Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

व्यसन से नहीं जानी चाहिए एक भी जवान की जान: डीजीपी

नशे के आदी हो चुके पुलिस वालों की लत छुड़ाने के लिए छत्तीसगढ़ पुलिस ने अनोखी पहल शुरू की है। इसे ‘नई सुबह’ नाम दिया गया है। मंगलवार को अमलेश्वर स्थित तीसरी बटालियन में डीजीपी ने 15 दिन के विशेष कैंप की शुरुआत की।

इसमें विभिन्न तरह के नशे के आदी हो चुके प्रदेशभर के 30 जवान शामिल किए गए हैं। कैंप में उनकी काउंसिलिंग की जाएगी। साथ ही योगा, मेडिटेशन, म्यूजिक थैरेपी आदि के जरिये व्यसनों से दूर करने की कोशिश होगी। इस अवसर पर डीजीपी ने व्यसन मुक्ति के लिए नई सुबह कार्यक्रम की वेबसाइट की भी शुरुआत की।

‘नई सुबह’ की शुरुआत करते हुए डीजीपी डीएम अवस्थी ने कहा कि आप दूसरों की जान के लिए अपनी जान की परवाह भी नहीं करते हैं। चाहे नक्सल मोर्चा हो या नागरिकों की सुरक्षा, हर जगह मुस्तैदी से जान की बाजी लगाकर अपनी ड्यूटी करते हैं। पुलिस बल में कर्तव्यपथ पर जान चली जाए तो यह हमारे जवानों के पराक्रम की निशानी है, लेकिन व्यसन से एक भी जवान की जान नहीं जानी चाहिए।