NCR: नोएडा में टूटा 5 महीने का रेकॉर्ड, 24 घंटे में मिले 125 कोरोना मरीज, खत्म हुआ वैक्सीन का स्टॉक

हाइलाइट्स:नोएडा में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर ने पिछले 5 महीने का रेकॉर्ड तोड़ दिया हैनोएडा में कल 125 कोरोना संक्रमित मरीज, नवंबर में आए थे 100 से अधिक केसजिले में कोरोना वैक्सीन की कमी, अधिकारी बोले- जल्द उपलब्ध कराई जाएगी वैक्सीननोएडानोएडा में कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर ने पिछले 5 महीने का रेकॉर्ड तोड़ दिया है। बीते 24 घंटे में नोएडा-ग्रेनो में 125 मरीज संक्रमित मिले हैं। इससे पहले नवंबर में 100 से अधिक मरीज सामने आ रहे थे। मरीजों के आंकड़े तेजी से बढ़ने के चलते सेक्टर 39 कोविड अस्पताल में आईसीयू के बेड भर गए हैं। इन सब के बीच जिले में कोरोना वैक्सीन की कमी बताई जा रही है। अधिकारियों का कहना है कि वैक्सीन जल्द उपलब्ध हो जाएगी। टीकाकरण की रफ्तार में कमी नहीं आने दी जाएगी। स्टेट रिपोर्ट की मुताबिक, बुधवार को 125 नए मरीज में कोरोना की पुष्टि हुई है। इसमें से कई मरीज अस्पताल में भर्ती हैं तो कुछ होम आइसोलेशन में हैं। वहीं, 49 लोगों ने कोरोना को मात देकर घर वापसी कर ली है। जिले में अब तक 26697 लोग संक्रमित हो चुके हैं, इसमें 25952 लोग कोरोना को हरा चुके हैं। नोएडा-ग्रेनो में संक्रमण की वजह से अब तक 93 लोगों की मौत हो चुकी है।नोएडा में एक से ज्यादा संक्रमित तो पूरी बिल्डिंग बनेगी कंटेनमेंट जोन, जान लें इस बार क्‍या हैं नियमनोएडा में 652 ऐक्टिव केसअब जिले में ऐक्टिव केस 652 हो गए हैं। एक्टिव केस का आंकड़ा बढ़ जाने से सेक्टर 39 कोविड अस्पताल के अलावा अन्य सरकारी और प्राइवेट अस्पताल में बेड भरने लगे हैं। सीएमओ डॉ. दीपक ओहरी का कहना है कि हम तैयार हैं। अभी प्राइवेट अस्पताल को अलर्ट कर दिया गया है। आवश्यकता पड़ने पर सभी जगह बेड आरक्षित कर लिए जाएंगे।कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग की रफ्तार तेजजिले में कोरोना के बढ़ते केस के साथ ही कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग की रफ्तार को भी तेज कर दिया गया है। बुधवार को जिले में कुल 116 मरीजों की कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग हुई। अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. भारत भूषण ने बताया कि 10 सदस्यों की कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग टीम सक्रिय है। साथ ही कोरोना के बढ़ते प्रसार को रोकने के लिए जिला प्रशासन ने जनपद को नोएडा, ग्रेनो और ग्रामीण क्षेत्र में बांटा है।अपर जिलाधिकारी (वित्त एवं राजस्व) वंदिता श्रीवास्तव ने बताया कि इन तीनों क्षेत्रों में 80 अधिकारियों की कुल बीस टीमों को तैनात किया गया है। सभी टीमों के अधिकारी रोजाना पांच-पांच संस्था व कार्य स्थलों पर जाकर जांच कर रहे हैं। वर्तमान में 264 मरीजों को होम आइसोलेशन में रखा गया है, जिनकी मॉनिटरिंग डॉक्टरों की टीम के द्वारा की जा रही है।कोविड -19 प्रोटोकॉल का हुआ उल्लघंनडेप्युटी कमिश्नर वाणिज्य कर विनीत कुमार सिंह एवं असिस्टेंट कमिश्नर वाणिज्य कर सुभाष चंद्र पांडेय ने दनकौर मार्केट व कस्बे का बुधवार को निरीक्षण किया गया। उन्होंने बताया कि दनकौर मार्केट एवं कस्बे के व्यापारियों एवं स्थानीय निवासियों के द्वारा कोविड -19 के प्रोटोकाॅल का उल्लघंन होता पाया गया। इस संबंध में अधिकारियों ने नगर पंचायत दनकौर अध्यक्ष अजय भाटी, अधिशासी अधिकारी सीमा राघव एवं कोतवाली निरीक्षक अफरोज खान से मुलाकात कर लोगों को कोरोना के प्रति जागरूक किया।कोरोना वैक्सीन का स्टॉक हुआ खत्मजिले में कोरोना वैक्सीन का संकट गहराता जा रहा है। मंगलवार को जिले में 14,190 कोविशील्ड और 13,540 कोवैक्सीन बची हुई थी। इससे महज 2 से 3 दिन तक ही टीकाकरण हो सकेगा। मंगलवार शाम तक शासन से और अधिक वैक्सीन की डोज मिलने की उम्मीद थी, लेकिन नहीं मिल सकी। अधिकारियों का दावा है कि बुधवार तक जिले को पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन उपलब्ध हो जाएगी। टीकाकरण को प्रभावित नहीं होने दिया जाएगा। जिला प्रतिरक्षण अधिकारी डॉ. नीरज त्यागी के मुताबिक, 30 मार्च तक 8121 कोवैक्सीन, 1 लाख 24 हजार 865 कोविशिल्ड लगाई जा चुकी है। जिले में अप्रैल के 1 लाख 62 लोगों का टीकाकरण करने का लक्ष्य दिया गया है। अप्रैल में लगातार वैक्सीन की कमी बनी हुई है। स्वास्थ्य विभाग की डिमांड पर 15 हजार कोविशिल्ड की नई डोज दी गई। उसके बाद फिर वैक्सीन का संकट गहराने लगा, लेकिन अधिकारी वैक्सीन की उपलब्धिता पर जवाब देने को तैयार नहीं है। हालांकि, सूत्रों का कहना है कि जिले ने कोरोना वैक्सीन की कमी बनी हुई है।सांकेतिक तस्वीर