Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

Noida School Fees: नोएडा में बढ़ी स्कूलों की फीस, 10 फीसदी वृद्धि का सर्कुलर जारी, देखिए आपके स्कूल की कितनी हुई फीस?

Noida School Fees: नोएडा में बढ़ी स्कूलों की फीस, 10 फीसदी वृद्धि का सर्कुलर जारी, देखिए आपके स्कूल की कितनी हुई फीस?

नोएडा: कोरोना के साथ महंगाई की मार झेल रही अभिभावकों को बढ़े स्कूल फीस ने परेशान कर दिया है। अप्रैल में 15-25 प्रतिशत तक ट्रांसपोर्ट चार्ज बढ़ाने के बाद अब कई स्कूलों ने फीस का बढ़ा हुआ सर्कुलर अभिभावकों को भेजना शुरू कर दिया है। गर्मी की छुट्टियां खत्म हो रही हैं। बच्चों को स्कूल भेजने के साथ फीस जमा करने की तैयारी कर रहे पैरंट्स की जेब पर बोझ बढ़ना तय है। पैरंट्स ने इसका विरोध भी शुरू कर दिया है। विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लगने से 10 दिन पहले शासन स्तर से यह आदेश जारी किया गया था कि 2022-23 में वही फीस लागू होगी जो कि पिछले दो साल से चल रही है। इस आदेश से अभिभावकों ने राहत महसूस की थी।

चुनाव खत्म होने और दोबारा से योगी सरकार बनने के 15 दिन बाद ही नया आदेश शासन स्तर से जारी हो गया कि पब्लिक स्कूलों पर फीस बढ़ाने के लिए लगाई गई रोक हटा ली गई है। इसी का फायदा उठाते हुए स्कूल जुलाई से फीस में बढ़ोतरी की तैयारी कर रहे हैं। जुलाई में अभिभावकों को फिर से स्कूल फीस जमा करनी है। महंगाई के इस दौर में अभिभावकों पर अचानक बोझ बढ़ेगा। इससे पहले अप्रैल में 15 से लेकर 32 प्रतिशत तक ट्रांसपोर्ट चार्ज स्कूलों ने बढ़ाया था। अब ज्यादातर स्कूलों ने 7 से 9 प्रतिशत तक स्कूल फीस बढ़ा दी है, जो कि जुलाई से स्कूल खुलने के दौरान पैरंट्स के लिए बहुत बड़ा झटका है।

वहीं, फीस रेगुलेटरी एक्ट को सही तरीके से जिले में लागू कराया जा सके और स्कूल नियंत्रण में रहकर फीस बढ़ाएं इसके लिए फीस रेगुलेटरी कमिटी जिला प्रशासन के स्तर पर बनी हुई है जो कि निष्क्रिय नजर आ रही है। एक्ट के मुताबिक, स्कूल अपना आय-व्यय का लेखा जोखा दिखाने के बाद ही जिला प्रशासन से अनुमति लेकर अपने नफे नुकसान के अनुसार ही फीस बढ़ा सकता है। इधर स्थिति यह है कि जिला प्रशासन को इस बात की खबर तक नहीं है कि किन किन स्कूलों ने फीस बढ़ा दी है और कितनी बढ़ाई है।

जुलाई से बढ़ा दी फीस
कैंब्रिज स्कूल की प्रिंसिपल नंदिता ने बताया कि हमारे यहां जुलाई से फीस बढ़ा दी गई है। सभी पैरंट्स को इसका सर्कुलर भेजा जा रहा है। वेबसाइट पर डिटेल उपलब्ध करा दी गई है। समरविले स्कूल का भी यही कहना है कि उन्होंने बढ़ी फीस का सर्कुलर पैरंट्स को भेज दिया है। एमिटी स्कूल की प्रिंसिपल रेनु सिंह ने बताया कि अभी हमने फीस नहीं बढ़ाई है मैनेजमेंट के स्तर पर इसके लिए बातचीत चल रही है। अभी कुछ फैसला नहीं हुआ है। इंडस वैली स्कूल की प्रिंसिपल शिखा शर्मा ने बताया कि यह तो मैनेजमेंट के स्तर का फैसला है। अभी हमारे यहां फीस नहीं बढ़ाई गई है।

क्या कहते हैं पैरंट्स व असोसिएशन
पैरंट्स असोसिएशन के पदाधिकारी मनोज कटारिया का कहना है कि शासन ने पैरंट्स के साथ धोखा किया है और उसी का स्कूल फायदा उठा रहे हैं। शासन ने चुनाव से पहले फीस पर रोक का आदेश दिया था और चुनाव बाद रोक को हटा लिया गया। हमें जिला प्रशासन के सामने यह रखेंगे कि जुलाई से फीस बढ़ाने का क्या तुक है। फीस बढ़ानी ही है तो अगले साल बढ़ाई जानी चाहिए। पैरंट्स विशाल सिंह का कहना है कि कोरोना के दौरान एक तो वैसे ही लोगों की नौकरी, काम धंधे चौपट हो गए। तमाम पैरंट्स को बच्चों के स्कूल बदलने पड़ गए। इसके बाद स्कूलों ने फीस बढ़ा दी है।

7 से 10 प्रतिशत तक बढ़ाई स्कूलों ने फीस

स्कूल पहले (रुपये में)अब (रुपये में)समरविल स्कूल :11,18012,000 (क्लास-1) मंथली कंपोजिट फीसरामाज्ञा स्कूल नोएडा :960510,515 (मंथली कंपोजिट फीस प्रतिमाह 9.47 पर्सेंट बढ़ी)कैंब्रिज स्कूल नोएडा62706640 ( मंथली कंपोजिट फीस 5.90 पर्सेंट बढ़ी)लोटस वैली इंटरनैशनल स्कूल 1377014,270 (मंथली फीस 3.63 पर्सेंट बढ़ी)खेतान स्कूल नोएडा2897031,800 (तीन माह कंपोजिट फीस, 9.95 पर्सेंट बढ़ी)

%d bloggers like this: