Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

झारखंड में 9368 कांडों का निष्पादन लंबित, जानें, किस

झारखंड में 9368 कांडों का निष्पादन लंबित, जानें, किस

Saurav Singh

Ranchi :  झारखंड पुलिस लंबित कांडों के निष्पादन के लिए पिछले 4 महीनों से लगातार अभियान चलाया रही है. जिसकी वजह से बीते दिनों में कई साल पुराने केस का निष्पादन हुआ है. इसके बावजूद अभी भी पूरे राज्यभर में 9368 कांडों का निष्पादन लंबित है. इनमें से 8376 कांड 2 से 5 वर्ष पुराने हैं. इसके बाद 5 से 10 वर्ष पुराने लंबित कांड की संख्या 838 है. जबकि 10 वर्ष से अधिक समय से लंबित कांडों की संख्या 149 है. (पढ़ें,रांची यूनिवर्सिटी में कर्मचारी संघ चुनाव की वोटिंग जारी, 3:30 बजे के बाद होगी काउंटिंग)

दो से पांच वर्ष पुराने 8376 कांड हैं लंबित

दो से पांच वर्ष पुराने 8376 कांड लंबित हैं. जिसमें जमशेदपुर में 249, चाईबासा के 129, सरायकेला में 144, दुमका में 123, देवघर में 560, जामताड़ा में 25, गोड्डा में 140, साहिबगंज में 248, पाकुड़ में 104, धनबाद में 883, बोकारो में 324, हजारीबाग में 804, गिरिडीह में 324, चतरा में 287, कोडरमा में 39, रामगढ़ में 79, पलामू में 294, लातेहार में 190, गढ़वा में 327, रांची में 3246, गुमला में 74, लोहरदगा में 98, सिमडेगा में 18 और खूंटी में 28 कांड निष्पादन के लिए लंबित हैं.

इसे भी पढ़ें : दोषियों को मिली फांसी की सजा कायम रहे, इसलिए सरकार ने हाईकोर्ट में 5 वकीलों की कमिटी गठित की  

पांच से 10 वर्ष पुराने 838 कांड हैं लंबित

पांच से 10 वर्ष पुराने 838 कांड लंबित हैं. जिनमें जमशेदपुर में 28, सरायकेला में 3, चाईबासा में 11, दुमका में 15, देवघर में 13 जामताड़ा में 3, गोड्डा में 5, साहिबगंज में 08, पाकुड़ में 2, धनबाद में 186, बोकारो में 55, हजारीबाग में 49, गिरिडीह में 22, चतरा में 14, कोडरमा में 1, पलामू में 19, लातेहार में 19, गढ़वा में 13, रांची में 350, गुमला में 6 ,लोहरदगा में 5, सिमडेगा में 8 और खूंटी में 3 कांड निष्पादन के लिए लंबित हैं.

इसे भी पढ़ें : तोशाखाना मामला : कोर्ट में पेशी के लिए जा रहे इमरान खान के काफिले में शामिल वाहनों में टक्कर, कई घायल

10 वर्ष से अधिक समय से 149 कांडों का निष्पादन लंबित

10 वर्ष से अधिक समय से 149 कांड लंबित हैं. जिनमें जमशेदपुर में 6, चाईबासा में 18, गोड्डा में 2, धनबाद में 10, बोकारो में 10, हजारीबाग में 6, गिरिडीह में 11, चतरा में 3, पलामू में 2, लातेहार में 2, गढ़वा में 4, रांची में 68, गुमला में 2, लोहरदगा में 4, सिमडेगा में 1 और खूंटी में 2 कांडों का निष्पादन लंबित हैं.

इसे भी पढ़ें : बच्चों की पढ़ाई कैसे हो, विचार करें शिक्षक-अभिभावक