Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

मोदी से प्रेरणा लेकर संजय सेठ ने रांची में शुरू किया नमो टॉय बैंक

मोदी से प्रेरणा लेकर संजय सेठ ने रांची में शुरू किया नमो टॉय बैंक

Ranchi : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से प्रेरणा लेकर सांसद संजय सेठ ने रांची में नमो टॉय बैंक शुरू किया है. शनिवार को रांची में संजय सेठ ने अपने केंद्रीय कार्यालय में पत्रकार वार्ता आयोजित की. टॉय बैंक की स्थापना को लेकर आयोजित इस पत्रकार वार्ता में उन्होंने कहा कि अभी एक सप्ताह पूर्व नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मिलना हुआ. मैंने उन्हें रांची में मेरे द्वारा स्थापित किए गए बुक बैंक की जानकारी दी. बुक बैंक की जानकारी पाकर प्रधानमंत्री ने इसकी सराहना की. इसके साथ ही उन्होंने मुझे गुजरात में उनके खुद के द्वारा स्थापित किए गए टॉय बैंक के विषय में बताया. साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि इसी तरह का एक टॉय बैंक रांची में भी स्थापित होना चाहिए, जहां से जरूरतमंद बच्चों को खिलौने दिए जा सकें.

इसे भी पढ़ें-देवघर एयरपोर्ट पर पहली कमर्शियल फ्लाइट से पहुंचे फिल्म अभिनेता रवि किशन व निरहुआ

समाज में कई ऐसे बच्चे हैं, जो खिलौनों से खेल नहीं पाते

उन्होंने कहा कि आज हमारे समाज में कई ऐसे बच्चे हैं, जो खिलौनों से खेल नहीं पाते. मूल रूप से यह समस्या अर्थ के अभाव में होती है. दूसरा पक्ष यह है कि कई घरों में खिलौने बेकार पड़े रहते हैं, तो इन दोनों ही परिवार के बच्चों के बीच समन्वय बनाने का काम इस टॉय बैंक के माध्यम से किया जाएगा.

लगातार को पढ़ने और बेहतर अनुभव के लिए डाउनलोड करें एंड्रॉयड ऐप। ऐप डाउनलोड करने के लिए क्लिक करे

आज से टॉय बैंक विधिवत रूप से चालू

सेठ ने कहा कि प्रधानमंत्री के निर्देश पर उनसे यह कहा कि यह कार्य रांची में अवश्य होगा. बहुत जल्द मैं रांची में टॉय बैंक की स्थापना करूंगा और आज से टॉय बैंक विधिवत रूप से चालू हो जाएगा, जहां समाज से जुड़े लोग, संस्थाएं और ऐसे परिवार से भी जुड़े लोग, जिनके घरों में पड़े खिलौने उनके बच्चों के लिए बेकार हो गये हैं, वे अपने खिलौने यहां जमा करें. फिर इसके वितरण की योजना भी हमने बनाई है. यहां आए खिलौनों को प्राथमिकता के आधार पर सबसे पहले आंगनबाड़ी केंद्र को उपलब्ध कराया जाएगा और उसके बाद फिर ऐसे दूसरे अनाथ आश्रम में, अब बाल सुधार आश्रम या इस तरह से बच्चों से जुड़े जो स्थानीय संस्थान हैं, जहां खिलौने उपलब्ध नहीं हो पाते, जिन्हें किसी प्रकार की सरकारी सहायता खिलौनों के लिए नहीं मिल पाती, उन क्षेत्रों में हम खिलौना उपलब्ध कराने का काम करेंगे. इसके लिए हमारी पूरी टीम बेहतर तरीके से काम कर रही है.

इसे भी पढ़ें- बरकाकाना स्टेशन पर नॉन इंटरलॉकिंग कार्य, 15,16 और 17 अगस्त को परिवर्तित मार्ग से चलेंगी स्वर्ण जयंती व गरीब रथ

आप डेली हंट ऐप के जरिए भी हमारी खबरें पढ़ सकते हैं। इसके लिए डेलीहंट एप पर जाएं और lagatar.in को फॉलो करें। डेलीहंट ऐप पे हमें फॉलो करने के लिए क्लिक करें।

%d bloggers like this: