Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

देवकमल अस्पताल में चार दिवसीय निशुल्क क्लेफ्ट सर्जरी कैंप का आयोजन

फ़ोटो: देवकमल अस्पताल में चार दिवसीय निशुल्क क्लेफ्ट सर्जरी कैम्प का आयोजन, इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन करेगी 61 लाख का सहयोग

इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन करेगा 61 लाख का सहयोग
क्लेफ्ट: कटे होठ-तालू और चेहरे की अन्य विकृति के साथ जन्म लेने वाले बच्चे

Ranchi:  इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन सीएसआर फंड और मिशन स्माइल के सहयोग से देवकमल अस्पताल में चार दिवसीय क्लेफ्ट सर्जरी का आयोजन करने जा रही है. शिविर को लेकर मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया. इस दौरान देवकमल अस्पताल के निदेशक डॉ अनंत सिन्हा ने कहा कि क्लेफ्ट सर्जरी में हमारे अस्पताल के डॉक्टर, नर्स और पारा मेडिकल के स्टाफ अपना योगदान देंगे. अस्पताल का ऑपरेशन थिएटर, रिकवरी वार्ड, पोस्ट ऑपरेटिव वार्ड सहित सभी बुनियादी सुविधा इलाज के लिए आने वाले मरीजों को दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि देश में 700 बच्चों में क्लेफ्ट के एक बच्चे का जन्म होता है. जबकि झारखंड में 400-500 बच्चे जन्म लेते है, इनमें से एक बच्चा क्लेफ्ट की समस्या वाले होते है.

इसे पढ़ें-पटना एयरपोर्ट पर ह‍िरासत में ल‍िए गए JDU MLC दिनेश सिंह, भारी मात्रा में म‍िला कैश

100 बच्चों की सर्जरी करने का रखा गया लक्ष्य

वहीं इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन के मुकेश चौधरी ने कहा कि झारखंड में अब तक 150 से अधिक मरीजों का ऑपरेशन किया गया है. उन्होंने कहा कि चार दिवसीय कैम्प में 100 रोगियों की जांच करने का लक्ष्य रखा गया है. इसके बाद 25 से 27 सितंबर के बीच सर्जरी की जाएगी. इस शिविर में आईओसीएल 61 लाख रुपये खर्च करेगी. कैंप में प्लास्टिक सर्जरी, ओरल एंड मेक्सिलोफेशियल सर्जरी, एनेस्थीसिययोलॉजी, पीडियाट्रिक, डेंटिस्ट्री, स्पीच लैंग्वेज पैथोलॉजी के विशेषज्ञ चिकित्सकों की टीम मौजूद रहेगी.

लगातार को पढ़ने और बेहतर अनुभव के लिए डाउनलोड करें एंड्रॉयड ऐप। ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे

इसे भी पढ़ें-आदित्यपुर : सड़क दुर्घटना की दोषी है सड़क निर्माण एजेंसी जेएआरडीसीएल- मोर्चा

सर्जरी कैंप में विदेश के डॉक्टर भी देंगे योगदान

वहीं मिशन स्माइल के रफी ने कहा कि 2003 से हमारी संस्था क्लेफ्ट सर्जरी में अपना योगदान दे रही है. देशभर में अब तक 65000 बच्चों का सफल सर्जरी किया गया है. इनमें नॉर्थईस्ट इंडिया में सबसे ज्यादा 22000 के करीब बच्चों का सर्जरी किया गया. एक सर्जरी में 80 हजार से एक लाख रुपए खर्च होते है. सर्जरी में न सिर्फ भारत बल्कि विदेशों के भी डॉक्टर्स योगदान देंगे.

[wpse_comments_template]

 

 

 

आप डेली हंट ऐप के जरिए भी हमारी खबरें पढ़ सकते हैं। इसके लिए डेलीहंट एप पर जाएं और lagatar.in को फॉलो करें। डेलीहंट ऐप पे हमें फॉलो करने के लिए क्लिक करें।

%d bloggers like this: