Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

उपमुख्यमंत्री ने ‘‘ग्रीन केजीएमयू, क्लीन केजीएमयू’’ हस्ताक्षर अभियान का शुभारंभ स्वयं हस्ताक्षर करके किया

उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री श्री ब्रजेश पाठक आज केजीएमयू में रेडियो के.जी.एम.यू. गूंज 89.6 मेगा हर्ट्ज के 100 दिन पूरे होने पर के.जी.एम.यू. गूंज के द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए। उन्होंने के.जी.एम.यू. गूंज की सराहना करते हुए कहा कि के.जी.एम.यू. नाम बहुत पुराना है चिकित्सा जगत की पूरी दुनिया में और समय समय पर ईश्वर का आर्शीवाद भी चिकित्सा विश्वविद्यालय को मिलता रहता है। भारत का कोई भी चिकित्सा संस्थान ऐसा नहीं कर पाया जो आज के.जी.एम.यू. ने डॉ विनोद जैन के प्रयासों द्वारा करके दिखाया है। साथ ही कहा कि जब हम चिकित्सा क्षेत्र के जुड़ने का प्रण करते है तो हमारे ऊपर हमारी सामाजिक, नैतिक व नैसर्गिक जिम्मेदारी होती है उन जिम्मेदाारियों का निर्वहन कैसे करें इस प्रकार का एक कार्यक्रम का आयोजन करें और इसका प्रसारण करें इससे नये चिकित्सकों व मरीजों को अत्यधिक लाभ पहुंचेगा। मरीजों की तकलीफ का दूर करने के लिए उन्होनें कहा कि एक ऐसे प्रस्तावित कार्यक्रम का प्रसारण होना चाहिए जिससे उन्हें अस्पताल परिसर में आने पर क्या-क्या करना चाहिए अस्पताल परिसर में घुसते ही उसका स्वागत हो, उसका पर्चा कहां बनेगा, डाक्टर कहां मिलेगें आदि जानकारी मिल सके जिससे मरीज को अस्पताल में घर जैसा महसूस हो सके और ये प्रसारण रेडियो के.जी.एम.यू. गूंज के माध्यम से होना चाहिए कि पंजीकरण कैसे होगा आनलाइन या फोन से। फोन न लगे तो एक चिट्ठी डालने हेतु सुझाव दिया। मुख्य अतिथि ने के.जी.एम.यू. गूंज के साथ ही हर स्थिति में खड़े रहने का आष्वासन दिया। साथ ही इस कार्यक्रम के दौरान ‘‘ग्रीन केजीएमयू, क्लीन केजीएमयू’’ हस्ताक्षर अभियान का शुभारंभ स्वयं हस्ताक्षर करके किया।
उप मुख्यमंत्री माननीय ब्रजेष पाठक जी ने अल्प समय में रेडियो के.जी.एम.यू. गूंज की अनेकों उपलब्धियों एवं इसके द्वारा जनमानस को प्रदान की जाने वाली विभिन्न सेवाओं के लिये ले0 ज0 (डॉ0) बिपिन पुरी, डा0 विनोद जैन एवं के.जी.एम.यू. गूंज की समस्त टीम को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनायें दी। यह आशा की, कि रेडियो के.जी.एम.यू. गूंज इसी लगन और मेहनत के साथ आगे भी निरन्तर प्रगति करता रहेगा।

किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय के कुलपति ले. ज.(डॉ) बिपिन पुरी ने ने बताया कि चिकित्सा विश्वविद्यालय के इतिहास में यह एक ऐतिहासिक दिन है और बताया 3 साल पहले के.जी.एम.यू. में कम्युनिटी रेडियो स्टेशन खोलने हेतु पत्र भेजा गया था। तीन साल के बाद 24.01.2022 को सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के सहयोग से लाइसेंस प्राप्त हुआ और 05.02.2022 को रेडियो के.जी.एम.यू. गूंज 89.6 मेगा हर्ट्ज को प्रसारण पर आ गये। रेडियो के.जी.एम.यू. गूंज 89.6 के बारे में बताते हुए उन्होंने कहा कि यह चिकित्सा क्षेत्र का पहला कम्युनिटी रेडियो स्टेशन है और के.जी.एम.यू. गूंज एप के माध्यम से पूरी दुनिया से जुड़ सकते हैं यह चिकित्सा शिक्षा के क्षेत्र में क्रांति लाएगा। साथ ही यह भी बताया कि कोविड कार्यकाल से हमें यह पता चला कि जनमानस से जुड़ने का एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म बहुत अच्छा माध्यम है तथा रेडियो के.जी.एम.यू. गूंज 89.6 व इसके ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के माध्यम से हम ज्यादा से ज्यादा लोगों तक अपनी सुविधाओं के बारे में बता सकते है।

के.जी.एम.यू. गूंज 89.6 मेगा हटर््ज के अधिषासी अधिकारी प्रो0 विनोद जैन ने के.जी.एम.यू. गूंज के 100 दिन पूरे होने पर विस्तृत जानकारी देते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश में किंग जॉर्ज चिकित्सा विश्वविद्यालय का रेडियो के.जी.एम.यू. गूंज 89.6 डभ््र भारत के किसी भी चिकित्सा संस्थान द्वारा स्थापित पहला रेडियो स्टेशन है।
इस रेडियो स्टेशन की स्थापना का मुख्य उद्देश्य चिकित्सा विशेषज्ञों द्वारा जनमानस को स्वास्थ्य, योग, ध्यान, स्वस्थ जीवन शैली खान-पान, रहन-सहन, व्यायाम, कृषि आदि विषय पर रोचक तरीके से प्रामाणिक जानकारी उपलब्ध कराना है। इसके अतिरिक्त रेडियो द्वारा अन्य विषयों जैसे दुर्घटना से बचाव, कैंसर की रोकथाम, कुपोषण, पर्यावरण की सुरक्षा, महिला सशक्तीकरण, जनसंख्या नियंत्रण, देशभक्ति, सरकारी योजनाओं इत्यादि अन्य विषय पर भी निरन्तर कार्यक्रम प्रसारित किये जाते हैं।
युवा पीढ़ी को प्रेरित करने के लिये हम सफल एवं प्रतिष्ठित व्यक्तियों की जीवन शैली ”कुछ पद चिन्ह बनाते हैं“ शीर्षक कार्यक्रम से प्रसारित करते हैं। अबतक इस कार्यक्रम के अन्तर्गत उत्तर प्रदेश की माननीय राज्यपाल, श्री आनन्दी बेन पटेल जी के साथ-साथ विभिन्न विभूतियों का भी साक्षात्कार प्रसारित किया जा चुका है।

इस समारोह में मुख्य रुप में प्रति कुलपति, अधिष्ठाता, एकेडमिक्स, कुलसचिव, वित्त अधिकारी, वित्त लेखाधिकारी, पद्म श्री एस. एस. सरकार, अधिष्ठाता, पैरामेडिकल विज्ञान संकाय, चिकित्सा विश्वविद्यालय के अनेकों चिकित्सक, छात्र/छात्राएं व के.जी.एम.यू. गूंज की पूरी टीम आदि समेत पैरामेडिकल के शिक्षक भी उपस्थित रहे।

%d bloggers like this: