कलेक्टर डॉ भुरे ने अभनपुर विकासखंड अंतर्गत केंद्री  और जवाई बांधा गौठान का अवलोकन किया – Lok Shakti.in

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

कलेक्टर डॉ भुरे ने अभनपुर विकासखंड अंतर्गत केंद्री  और जवाई बांधा गौठान का अवलोकन किया

कलेक्टर डॉ सर्वेश्वर नरेंद्र भुरे ने आज अभनपुर विकासखंड अंतर्गत केंद्री और जवाईबांधा गौठान का अवलोकन किया तथा वहां संचालित गतिविधियों की जानकारी ली। कलेक्टर ने स्व सहायता समूह की महिलाओं द्वारा किए जा रहे आय मूलक कार्यों का भी अवलोकन किया गया। गौठान में जीवन ज्योति स्व सहायता समूह की महिलाओं द्वारा बाड़ी योजना के तहत माैंसमी सब्जियों का उत्पादन किया जा रहा है। महिलाओं ने कलेक्टर को बताया कि पिछले 2 वर्षों में सब्जी उत्पादन से लगभग 1 लाख की आमदनी भी प्राप्त हुई है। उत्पादित सब्जियों को स्थानीय बाजारों में विक्रय किया जाता है। जय सतनाम स्व सहायता समूह द्वारा मुर्गी पालन किया जा रहा है। समूह के सदस्यों ने बताया कि कॉकरेल, बायलर तथा लेयर का पालन किया जा रहा है। कलेक्टर ने समूह की महिलाओं से कहा कि व्यापार करने के हिसाब से मन लगाकर काम करने से फायदा ज्यादा होगा। आपकी सोच व्यापारिक होनी चाहिए। गौठान में समृद्धि स्व सहायता समूह की महिलाओं द्वारा फिनाईल का निर्माण कर विक्रय किया जा रहा है।

इसी प्रकार केंद्री के गौठान में बकरी पालन तथा वर्मी उत्पादन भी किया जा रहा है। कलेक्टर ने वर्मी की विक्रय की जानकारी ली। इस अवसर पर कलेक्टर ने ग्रामीणों तथा स्व सहायता समूह की महिलाओं की समस्याएं भी सुनी तथा उसका यथासंभव निराकरण का आश्वासन भी दिया।

  कलेक्टर डॉ भूरे ने जवाई बांधा गौठान में संचालित आजीविका मुलक गतिविधियों का अवलोकन करते हुए स्व सहायता समूह की महिलाओं से कहा कि ज्यादा से ज्यादा आय अर्जित हो सके, ऐसी गतिविधियों को संचालित करें।
उन्होंने गोधन न्याय योजना के तहत गोबर खरीदी और उत्पादित वर्मी कंपोस्ट तथा उसके विक्रय की जानकारी लेकर तेजी लाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने गौठान में बनाए गए बाड़ी में उत्पादन की जा रही सब्जी-भाजी की जानकारी लेते हुए बाड़ी का अवलोकन किया तथा उसके उत्पादन और आमदनी के बारे में पूछा। महिलाओं ने बताया कि सब्जियों को उत्पादन के अनुरूप स्थानीय तथा थोक बाजारों में विक्रय किया जाता है।

कलेक्टर ने जवाईबांधा गौठान में आधा एकड़ से अधिक में बनाए गये तालाब में किए जा रहे मछली पालन को देखा। उन्होंने मछली बीज, चारा, पानी का तापमान और ऑक्सीजन लेवल तथा मछली पालन हेतु लिए गये प्रशिक्षण आदि की जानकारी ली। उन्होंने स्व सहायता समूह की महिलाओं से कहा कि मछली पालन वैज्ञानिक तरीके से करें ताकि उत्पादन और अधिक हो सके जिससे आपके आमदनी में बढ़ोतरी हो। इस अवसर पर जिला पंचायत रायपुर के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री आकाश छिकारा, अभनपुर जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री आर.के वर्मा, विभागीय अधिकारी-कर्मचारी एवं गांव के नागरिक भी मौजूद थे।

%d bloggers like this: