Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

Editorial:देशविरोधी खालिस्तानियों के मंसूबों पर नकेल कसना आवश्यक

14-5-2022

हरियाणा की भाजपा सरकार ने ऐलान किया है कि वो अब प्रदेश की सुरक्षा व्यवस्था को और मजबूत करेंगे. इसके लिए हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने कई कदम उठाने का ऐलान किया. इसमें सबसे महत्वपूर्ण है आतंकवाद निरोधी दस्ता बनाने का ऐलान. प्रदेश के गृह मंत्री अनिल विज ने कहा है कि ्रञ्जस् में डीआईजी और एसपी रैंक के अधिकारियों की नियुक्ति होगी. ये अधिकारी ही इस दस्ते का संचालन करेंगे.

हरियाणा सरकार के इस कदम के मायने समझने के लिए आपको पंजाब में हुए हालिया सत्ता परिवर्तन को समझना पड़ेगा. पंजाब में अब तक कांग्रेस की सरकार थी. अंत के कुछ महीने अगर छोड़ दें तो बाकी वक्त वहां कैप्टन अमरिंदर सिंह मुख्यमंत्री थे. अमरिंदर सिंह के मुख्यमंत्री रहते हुए खालिस्तानियों का वहां पनपना मुश्किल था.

विधानसभा चुनावों में सत्ता परिवर्तन हुआ. आम आदमी पार्टी की सरकार बनी. भगवंत मान पंजाब के मुख्यमंत्री बने. चुनावों के दौरान आम आदमी पार्टी पर लगातार ऐसे आरोप लगे कि वो खालिस्तानियों का परदे के पीछे से समर्थन करते हैं. आम आदमी पार्टी के पूर्व नेता और कवि डॉ. कुमार विश्वास ने दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल पर कई आरोप लगाए थे.

डॉ. कुमार विश्वास के आरोप बड़े गंभीर थे. डॉ. कुमार विश्वास ने कहा था कि पंजाब में अगर आदमी पार्टी आती है तो खालिस्तानी आतंकियों को बढ़ावा मिलेगा. पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार बन गई और जो बात डॉ. कुमार विश्वास कह रहे थे- वही हुआ. पंजाब में आम आदमी पार्टी की सरकार बनने के बाद खालिस्तानी आतंकियों ने देश में अपनी गतिविधियां बढ़ा दी हैं.

एक बात साफ तौर पर कही जा सकती है कि आम आदमी पार्टी की सरकार बनने के बाद खालिस्तानी आतंकियों ने अपनी गतिविधियां बढ़ा दी हैं. पंजाब से निकलकर हरियाणा और हिमाचल तक खालिस्तानी अपनी वारदातों को अंजाम दे रहे हैं. ऐसे में हरियाणा सरकार का ्रञ्जस् बनाने का निर्णय बहुत महत्वपूर्ण है.

दरअसल, हरियाणा दिल्ली और पंजाब के बीच का रास्ता है. पंजाब से अलग होकर ही हरियाणा अलग राज बना है. ऐसे में इसकी संभावना बढ़ जाती है कि खालिस्तानी आने वाले वक्त में हरियाणा और हरियाणा से आगे बढ़कर दिल्ली तक अपने पैर फैलाए.

पंजाब सरकार पर खालिस्तानियों के प्रति ‘सॉफ्ट-कॉर्नरÓ रखने का आरोप लगता रहा है.  ऐसे में अब अगर खालिस्तानी पंजाब से आगे बढऩे की कोशिश करेंगे तो हरियाणा ्रञ्जस् उनसे निपटने के लिए तैयार रहेगी.

%d bloggers like this: