Lok Shakti.in

Nationalism Always Empower People

विश्व की सर्वश्रेष्ठ तकनीकी का प्रयोग करते हुये सड़कों के निर्माण कराया जाय

उत्तर प्रदेश के लोक निर्माण विभाग मंत्री तथा उत्तर प्रदेश राज्य सड़क निधि प्रबंधन समिति के अध्यक्ष श्री जितिन प्रसाद की अध्यक्षता में आज यहां लोक निर्माण विभाग मुख्यालय स्थित सभागार में उत्तर प्रदेश राज्य सड़क निधि प्रबंधन समिति की बैठक आयोजित की गई। श्री जितिन प्रसाद ने बैठक में राज्य सड़क निधि प्रबन्धन समिति के सदस्यों के सुझावों को प्राप्त करने के उपरान्त विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिया कि विश्व की सर्वश्रेष्ठ तकनीक का प्रयोग करते हुये सड़कों का निर्माण कराया जाय। उन्होने कहा कि सड़कों का निर्माण गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखते हुये निर्धारित समय-सीमा में मानकों का शत-प्रतिशत पालन करते हुये कराया जाय। निर्माण कार्यों की गुणवत्ता में किसी प्रकार का समझौता नहीं किया जायेगा। सड़कों की गुणवत्ता की जॉच हेतु मुख्यालय स्तर पर गठित टीम द्वारा निर्माणाधीन सड़कों का औचक निरीक्षण कराया जाय तथा गुणवत्ता में कमी पाये जाने पर सम्बन्धित के विरूद्ध कठोर कार्यवाही भी की जाय।
श्री जितिन प्रसाद ने निर्देश दिया कि शहरी सड़कों पर एक छोर से दूसरे छोर तक पटरियों का निर्माण कराया जाय। उन्होने बैठक में माननीय सदस्यगणों द्वारा ओवरलोडिंग की वजह से सड़कों के क्षतिग्रस्त होने की समस्या उठाये जाने पर खनन विभाग तथा परिवहन विभाग के उपस्थित अधिकारियों को निर्देशित करते हुये कहा कि ओवरलोडिंग पर तत्काल रोक लगायी जाय। सड़कों के निर्माण के दौरान डेªनेज व्यवस्था का विशेष ध्यान रखा जाय।
बैठक में राज्य मंत्री लोक निर्माण विभाग श्री बृजेश सिंह, श्री नीरज शेखर राज्य सभा सांसद, श्री अनुराग शर्मा सांसद झासी (ऑनलाइन), श्री मानवेन्द्र सिंह विधायक ददरौल, श्री मनीष जायसवाल विधायक पडरौना, श्री राजेश कुमार अग्रहरि जिला पंचायत अध्यक्ष अमेठी, प्रमुख सचिव, लोक निर्माण विभाग श्री नरेन्द्र भूषण, सचिव औद्योगिक विकास विभाग, विशेष सचिव वित्त विभाग, परिवहन आयुक्त (ऑनलाईन) उ0प्र0, संयुक्त निदेशक पर्यटन विभाग(ऑनलाईन), अध्यक्ष, राज्य ट्रक एसोसिएशन कानपुर, क्षेत्रीय प्रबन्धक ओरिएन्टल इन्स्योरेन्स कम्पनी लखनऊ, यू०पी० चौप्टर सी0आइ0ए0 के प्रतिनिधि, निदेशक कोआर्डिनेटर रोड सेफ्टी सेन्टर (ऑनलाइन), प्रमुख अभियन्ता (विकास) एवं विभागाध्यक्ष लो०नि०वि, प्रमुख अभियन्ता (ग्रामीण सड़क) तथा प्रमुख अभियन्ता (परिकल्प एवं नियोजन) सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

%d bloggers like this: