Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

अवशेष गन्ना मूल्य भुगतान को प्राथमिकता पर पूर्ण करने के गन्ना मंत्री ने दिये निर्देश

प्रदेश के गन्ना किसानों को त्वरित गन्ना मूल्य का भुगतान कराना सहकारी एवं निगम क्षेत्र की चीनी मिलों की सर्वोच्च प्राथमिकता है, इसी क्रम में आज सहकारी चीनी मिल संघ मुख्यालय पर प्रदेश के मा.गन्ना मंत्री श्री लक्ष्मी नारायण चौधरी की अध्यक्षता में समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया। समीक्षा बैठक में अपर मुख्य सचिव, चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास विभाग, संजय आर.भूसरेड्डी, प्रबन्ध निदेशक, सहकारी चीनी मिल संघ, रमाकान्त पाण्डेय, विशेष सचिव, चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास, उत्तर प्रदेश, शासन, शिव सहाय अवस्थी एवं प्रदेश की सभी सहकारी एवं निगम क्षेत्र की चीनी मिलों के प्रधान प्रबन्धक एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी उपस्थित रहे।
समीक्षा बैठक के आरम्भ में अपर मुख्य सचिव, चीनी उद्योग एवं गन्ना विकास द्वारा मा.गन्ना मंत्री का पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया गया। प्रबन्ध निदेशक, चीनी मिल संघ एवं राज्य चीनी निगम द्वारा सहकारी चीनी मिलों की कार्यप्रणाली, गन्ना मूल्य भुगतान, पेराई सत्र 2021-22 में प्राप्त तकनीकी परिणाम एवं गन्ना पेराई आदि बिन्दुओं पर गत् सत्र के सापेक्ष तुलनात्मक विवरण प्रस्तुत किया गया। बैठक में अपर मुख्य सचिव द्वारा मा.गन्ना मंत्री को अवगत कराया गया कि वर्ष 2017 के पश्चात सहकारी मिलों के हित में विभिन्न कदम उठाये गये जिससे मिलों की कार्यक्षमता में व्यापक सुधार हुआ है, परन्तु कोविड, शुगर एक्सपोर्ट, पुरानी तकनीक आदि ने सहकारी चीनी मिलों में सुधार की गति पर  प्रतिकूल प्रभाव डाला है। प्रबन्ध निदेशक, सहकारी चीनी मिल संघ द्वारा भी सहकारी चीनी मिलों की विशिष्ट समस्याओं यथा पुरानी तकनीक, कम गन्ना पेराई क्षमता, अधिक उत्पादन लागत, चीनी स्टाक, कर्मकारों की कमी आदि विभिन्न पहलुओं से मा.गन्ना मंत्री को अवगत कराया।

मा.गन्ना मंत्री ने बैठक में उपस्थित वरिष्ठ अधिकारियों एवं चीनी मिलों के प्रधान प्रबन्धकों को सम्बोधित करते हुए कहा कि सहकारी एवं निगम क्षेत्र की चीनी मिलों को अवशेष गन्ना मूल्य के भुगतान को प्राथमिकता पर पूर्ण करें। उन्होने कहा कि चीनी मिलों की मरम्मत एवं रखरखाव का कार्य उत्कृष्ट गुणवत्ता एवं मानकों के आधार पर किया जाये साथ ही अधिकारी एवं कार्मिकों को टीम भावना से कार्य करते हुए चीनी मिलों की आर्थिक स्थिति को भी मजबूती प्रदान करनी चाहिए। मा. मंत्री ने चीनी मिलों के प्रधान प्रबन्धकों को कहा कि वह अधीनस्थ कार्मिकों को बेहतर नेतृत्व प्रदान करते हुए गन्ना किसानों के हित में लक्ष्य निर्धारित कर कार्य करें एवं आवश्यकता पड़ने पर कुशल कार्मिकों एवं अधिकारियों की कमी को पूर्ण करने के लिए बेहतर विकल्प तलाशें।
समीक्षा बैठक के अन्त में अपर मुख्य सचिव द्वारा मा. मंत्री को भविष्य की कार्ययोजना एवं चीनी विपणन हेतु अपनाये जाने वाली योजना से अवगत कराया। प्रबन्ध निदेशक, चीनी मिल संघ द्वारा बैठक में समय प्रदान करने हेतु मा.मंत्री एवं अपर मुख्य सचिव का आभार व्यक्त किया गया।  

%d bloggers like this: