Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

Gorakhpur News: रेडीमेड गॉरमेंट्स को लगेंगे पंख… फैक्ट्री स्थापित करने के लिए उद्यमियों को मिलेगी सब्सिडी

Gorakhpur News: रेडीमेड गॉरमेंट्स को लगेंगे पंख... फैक्ट्री स्थापित करने के लिए उद्यमियों को मिलेगी सब्सिडी

गोरखपुरदेश में रेडीमेड गॉरमेंट्स की अपार संभावनाओं को देखते हुए सीएम योगी आदित्यनाथ ने रेडीमेड गॉरमेंट को ओडीओपी में शामिल करने के बाद गोरखपुर को वस्त्र उद्योग का केंद्र बनाने की कवायद तेज कर दी है। रेडीमेड गॉरमेंट की फैक्ट्री लगाने के लिए उद्यमियों को स्थान आवंटित किए जाने के साथ ही अब सरकार की ओर से सब्सिडी भी दिए जाने का फैसला लिया गया है। इस सिलसिले में गीडा प्रशासन जल्द उद्यमियों के साथ बैठक कर इसकी वर्क प्लानिंग बनाएगा। केंद्र सरकार की ओर से 30 फीसद मिलेगी सब्सिडीगोरखपुर को रेडीमेड गॉरमेंट्स का हब बनाने के लिए 170 उद्यमियों ने रेडीमेड गॉरमेंट की फैक्ट्री लगाने में रुचि दिखाई है। इसके लिए गीडा प्रशासन को 50 एकड़ में रेडीमेड पार्क और फ्लैटेड फैक्ट्री स्थापित करने के लिए स्थान आवंटित किया जा चुका है। वहीं, अब इन उद्यमियों को अपनी फैक्ट्री लगाने के लिए सरकार की ओर से 30 फीसद सब्सिडी दिए जाने की योजना है। इस सिलसिले में गीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी पवन अग्रवाल ने बताया कि गीडा प्रशासन जल्द फ्लैटेड फैक्ट्री का निर्माण कराएगा, इसके लिए एक एजेंसी ने निरीक्षण भी कर लिया है। वहीं, केंद्र सरकार की तरफ से 30 फीसद अनुदान मिलेगा। अनुदान के बाद हुए खर्च के आधार पर स्थान की कीमत तय की जाएगी। बता दें प्रोजेक्ट तकरीबन 35- 36 करोड़ रुपये का है, इस आधार पर उद्यमियों को 30 फीसद सब्सिडी मिलेगी। रेडीमेड गारमेंट्स को लगेंगे पंखबतौर सांसद रहते हुए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गोरखपुर को पूर्वांचल का वस्त्र उद्योग का केंद्र बनाने का सपना था। आज से करीब डेढ़ दशक पहले इसके लिए उन्होंने पहल भी की थी। इस पहल के दौरान केंद्र सरकार द्वारा गीडा में ‘टेक्सटाइल सेंटर इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट स्कीम’ के तहत टेक्सटाइल पार्क की स्थापना करने की योजना थी, लेकिन किन्ही वजहों से बात नहीं बनी। हालांकि, मुख्यमंत्री बनने के बाद गोरखपुर को पूर्वांचल का वस्त्र उद्योग का केंद्र बनाने की कवायद तेज कर दी है। इस क्रम में सरकार की ओर से उद्यमियों को स्थान आवंटित किए जाने के साथ ही अब फैक्ट्री लगाने के लिए 30 फीसद सब्सिडी भी दिए जाने की योजना है।