Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

बंगाल कैश कांड : झारखंड की राजनीति में उबाल, जयराम

बंगाल कैश कांड : झारखंड की राजनीति में उबाल, जयराम रमेश ने ऑपरेशन लोटस करार दिया, बाबूलाल मरांडी ने हल्ला बोला, सरयू राय को चाहिए ईडी जांच

Delhi/Ranchi : झारखंड के तीन कांग्रेसी विधायकों के पश्चिम बंगाल में कैश के साथ पकड़े जाने पर भाजपा और कांग्रेस में ठन गयी है. झारखंड की राजनीति में उबाल आ गया है. भाजपा विधायक दल के नेता और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने कांग्रेस के तीन विधायकों के बंगाल में पैसों के साथ पकड़े जाने पर ट्वीट कर हल्ला बोला.

बता दें कि कोलकाता पुलिस ने शनिवार की रात वाहन चेकिंग के दौरान एक वाहन से करोड़ों रुपये के नोट बरामद किये थे.  बताया जाता है कि जिस गाड़ी से रुपये बरामद हुए हैं, उस पर झारखंड कांग्रेस के तीन विधायक सवार थे. गाड़ी पर विधायक, जामताड़ा का बोर्ड भी लगा हुआ है. विधायकों के नाम इरफान अंसारी, नमन विक्सल कोंगाड़ी और राजेश कच्छप बताया गया था

इसे भी पढ़ें : कोलकाताः झारखंड कांग्रेस के तीन विधायकों की गाड़ी से भारी मात्रा में नोट बरामद

लगातार को पढ़ने और बेहतर अनुभव के लिए डाउनलोड करें एंड्रॉयड ऐप। ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे

सरकार  के सभी घटक राज्य को अंदर से खोखला करने में जुटे 

मरांडी ने लिखा, झारखंड के तीन विधायकों की गाड़ी से हावड़ा में भारी मात्रा में कैश के साथ हिरासत में लिये जाने की खबर है. भ्रष्टाचार में  डूबी इस सरकार का हरेक घटक राज्य को अंदर से खोखला करने में जुटा है. मुख्यमंत्री से लेकर विधायक, चमचे, सबके सब.

प्रत्यक्षं किम् प्रमाणं।

झारखंड के @INCJharkhand के 3 विधायकों की गाड़ी से हावड़ा में भारी मात्रा में कैश के साथ हिरासत में लिए जाने की खबर है।

भ्रष्टाचार के आकंठ में डूबी इस सरकार का हरेक घटक राज्य को अंदर से खोखला करने में जुटा है।

मुख्यमंत्री से लेकर विधायक,चमचे सबके सब..

— Babulal Marandi (@yourBabulal) July 30, 2022

इस प्रकरण पर कांग्रेस के सीनियर नेता जयराम रमेश भाजपा पर हमलावर हैं.  कहा कि झारखंड में भाजपा का ऑपरेशन लोटस हावड़ा में बेनकाब हो गया. दिल्ली में हम दो का गेम प्लान झारखंड में वही करने का है, जो उन्होंने महाराष्ट्र में एकनाथ-देवेंद्र की जोड़ी से करवाया.

झारखंड में भाजपा का ‘ऑपरेशन लोटस’ आज की रात हावड़ा में बेनकाब हो गया। दिल्ली में ‘हम दो’ का गेम प्लान झारखंड में वही करने का है जो उन्होंने महाराष्ट्र में एकनाथ-देवेंद्र(E-D) की जोड़ी से करवाया।

— Jairam Ramesh (@Jairam_Ramesh) July 30, 2022

कांग्रेस विधायक दल के नेता और ग्रामीण विकास मंत्री आलमगीर आलम ने कहा कि उन्हें मीडिया के माध्यम से तीन विधायकों के पश्चिम बंगाल पुलिस द्वारा पकड़े जाने की सूचना मिली है, वे इस संबंध में पूरी जानकारी लेने के बाद पार्टी की ओर से आधिकारिक वक्तव्य देंगे.

कांग्रेस के पदाधिकारियों को स्पष्टीकरण देना चाहिए :  सरयू राय 

आयकर विभाग और #ED को झारखंड के तीन विधायकों से बंगाल में बरामद ₹500 के नोट के बंडलों के स्रोत की जाँच करनी चाहिए. जाँच केवल बंगाल सरकार के उपर छोड़ना तर्कसंगत नहीं होगा. झारखंड की राजनीति में और राजनीतिज्ञों में पल रहे भ्रष्टाचार के कैंसर का ऑपरेशन ज़रूरी है. @narendramodi

— Saryu Roy (@roysaryu) July 30, 2022

झारखंड के पूर्व मंत्री और निर्दलीय विधायक सरयू राय ने इस संबंध में कहा कि झारखंड प्रदेश कांग्रेस और अखिल भारतीय कांग्रेस के पदाधिकारियों को स्पष्टीकरण देना चाहिए कि उनके विधायक पैसे लेकर झारखंड आ रहे थे या झारखंड से जा रहे थे? पूछा कि  पैसे का स्रोत स्थल कहां है-असम, बंगाल या झारखंड?

सरयू राय ने ट्वीट कर कहा- आयकर विभाग और ईडी झारखंड के तीन विधायकों से बंगाल में बरामद 500 के नोट के बंडलों के स्रोत की जांच करे. कहा कि जांच केवल बंगाल सरकार पर छोड़ना तर्कसंगत नहीं होगा. झारखंड की राजनीति में और राजनीतिज्ञों में पल रहे भ्रष्टाचार के कैंसर का ऑपरेशन जरूरी है.

निशिकांत दुबे ने  CBI  जांच की मांग की 

भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष और राज्यसभा सांसद दीपक प्रकाश ने कांग्रेसी विधायकों के कैश के साथ बंगाल में पकड़े जाने पर तंज कसा, झारखंड के पैसे… जनता के पैसे…, बंगाल में पूंजी निवेश!  सांसद निशिकांत दुबे ने इस मामले में CBI  जांच की मांग की है

 

झारखंड कॉंग्रेस @INCIndia के तीन विधायकों के पास भारी मात्रा में कैश पकड़ाने की जॉंच CBI @dir_ed @IncomeTaxIndia को अपने हाथों में लेना चाहिए,मेरी जानकारी के अनुसार वर्तमान झारखंड सरकार ने कॉंग्रेस तोड़ने की साज़िश रची,यह पैसा झारखंड में टेंडर मैनेज करने का है ।भ्रष्टाचार

— Dr Nishikant Dubey (@nishikant_dubey) July 31, 2022

 

गंभीर बात है कि विधायकों को हिरासत में लिया गया:  सेठ

रांची के भाजपा सांसद संजय सेठ ने कहा कि झारखंड के कांग्रेसी विधायकों की गाड़ी से पश्चिम बंगाल में भारी मात्रा में कैश की बरामदगी, राज्य सरकार पर सवाल खड़ा करती है. उन्होंने कहा कि गंभीर बात यह है कि विधायकों को हिरासत में भी लिया गया है. राज्य सरकार को जनता को यह जवाब देना चाहिए कि यह पैसे किसके है? कहीं ईडी का डर तो नहीं?

राजेश ठाकुर ने कहा, कांग्रेस विधायकों से बात करेंगे

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने इसे दुःखद और निंदनीय करार देते हुए कहा, जिस तरह से हाल के दिनों में असम गैर भाजपा शासित राज्यों को अस्थिर करने का केंद्र बिन्दु बना है, वह बात सबके सामने आ गयी है. उन्होंने कहा कि कुछ न कुछ बात थी, अभी उनकी पकड़े गये कांग्रेस विधायकों से बात नहीं हुई है, पार्टी इस पर निर्णय लेगी.

आप डेली हंट ऐप के जरिए भी हमारी खबरें पढ़ सकते हैं। इसके लिए डेलीहंट एप पर जाएं और lagatar.in को फॉलो करें। डेलीहंट ऐप पे हमें फॉलो करने के लिए क्लिक करें।

%d bloggers like this: