Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

जामताड़ा में अवैध कोयला खनन रोकने में अधीनस्थों

जामताड़ा में अवैध कोयला खनन रोकने में अधीनस्थों

Ranchi : संथाल परगना के जामताड़ा जिले में इन दिनों धड़ल्ले से कोयला का अवैध खनन और परिवहन चल रहा है. इसे लेकर निर्दलीय विधायक सरयू राय ने सवाल खड़ा किया है. सरयू राय ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को इसपर और ध्यान देने की मांग की है. ट्वीट करते हुए उन्होंने कहा है कि जामताड़ा में हो रहे कोयला के अवैध खनन को जब अधीनस्थ अधिकारी रोकते हैं, तो वरीय अधिकारी राजनीतिक दबाव का हवाला देकर उन्हें हतोत्साहित करते हैं. जब मामले की जांच कर एफआईआर दर्ज की जाती है, तो एफआईआर फाड़ दिये जाते हैं. ऐसे में जरूरी है कि ईडी, इनकम टैक्स (आईटी) और केंद्रीय जांच एजेंसी (सीबीआई) इसपर और ध्यान दें. उन्होंने लिखा है कि प्रदेश की राजनीति में इन दिनों जैसा माहौल बना है, अगर इस कड़ी को भी जरूरी देखा जाए, तो तय है कि नतीजा आयेगा.

जामताडा ज़िला में कोयला का अवैध खनन और अवैध परिवहन धड़ल्ले से से हो रहा है.अधीनस्थ अधिकारी रोकते हैं तो वरीय अधिकारी राजनीतिक दबाव के हवाले उन्हें हतोत्साहित करते हैं.एफआईआर फाड़ दिये जाते हैं. #ED #IT #CBI ध्यान दे.अद्यतन माहौल को इससे भी जोड़कर देखें,नतीजा आयेगा. @narendramodi

— Saryu Roy (@roysaryu) July 31, 2022

इसे भी पढ़ें –पश्चिम बंगाल में पकड़े गये झारखंड के तीनों विधायकों को छोड़ दिया गया, बरामद पैसे की दी जानकारी

बंद खदानों से आए दिन हो रही अवैध खनन कर कोयले की तस्करी

जानकारी के मुताबिक, जामताड़ा के नाला थाना क्षेत्र में ईसीएल के दर्जनों कोयले के खदान बंद पड़े हैं. बंद खदानों से आए दिन अवैध खनन कर कोयले की तस्करी की जाती है. कोयले का अवैध कारोबार, क्षेत्र के खड़ीमाटी, पत्थरघट्टा, बड़कुडी, चिचुड़बिल, महेशमुंडा और सुल्तानपुर और करमाटांड़ बिन्दापाथर थाना क्षेत्र के रांगासोला में चल रहा है. सूत्रों के मुताबिक, पहले साइकिल और मोटरसाइकिल पर कोयला लोड कर एक जगह डंप किया जाता है. फिर रात के अंधेरे में जेसीबी और पेलोडर लगाकर अवैध कोयले होती है, फिर कोयले की लोडिंग की जाती है. अंत में ट्रकों से कोयला देवघर होते हुए बिहार में भेज दिया जाता है.
इसे भी पढ़ें –BIG BREAKING : झारखंड कांग्रेस विधायक इरफान अंसारी, राजेश कच्छप व नमन विक्सल कोंगाडी हुए सस्पेंड

लगातार को पढ़ने और बेहतर अनुभव के लिए डाउनलोड करें एंड्रॉयड ऐप। ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे

आप डेली हंट ऐप के जरिए भी हमारी खबरें पढ़ सकते हैं। इसके लिए डेलीहंट एप पर जाएं और lagatar.in को फॉलो करें। डेलीहंट ऐप पे हमें फॉलो करने के लिए क्लिक करें।

%d bloggers like this: