छत्तीसगढ़ संवाद द्वारा पूर्व में इनपैनल्ड क्रियेटिव एजेन्सी, जिसकी सेवाएं समाप्त कर दी गई हैं तथा जिसके कर्मचारियों को छत्तीसगढ़ संवाद हटा दिया गया है तथा ई.ओ.डब्ल्यू. द्वारा की जा रही जांच की परिधि में भी यह संस्था शामिल है। उस संस्था, ‘बेटर कम्यूनिकेशन’ के तब के एक कर्मचारी के ट्वीट को कृषि विभाग के ट्वीटर हैण्डल से अनाधिकृत रूप से रि-ट्वीट किया गया है। कृषि विभाग का ट्वीटर हैण्डल @Agricggov पूर्व में अनुबंधित एजेंसी सिल्वर टच टेक्नालाॅजिस द्वारा संधारित किया जा रहा था, यह एकाउन्ट भी
विधानसभा चुनाव 2018 की आचार संहिता प्रभावशील होने के दौरान 6 अक्टूबर, 2018 से बंद है। तब से इस एकाउन्ट से कोई भी ट्वीट या रि-ट्वीट नहीं किया गया है। अतः किन परिस्थितियों में और किसके द्वारा 30 मई 2019 को कृषि विभाग के ट्वीटर हैण्डल को अनाधिकृत रूप से एक्सेस कर किस प्रकार विवादित ट्वीट किया गया है, इसकी जांच हेतु प्रभारी उप संचालक, जनसम्पर्क संचालनालय, छत्तीसगढ़ शासन द्वारा थाना प्रभारी, साइबर सेल, सिविल लाइन, रायपुर को शिकायत दर्ज करा दी गई है।

Leave comment

Your email address will not be published. Required fields are marked with *.