नवीनीकरण होने से क्षेत्रवासी – Lok Shakti.in

Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

नवीनीकरण होने से क्षेत्रवासी

छत्तीसगढ़ी लोक खेलो के संरक्षण और उन्हें बढ़ावा देने के लिए आयोजित छत्तीसगढ़िया ओलम्पिक खेलों का दूसरा चरण रायपुर जिले में शुरू हो गया है। आज पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री श्री रविन्द्र चौबे ने छत्तीसगढ़िया ओलम्पिक के तहत जिला स्तरीय प्रतिस्पर्धाओं का स्थानीय सुभाष स्टेडियम में शुभारंभ किया। इस अवसर पर श्री चौबे ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री बघेल ने इस खेल आयोजन से छत्तीसगढ़ के पारंपरिक खेलों को बचाने और उन्हें विश्व स्तर पर नई पहचान दिलाने का प्रयास किया है। श्री चौबे ने कहा इस आयोजन की सफलता, गांव-गांव में बड़ी संख्या में बच्चे, युवा, बुजुर्गों के इसमें शामिल होने से ही सिद्ध हो गई है। छत्तीसगढ़ वासियों के लिए यह बेहद ही सुखद पल है। पंचायत मंत्री ने जिला स्तरीय इस प्रतियोगिता में शामिल हो रहे सभी खिलाड़ियों और प्रदेश वासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी। इस अवसर पर नगर निगम रायपुर के महापौर श्री एजाज ढेबर, बीरगांव नगर निगम के महापौर श्री नंद लाल देवांगन, छत्तीसगढ़ योग आयोग के अध्यक्ष श्री ज्ञानेश शर्मा, सहकारी बैंक के अध्यक्ष श्री पंकज शर्मा, कलेक्टर श्री डॉ. सर्वेश्वर भुरे सहित जिला पंचायत के सीईओ श्री आकाश छिकारा, गणमान्य जनप्रतिनिधि और स्कूली छात्र-छात्राएं भी मौजूद रहें।
कलेक्टर डॉ. सर्वेश्वर भुरे ने आयोजन की जानकारी देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की मंशानुसार छत्तीसगढ़िया ओलम्पिक खेलों का आयोजन 6 अक्टूबर से जारी है। इन खेलों के लिए पूरे जिले को 6 जोन में बांटा गया था। जोन स्तरीय खेलों में विजेताओं को अब जिला स्तरीय प्रतियोगिता में भाग लेने का मौका मिल रहा है। कलेक्टर ने बताया कि जिला स्तरीय प्रतियोगिताएं 25 नवम्बर तक चलेंगी। इन खेलों में विजेताओं को प्रशस्ति पत्र भी दिया जाएगा। जिला स्तरीय विजेता राज्य स्तर की प्रतिस्पर्धाओं में भाग ले सकेंगे।
चौदह खेल, तीन मैदान, चौदह सौ खिलाड़ी- इस प्रतियोगिता में अब जोन स्तर के विजेताओं के बीच 14 खेलों में मुकाबला होगा। रायपुर जिला स्तरीय यह खेल प्रतियोगिताएं तीन बड़े मैदानों पर आयोजित हो रही है। नेताजी सुभाष स्टेडियम में कबड्डी, बांटी, पिट्ठूल, बिल्लस, फुगड़ी, गेड़ी दौड़ और भौरा चलाने की प्रतियोगिताएं हो रही है। सप्रे शाला मैदान पर खो-खो, गिल्ली डण्डा और रस्सा खींच की प्रतियोगिताएं हो रही है। 100 मीटर की दौड़, लम्बी कूद, लंगड़ी और संखली खेलों की प्रतिस्पर्धाएं स्वामी विवेकानंद स्टेडियम कोटा में हो रही है। इन खेलों में लगभग एक हजार चार सौ खिलाड़ी शामिल हो रहें हैं।

%d bloggers like this: