Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

Kanpur: छेड़खानी की शिकायत पर दरोगा के सवाल, कहां-कहां छुआ है? कानपुर कमिश्नर से इच्छा मृत्यु मांगने पहुंची पीड़िता

Kanpur: छेड़खानी की शिकायत पर दरोगा के सवाल, कहां-कहां छुआ है? कानपुर कमिश्नर से इच्छा मृत्यु मांगने पहुंची पीड़िता

कानपुर: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर में पुलिस (Kanpur Police) पर गंभीर आरोप लगे हैं। आरोप लगाने वाली एक लड़की है। छेड़खानी पीड़िता लड़की शिकायत लेकर थाने पहुंची तो उससे ऐसे सवाल पूछे गए, जिसको सुनकर आपको भी गुस्सा आएगा। पीड़िता ने आरोप लगाया है कि जब वह घटना की शिकायत करने थाने पहुंची तो दरोगा का सवाल था, छेड़खानी करने वाले ने कहां-कहां छुआ है? लड़की ऐसे सवालों से आहत हुई। दरोगा ने घटना पर सुनवाई नहीं की तो लड़की इच्छामृत्यु मांगने पुलिस कमिश्नर के पास पहुंच गई। हालांकि, कमिश्नर से मुलाकात हो पाती उससे पहले ही पुलिस ने कार्रवाई का आश्वासन देकर उसे वहां से हटा दिया।

पूरी घटना कानपुर के रावतपुर थाने का है। छेड़खानी पीड़िता लड़की जब कमिश्नर ऑफिस अपनी शिकायत लेकर पहुंची तो मामला खुला। लड़की का आरोप है कि वह अपनी शिकायत लेकर रावतपुर थाने गई थी। लड़की का आरोप है कि उसे शिव कुमार सिंह नाम का एक युवक छेड़ता था। वह खुद को सीएम का पीआरओ बताता था। मोबाइल पर अश्लील वीडियो भेजता था। इसकी शिकायत लेकर जब वह रावतपुर थाने पहुंची तो दरोगा दुर्गा प्रसाद यादव ने उससे सवाल किया कि छेड़छाड़ करने वाले ने कहां-कहां छुआ है? इसके बाद उसकी शिकायत पर कोई कार्रवाई नहीं की गई।

लड़की के कमिश्नर ऑफिस पहुंचने पर मचा हड़कंप
पीड़ित लड़की रविवार को कमिश्नर ऑफिस पहुंच गई। वह छेड़छाड़ और दरोगा की शिकायत लेकर पहुंची। वह वहां पर इच्छामृत्यु की मांग कर रही थी। पुलिस को जैसे ही लड़की के कमिश्नर कार्यालय पहुंचने की जानकारी हड़कंप मच गया। आनन-फानन में पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने लड़की को कार्रवाई का आश्वासन दिया। उसे वहां से जीप में बैठाकर ले जाया गया। लड़की की कमिश्नर से मुलाकात नहीं हो पाई।

कानपुर में आए इस मामले की जब चर्चा गरमाई तो एसीपी ने कार्रवाई का दावा किया है। लड़की का कहना था कि छेड़छाड़ करने वाले आरोपी के साथ-साथ उसे दारोगा से भी शिकायत है। उसने आरोप लगाया कि थाने में शिकायत के बाद इस बारे में आरोपी को बताया गया। उसने मेरी हत्या की साजिश रची। लड़की ने आरोप लगाया कि आरोपी के खिलाफ हल्की धाराएं लगाए जाने के कारण उसकी तुरंत जमानत हो गई।

कमिश्नर से मिलने से रोकती रही पुलिस
छेड़खानी पीड़िता के कमिश्नर ऑफिस पहुंचने के कुछ ही देर में पुलिस वहां पहुंच गई। पहले तो उसने कार्रवाई का आश्वासन दिया। फिर लड़की जब कमिश्नर से मुलाकात करने उनके कार्यालय में जाने लगी तो उसे रोका गया। पुलिस ने उसे जीप में लाद लिया और ले गई। इस पूरे घटनाक्रम पर एसीपी अशोक शुक्ल ने कहा है कि पीड़िता की शिकायत के आधार पर एफआईआर दर्ज कर ली गई है। आरोपी को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने भरोसा दिलाया कि इस मामले में आरोपी की शिकायत की हर बिंदु की जांच होगी।

%d bloggers like this: