Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

फौजी का दर्द : हम देश की सेवा करते हैं, घर में परिवार सुरक्षित नहीं

फौजी का दर्द : हम देश की सेवा करते हैं, घर में परिवार सुरक्षित नहीं

सार
धनौरा क्षेत्र के एक गांव निवासी इस फौजी ने मंत्री से अपना दर्द बयां किया। फौजी से पूरी घटना सुनकर कैबिनेट मंत्री ने तुरंत एएसपी चंद्रप्रकाश शुक्ला को तलब किया। उन्होंने एएसपी से घटना को लेकर गहरी नाराजगी जताई।

ख़बर सुनें

ख़बर सुनें

जिला अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष व जल शक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह के सामने एक फौजी का दर्द छलक पड़ा। फौजी ने कहा, हम देश की सेवा करते हैं लेकिन घर में हमारा परिवार सुरक्षित नहीं है। फौजी ने बुजुर्ग मां और गर्भवती पत्नी के साथ मारपीट व छेड़खानी का आरोप लगाया। पिटाई के बाद गर्भवती पत्नी इमरजेंसी में भर्ती है। इसके बावजूद पुलिस ने मामले में कार्रवाई नहीं की।

स्वतंत्र देव शुक्रवार को जनपद के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे थे। दोपहर करीब तीन बजे स्वतंत्र देव सिंह जिला अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे। यहां स्वास्थ्य सेवाओं का हाल जाना। वह वार्ड में भर्ती मरीजों से स्वास्थ्य सेवाओं की बाबत जानकारी हासिल कर रहे थे। तभी वर्दी पहनेे एक फौजी ने जय हिंद कहकर अभिवादन किया तो कैबिनेट मंत्री के कदम रुक गए।

धनौरा क्षेत्र के एक गांव निवासी इस फौजी ने मंत्री से अपना दर्द बयां किया। फौजी से पूरी घटना सुनकर कैबिनेट मंत्री ने तुरंत एएसपी चंद्रप्रकाश शुक्ला को तलब किया। उन्होंने एएसपी से घटना को लेकर गहरी नाराजगी जताई। साथ ही दो घंटे के भीतर कार्रवाई कर रिपोर्ट देने के  निर्देश दिए। 

फौजी की आठ माह की गर्भवती पत्नी से की मारपीट
फौजी ने कहा कि दो दिन पहले गांव में रहने वाले दबंगों ने आठ महीने की गर्भवती पत्नी के साथ मारपीट की। विरोध पर छेड़खानी की। घर में मौजूद बुजुर्ग मां बचाव में आई तो उन्हें भी मारा-पीटा और घायल कर दिया। आरोपियों ने गर्भवती पत्नी और मां के पेट में लात-घूंसे मारे।

बुजुर्ग मां थाने गई तो पुलिस ने तहरीर ही बदल दी
बुजुर्ग मां तहरीर लेकर थाने पहुंची तो पुलिस ने तहरीर ही बदल डाली। पूरा घटनाक्रम बदलकर मारपीट की धाराओं में केस दर्ज कर लिया। आरोपी खुलेमाम घूम रहे हैं।

विस्तार

जिला अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे भाजपा प्रदेश अध्यक्ष व जल शक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह के सामने एक फौजी का दर्द छलक पड़ा। फौजी ने कहा, हम देश की सेवा करते हैं लेकिन घर में हमारा परिवार सुरक्षित नहीं है। फौजी ने बुजुर्ग मां और गर्भवती पत्नी के साथ मारपीट व छेड़खानी का आरोप लगाया। पिटाई के बाद गर्भवती पत्नी इमरजेंसी में भर्ती है। इसके बावजूद पुलिस ने मामले में कार्रवाई नहीं की।

स्वतंत्र देव शुक्रवार को जनपद के दो दिवसीय दौरे पर पहुंचे थे। दोपहर करीब तीन बजे स्वतंत्र देव सिंह जिला अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे। यहां स्वास्थ्य सेवाओं का हाल जाना। वह वार्ड में भर्ती मरीजों से स्वास्थ्य सेवाओं की बाबत जानकारी हासिल कर रहे थे। तभी वर्दी पहनेे एक फौजी ने जय हिंद कहकर अभिवादन किया तो कैबिनेट मंत्री के कदम रुक गए।

धनौरा क्षेत्र के एक गांव निवासी इस फौजी ने मंत्री से अपना दर्द बयां किया। फौजी से पूरी घटना सुनकर कैबिनेट मंत्री ने तुरंत एएसपी चंद्रप्रकाश शुक्ला को तलब किया। उन्होंने एएसपी से घटना को लेकर गहरी नाराजगी जताई। साथ ही दो घंटे के भीतर कार्रवाई कर रिपोर्ट देने के  निर्देश दिए। 

फौजी की आठ माह की गर्भवती पत्नी से की मारपीट

फौजी ने कहा कि दो दिन पहले गांव में रहने वाले दबंगों ने आठ महीने की गर्भवती पत्नी के साथ मारपीट की। विरोध पर छेड़खानी की। घर में मौजूद बुजुर्ग मां बचाव में आई तो उन्हें भी मारा-पीटा और घायल कर दिया। आरोपियों ने गर्भवती पत्नी और मां के पेट में लात-घूंसे मारे।

बुजुर्ग मां थाने गई तो पुलिस ने तहरीर ही बदल दी

बुजुर्ग मां तहरीर लेकर थाने पहुंची तो पुलिस ने तहरीर ही बदल डाली। पूरा घटनाक्रम बदलकर मारपीट की धाराओं में केस दर्ज कर लिया। आरोपी खुलेमाम घूम रहे हैं।

%d bloggers like this: