अस्पताल में सुविधाएं बढ़ाने शतप्रतिशत कार्ड ब्लाक का लक्ष्य प्राप्त करने पर होगा कार्य - Lok Shakti.in

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

अस्पताल में सुविधाएं बढ़ाने शतप्रतिशत कार्ड ब्लाक का लक्ष्य प्राप्त करने पर होगा कार्य

26 22

जिला अस्पताल एवं अन्य अस्पतालों में जीवनदीप समिति के माध्यम से स्वास्थ्य सुविधाएं बढ़ाने के लक्ष्य को लेकर शतप्रतिशत कार्ड ब्लाक का लक्ष्य प्राप्त करने के निर्देश कलेक्टर श्री पुष्पेंद्र कुमार मीणा ने दिये। कलेक्टर ने कहा कि अभी लक्ष्य के अनुरूप दस प्रतिशत की वृद्धि पिछले कुछ महीनों में दर्ज की गई है लेकिन हमें शतप्रतिशत कार्ड ब्लाक करने की दिशा में काम करना होगा। प्रभारी अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि शतप्रतिशत कार्ड ब्लाक हों। अच्छा काम करने वालों को प्रोत्साहित किया जाएगा और लापरवाही करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। आज समीक्षा बैठक में अपर कलेक्टर श्री अरविंद एक्का, नगर निगम भिलाई आयुक्त श्री रोहित व्यास, जिला पंचायत सीईओ श्री अश्विनी देवांगन, सहायक कलेक्टर श्री लक्ष्मण तिवारी, दुर्ग निगम आयुक्त श्री लोकेश चंद्राकर सहित अन्य अधिकारी मौजूद रहे।

जिस इलाके में अवैध प्लाटिंग की अधिक शिकायत, उसकी पूर्व से इत्तला न करने पर संबंधित पटवारी को दी जाएगी नोटिस- कलेक्टर ने कहा कि अवैध प्लाटिंग के मामलों पर सख्त कार्रवाई हो। इसके लिए प्रोएक्टिव होकर कदम बढ़ाने की जरूरत है। अक्सर शिकायत मिलने पर या सूचना मिलने पर कार्रवाई होती है। संबंधित हल्के के पटवारी निरंतर अवैध प्लाटिंग पर नजर रखें और सूचना मिलते ही राजस्व अधिकारी को अवगत कराएं। इस बात का परीक्षण किया जाएगा कि किन इलाकों में अवैध प्लाटिंग अधिक हो रही है और ऐसे इलाके के पटवारियों को नोटिस दिया जाएगा यदि वे पूर्व में इसकी जानकारी नहीं देते हैं। 

अवैध खनन पर भी रखें नजर- कलेक्टर ने अवैध खनन पर भी नजर रखने के निर्देश अधिकारियों को दिये। उन्होंने राजस्व अधिकारी को खनिज विभाग की टीम के साथ संयुक्त मानिटरिंग करने के लिए भी कहा। उन्होंने कहा कि स्थानीय लोगों का फीडबैक लें और लगातार इस ओर नजर रखे।

शराब दुकानों के आसपास सफाई रखने की जिम्मेदारी प्रबंधन की- कलेक्टर ने कहा कि शराब दुकानों के आसपास गंदगी की शिकायत मिली है। दुकान के परिसर में सफाई रखने की जिम्मेदारी प्रबंधन की है। यह सुनिश्चित करें। इस पर भी मानिटरिंग टीम नजर रखेगी। शिकायत मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

नर्सरी को किया जाएगा विकसित- कलेक्टर ने कहा कि हमारे जिले में चार बड़ी नर्सरी हैं और सभी में अच्छी संभावना है। लैंडस्केपिंग के लिए पौधों की सप्लाई यहीं से हो सकती है। इनके लिए माडर्न नर्सरी का प्लान तैयार करें ताकि सभी तरह के जरूरत के पौधों की और आधुनिक लैंडस्केपिंग की जरूरत के मुताबिक पौधे यहां तैयार किये जा सकें। 

ग्रामीण सचिवालय की नियमित होती रहे मानिटरिंग- कलेक्टर ने ग्रामीण सचिवालय के कार्यों की समीक्षा भी की। इसके लिए जिला प्रशासन ने एक रोटेशन तैयार किया है जिसके मुताबिक स्थानीय अमले को इस दौरान पूरी तरह से उपस्थित रहना है और इसकी मानिटरिंग नोडल अधिकारी करेंगे। इस पर हो रहे अमल की जानकारी भी कलेक्टर ने ली।